Search
  1. Home
  2. भारतीय राजव्यवस्था
View in English

भारतीय राजव्यवस्था

  • जाने राष्ट्रगान बजाने और गाने से संबंधित नियम क्या हैं?

    सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में सिनेमा हॉल में फिल्मों की दिखाने से पहले राष्ट्रगान बजाना और सभी को उसके सम्मान में खड़े होना अनिवार्य कर दिया है| इस संबंध में फैसला सुनाते हुए न्यायाधीश दीपक मिश्रा ने कहा कि “लोगों को महसूस करना चाहिए कि वे एक राष्ट्र में रहते हैं और उन्हें राष्ट्रगान और राष्ट्रीय ध्वज के प्रति सम्मान दिखाना चाहिए|”

    Dec 2, 2016
  • राष्ट्रीय आपातकाल और राष्ट्रपति शासन के बीच अंतर

    भारतीय संविधान के भाग XVIII में अनुच्छेद 352 से 360 तक में आपातकालीन उपबंधों का उल्लेख किया गया है| राष्ट्रीय आपातकाल का उल्लेख संविधान के अनुच्छेद 352 में और राष्ट्रपति शासन का उल्लेख अनुच्छेद 356 में किया गया है| राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा केवल तभी की जा सकती है जब देश पर युद्ध, बाहरी आक्रमण या सशस्त्र विद्रोह का खतरा मंडरा रहा हो|

    Nov 30, 2016
  • मंत्रिपरिषद और मंत्रिमंडल में अंतर

    भारत में संसदीय प्रणाली को ब्रिटिश संविधान से लिया गया है| मंत्रिपरिषद, भारतीय राजनीतिक प्रणाली की वास्तविक कार्यकारी संस्था है जिसका नेतृत्व प्रधानमंत्री के हाथों में होता है| हमारे संविधान के अनुच्छेद 74 में मंत्रिपरिषद के गठन के बारे में उल्लेख किया गया है जबकि अनुच्छेद 75 मंत्रियों की नियुक्ति, उनके कार्यकाल, जिम्मेदारी, शपथ, योग्यता और मंत्रियों के वेतन एवं भत्ते से संबंधित है।

    Nov 29, 2016
  • जानिए पुलिस FIR से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य

    हमारे देश में हर कोई पुलिस स्टेशन जाने से बचता है| इसका कारण यह है कि लोगों को पुलिस की कारवाई के तौर-तरीके की जानकारी नहीं होती है| क्या आपने कभी सोचा है कि किसी भी अपराध के छानबीन एवं गुनाहगार तक पहुँचने की प्रक्रिया की शुरुआत आखिर कहाँ से होती है? जी हाँ आपने सही सोचा, इसकी शुरूआत FIR या प्राथमिक सूचना रिपोर्ट से होती है| इस लेख में हमने FIR से संबंधित समस्त जानकारियां देकर लोगों का मार्गदर्शन करने की कोशिश की है|

    Nov 7, 2016
  • क्यों समान नागरिक संहिता भारत के लिए जरुरी है?

    “समान नागरिक संहिता” का उल्लेख हमारे संविधान के “अनुच्छेद 44” में किया गया है जिसके अनुसार राज्य का यह कर्तव्य है कि वह भारत के सभी नागरिकों के लिये एकसमान कानून बनाये| यह भारत के सभी नागरिकों के लिए एकसमान कानूनों का समूह है जिसका लक्ष्य व्यक्तिगत कानूनों (धार्मिक ग्रंथों और रीति-रिवाजों पर आधारित कानून) को प्रतिस्थापित करना है|

    Nov 7, 2016
  • भारतीय सर्वोच्च न्यायालय के बारे में रोचक तथ्य !

    सुप्रीम कोर्ट भारत का शीर्ष अदालत है जो 26 जनवरी, 1950 को अस्तित्व में आया था| इसका मुख्यालय नई दिल्ली में तिलक मार्ग पर स्थित है। यह एक संवैधानिक निकाय है जिसकी व्याख्या भारतीय संविधान के भाग V के अध्याय 4 में अनुच्छेद 124 से 147 के अंतर्गत की गई है | राष्ट्रपति द्वारा उच्चतम न्यायालय में 30 न्यायधीश तथा 1 मुख्य न्यायाधीश की नियुक्ति की जाती है जिनकी सेवानिवृत्ति की आयु 65 वर्ष है| यहाँ हम उच्चतम न्यायालय से संबंधित कुछ रोचक तथ्यों का विवरण दे रहे हैं|

    Oct 28, 2016
  • भारत का वोट डालने वाला प्रथम व्यक्ति

    भारत के सबसे पहले मतदाता ने भारत की आजादी से लेकर 2014 के लोकसभा चुनाव तक हर बार के चुनाव में मतदान किया था| उन्होंने सबसे पहले 25 अक्टूबर 1951 को पहली बार मतदान अपने शहर किन्नौर (हिमाचल प्रदेश) में किया था|

