Search
  1. Home |
  2. भारत दर्शन

भारत दर्शन

Also Read in : English

सिंधु घाटी सभ्यता की अर्थव्यवस्था का संक्षिप्त विवरण

Feb 8, 2018
सिंधु घाटी सभ्यता (हड़प्पा सभ्यता) की अर्थव्यवस्था कृषि और व्यापार पर आधारित थी| कृषि कार्य हड़प्पाकालीन शहरों के आसपास के दूरस्थ और अविकसित क्षेत्र में किया जाता था, जहाँ से शासक वर्ग भविष्य में उपयोग हेतु कृषि अधिशेष को लाकर धान्यकोठारों में जमा करते थे| यहाँ हम सिंधु घाटी सभ्यता की अर्थव्यवस्था का संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत कर रहे हैं जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है|

Latest Videos

भारत में चीन द्वारा फंड प्राप्त करने वाली कंपनियों की सूची

Feb 7, 2018
भारत की सबसे बड़ी क्रय शक्ति और विशाल बाजार दुनिया भर के व्यापारियों एवं निवेशकों को आकर्षित कर रही हैl यही कारण है कि आज के समय में चीनी निवेशक और प्रौद्योगिकी उद्यमी भारत में मोबाइल गेमिंग, शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा, वित्तीय प्रौद्योगिकी और इंटरनेट से जुड़ी चीजों (आईओटी) जैसे क्षेत्रों में भारतीय स्टार्ट-अप कंपनियों के साथ विशाल मात्रा में निवेश कर रहे हैंl यहां, हम सामान्य ज्ञान की दृष्टि से भारत में चीन द्वारा फंड प्राप्त करने वाली कंपनियों की सूची दे रहे हैंl

गांधीवादी अर्थशास्त्र की क्या विशेषताएं हैं?

Feb 6, 2018
गांधीवादी अर्थशास्त्र एक ऐसी आर्थिक व्यवस्था की संकल्पना पर आधारित है जिसमें “वर्ग” का कोई स्थान नही है. गाँधी का अर्थशास्त्र एक ऐसी सामाजिक व्यवस्था स्थापित करने की बात करता है जिसमें एक व्यक्ति किसी दूसरे का शोषण नही करता है. अर्थात गांधीवादी अर्थशास्त्र सामाजिक न्याय और समता के सिद्धांत पर आधारित है.

जानें हज सब्सिडी क्या है?

Jan 25, 2018
मुस्लिम समुदाय के तीर्थस्थल मक्का और मदीना की पवित्र यात्रा को हज यात्रा कहते है. इस यात्रा के लिए भारतीय सरकार हज सब्सिडी देती थी जिसे अब सरकार ने खत्म कर दिया है. आइये इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते है कि हज सब्सिडी क्या है, कैसे और कब यह सब्सिडी शुरू हुई थी आदि.

26 जनवरी की परेड से संबंधित 13 रोचक तथ्य

Jan 25, 2018
हर साल आप 26 जनवरी के अवसर पर राजपथ पर आयोजित परेड को दूरदर्शन के माध्यम से देखते हैं| लेकिन क्या आपको पता है कि 26 जनवरी की परेड के आयोजन की जम्मेवारी किसकी है एवं इसके आयोजन में कितना खर्च होता है? इस लेख में हम 26 जनवरी की परेड से जुड़े 13 रोचक तथ्यों का विवरण दे रहें हैं|

गणतंत्र दिवसः भारतीय गणतंत्र की यात्रा

Jan 25, 2018
भारत 15 अगस्त 1947 को ब्रिटिश शासन से स्वतंत्र हुआ था और तब हमारे देश के पास संविधान नहीं था | 26 जनवरी 1950 को संविधान को अंगीकार किया गया था और उस दिन के बाद से प्रत्येक वर्ष पूरे देश में 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में बहुत गर्व और खुशी के साथ मनाया जाता है। यह लेख भारतीय गणतंत्र दिवस के इतिहास, उत्पत्ति और पृष्ठभूमि से संबंधित है।

पेंसिल पोर्टल की क्या विशेषताएं हैं?

Jan 15, 2018
पेंसिल एक ऐसा इलेक्ट्रॉनिक पोर्टल या प्लेटफार्म है जिसका उद्देश्य बाल मजदूरी मुक्त समाज को बनाने के लिए बाल श्रम का उन्मूलन करना है. अर्थार्त बाल श्रम को पूरी तरह से समाप्त करने में मदद करेगा यह पोर्टल. इस लेख के माध्यम से पेंसिल पोर्टल क्या है, इसकी क्या विशेषताएं है और यह कैसे काम करेगा, NCLP योजना कब और क्यों शुरू की गई थी, इसके पीछे क्या उद्देश्य था, आदि के बारे में भी अध्ययन करेंगे.

मकर संक्रान्ति: इतिहास, अर्थ एवं महत्व

Jan 12, 2018
मकर संक्रान्ति हिन्दुओं का प्रमुख त्योहार है। यह त्योहार भगवान सूर्य को समर्पित है| यह त्योहार जनवरी महीने की 14वीं या 15वीं तिथि को ही मनाया जाता है क्योंकि इसी दिन सूर्य धनु राशि को छोड़ कर मकर राशि में प्रवेश करते हैं। मकर संक्रान्ति के दिन से ही सूर्य की उत्तरायण गति भी प्रारम्भ होती है। इसलिये इस पर्व को उत्तरायणी भी कहा जाता है|

जानें ISRO भारतीय रेलवे को कैसे सुरक्षा प्रदान करेगा?

Jan 11, 2018
ISRO अपने इंडियन रीजनल नैविगेशन सैटेलाइट सिस्टम (IRNSS) या नेविगेशन सिस्टम नाविक (NaVIC) का उपयोग कर रहा है, जिससे भारतीय रेलवे और इसरो के बीच संयुक्त सहयोग की सहायता से रेलवे मानव रहित फाटकों पर हो रहीं दुर्घटनाओं को रोका जा सकेगा. यह लेख भारतीय रेलवे सुरक्षा के लिए इसरो द्वारा उपयोग किए जाने वाले सैटेलाइट सिस्टम से संबंधित है, यह सिस्टम किस प्रकार से सुरक्षा प्रदान करेगा, IRNSS और NaVIC प्रणाली क्या है आदि.

भारत में परमाणु हमले का बटन किसके पास होता है?

Jan 11, 2018
हाल ही में ऐसी ख़बरें आयीं है जिसमे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग एक दूसरे को परमाणु हमले की धमकियाँ दे रहें हैं. ऐसे में यह प्रश्न उठता है कि भारत में परमाणु हमला करने का निर्णय कौन ले सकता है. इस लेख में आप जानेंगे कि परमाणु हमला करने का निर्णय कौन लेता है और इसमें कितना समय लगता है.

भारतीय सेना में मार्कोस कमांडो कौन होते हैं?

Jan 10, 2018
मार्कोस या समुद्री कमांडो (पहले समुद्री कमांडो फोर्स या एमसीएफ के रूप में जाना जाता था) भारतीय नौसेना की एक विशेष बल इकाई है जिसे 1987 में स्थापित किया गया था. मार्कोस का प्रशिक्षण इतना व्यापक होता है कि इनको आतंकबाद से लेकर, नेवी ऑपरेशन, और एंटी पायरेसी ऑपरेशन में भी इस्तेमाल किया जाता है.

भारत vs चीन: जल, थल और वायुसेना की ताकत का तुलनात्मक अध्ययन

Jan 10, 2018
क्या आज का भारत वही भारत है जिसको चीन ने 1962 के युद्ध में बुरी तरह से हरा दिया था या फिर आज का भारत इतना शक्तिशाली हो चुका है कि चीन इसके साथ लड़ाई का ख्याल भी अपने दिमाग में नही लायेगा. आइये इस लेख में यही जानने की कोशिश करते हैं कि इन दोनों देशों की सैन्य ताकत में किसका पलड़ा भारी है?

1885 से 1947 तक भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन की घटनाओं का कालक्रम

Jan 8, 2018
इतिहास के अंतर्गत हम जिस विषय का अध्ययन करते हैं उसमें अब तक घटित घटनाओं या उससे संबंध रखनेवाली घटनाओं का कालक्रमानुसार वर्णन होता है। यहां, हम सामान्य जागरूकता के लिए 1885 से 1947 तक भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन की समयरेखा दे रहे हैं।

क्या भारत एक गुप्त परमाणु सिटी बना रहा है?