    Oct 21, 2016
  • भारत में विदेशियों को प्राप्त मौलिक अधिकार

    भारतीय संविधान में मौलिक अधिकारों को भाग III में अनुच्छेद 12 से 35 के अंतर्गत रखा गया है| इन अधिकारों को संयुक्त राज्य अमेरिका के संविधान से लिया गया है| ये अधिकार बिना किसी भेदभाव के देश के सभी नागरिकों को प्रदान किये गए हैं| इन अधिकारों के कारण भारतीय संविधान के भाग III को “संविधान का मैग्ना-कार्टा” कहा जाता है|

    Sep 30, 2016
  • मौलिक अधिकारों एवं नीति निर्देशक सिद्धांतों का तुलनात्मक अध्ययन

    मौलिक अधिकार हमें राजनीतिक अधिकार प्रदान करते हैं जो कि व्यक्ति के व्यक्तित्व के विकास के लिए आवश्यक होते हैं जबकि राज्य के नीति निर्देशक सिद्धांतों के माध्यम से हमें सामाजिक और आर्थिक अधिकार प्राप्त होते हैं| इन तत्वों का कार्य एक जन-कल्याणकारी राज्य (welfare state) की स्थापना करना है |

    Sep 30, 2016
  • सरकार की संसदीय व्यवस्था एवं अध्यक्षीय व्यवस्था का तुलनात्मक अध्ययन:

    भारतीय संविधान के अंतर्गत केंद्र और राज्य दोनों स्तरों पर संसदीय प्रणाली पर आधारित शासन की व्यवस्था की गई है| संविधान के अनुच्छेद 74 और 75 के तहत केंद्र में जबकि अनुच्छेद 163 और 164 के तहत राज्यों में संसदीय प्रणाली की व्यवस्था की गई है| भारत में राष्ट्रपति नाममात्र का शासक है जबकि प्रधानमंत्री वास्तविक शासक है।

    Sep 27, 2016
  • लोक सभा एवं राज्य सभा में अंतर

    भारतीय संसदीय प्रणाली में संसद के दो सदन हैं:- लोकसभा जिसे ‘आम जनता का सदन' या संसद के निचले सदन के रूप में जाना जाता है और राज्यसभा जिसे ‘राज्यों का परिषद्’ या संसद के ऊपरी सदन के रूप में जाना जाता है| लोकसभा वास्तविक कार्यकारी है जो प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देश में शासन चलाता है|

    Sep 26, 2016
  • भारत के राष्ट्रपति से संबंधित अनुच्छेदों का संक्षिप्त विवरण

    संविधान के भाग v में वर्णित अनुच्छेद 52 से 78 संघीय कार्यकारिणी से संबंधित है| संघीय कार्यकारिणी के अंतर्गत राष्ट्रपति, उप-राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मंत्रिपरिषद और भारत के अटॉर्नी जनरल आते हैं। राष्ट्रपति भारत का सर्वोच्च अधिकारी होता है। उसे देश का प्रथम नागरिक एवं सभी सशस्त्र बलों का सर्वोच्च सेनापति कहा जाता है। इस लेख में हम राष्ट्रपति से संबंधित अनुच्छेदों का संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत कर रहे हैं|

    Sep 19, 2016
  • साधारण विधेयक एवं धन विधेयक में अंतर

    भारतीय संविधान का अनुच्छेद 110 'धन विधेयक' की परिभाषा से संबंधित है। कोई विधेयक धन विधेयक कहलाता है अगर उसमे "करों के अधिरोपण, उन्मूलन, छूट, परिवर्तन या विनियमन से संबंधित प्रावधान" होते हैं| एक साधारण विधेयक संसद के दोनों सदनों में से किसी में भी पेश किया जा सकता है, जबकि धन विधेयक केवल लोकसभा में ही पेश किया जा सकता है।

    Sep 14, 2016
  • जाने क्यों वकील काले कोट और सफेद बैंड पहनते हैं?

    आप में से अधिकांश व्यक्तियों ने जजों एवं वकीलों को काले कोट और सफेद बैंड लगाये देखा होगा| लेकिन क्या आप जानते हैं कि वकील काले कोट क्यों पहनते हैं और सफेद बैंड क्यों लगाते हैं| कुछ वकीलों को भी इस बात की जानकारी नहीं होगी कि वे काले कोट और सफेद बैंड क्यों पहनते हैं| आइए हम आपको इसके पीछे का कारण बताते हैं|

    Sep 13, 2016
  • भारत के राष्ट्रपति की सूची

    भारतीय संविधान के अनुच्छेद 52 में राष्ट्रपति के पद के बारे में वर्णन किया गया है| भारत के राष्ट्रपति राज्यों के प्रमुख और भारत के प्रथम नागरिक होते हैं| राष्ट्रपति भारतीय सशस्त्र बलों के सर्वोच्च सेनापति भी होते हैं| वर्ष 1950 में राष्ट्रपति पद की शुरूआत के बाद से अब तक भारत में 13 राष्ट्रपति हो चुके हैं| डॉ राजेन्द्र प्रसाद भारत के प्रथम राष्ट्रपति थे|

    Sep 12, 2016