Jan 5, 2018
अमेरिका के एक जनरल में छपी खबर के अनुसार, भारत एक गुप्त परमाणु सिटी (Secret Nuclear City) का निर्माण कर्नाटक राज्य के चित्रदुर्ग जिले के चल्लकेरे गांव में कर रहा है. अमेरिकी जनरल का दावा है कि इस गुप्त परमाणु सिटी का निर्माण 2012 में शुरू हुआ था और 2017 के अंत तक पूरा होने की संभावना थी.

जानें नेशनल मेडिकल कमीशन बिल क्या है

Jan 3, 2018
नेशनल मेडिकल कमीशन बिल के पारित होने पर मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया खत्म हो जाएगी और उसकी जगह नेशनल मेडिकल कमीशन लेगी. भारत में अब तक मेडिकल शिक्षा, मेडिकल संस्थानों और डॉक्टरों के रजिस्ट्रेशन से संबंधित काम मेडिकल काउंसिल ऑफ़ इंडिया की ज़िम्मेदारी थी. इस बिल के पारित होने के बाद सम्पूर्ण देश में मेडिकल शिक्षा और मेडिकल सेवाओं से संबंधित सभी नीतियों को बनाना इस कमीशन के हाथ में होगा. आइये इस लेख के माध्यम से नेशनल मेडिकल कमीशन बिल क्या है और इसका क्या प्रभाव होगा के बारे में अध्ययन करते हैं.

जानिए क्यों भारतीय विमानन सेवा आज भी गुलामी की प्रतीक है?

Dec 4, 2017
विमान की राष्ट्रीय पहचान सुनिश्चित करने के लिए अन्तर्राष्ट्रीय नागर विमानन संगठन (International Civil Aviation Organization; ICAO) सभी देशों को एक कोड देता है. भारत की विमानन सेवा आज भी अंग्रेजों के समय मिले कोड “वायसराय टेरिटरी (VT)” का इस्तेमाल कर रही है. इस लेख में जानिए कि क्यों आजादी के 70 सालों बाद भी भारत सरकार इसे हटा नही पाई है.

क्राइम इन इंडिया-2016 रिपोर्ट: 15 तथ्य एक नजर में

Dec 1, 2017
नवम्बर 2017 माह में राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो की क्राइम इन इंडिया-2016 रिपोर्ट जारी की गयी है. इस रिपोर्ट में उन 19 शहरों को शामिल किया गया है जहाँ की जनसँख्या 20 लाख से ऊपर है. रिपोर्ट यह कहती है कि दिल्ली सिर्फ देश की लोकतान्त्रिक राजधानी ही नही है बल्कि यह देश में होने वाले अपराधों की राजधानी भी है. साल 2016 में महिलाओं के खिलाफ कुल 41,761 मामले दर्ज किये गए. इनमें से 33% यानी 13,803 मामले अकेले दिल्ली में सामने आए.

प्रसिद्ध भारतीय हस्तियाँ जिनके नाम पर उनके जीवनकाल में ही डाक टिकट जारी हुए हैं

Nov 21, 2017
दुनिया में कई ऐसे प्रसिद्ध व्यक्ति हुए हैं जो अपने जीवनकाल में ही वह प्रतिष्ठा और ख्याति प्राप्त कर लेते हैं, जो मरने के बाद भी कई व्यक्तियों को नसीब नहीं होती है। इन्हीं प्रसिद्धियों में से एक है- किसी जीवित व्यक्ति के नाम पर डाक टिकट जारी होना। भारत में भी कई ऐसे महान व्यक्तित्व हुए हैं जिनके नाम पर उनके जीवनकाल में ही डाक टिकट जारी किए गए हैं। इस लेख में हम उन प्रसिद्ध भारतीय हस्तियों का विवरण दे रहे हैं जिनके नाम पर उनके जीवनकाल में ही डाक टिकट जारी हुए हैं।

चेर शासकों की सूची और उनके योगदान

Nov 14, 2017
चेर राजवंश, तमिलकम के तीन प्रमुख राजवंशों में से एक थे, जिसके शासकों ने दक्षिण भारत में वर्तमान केरल राज्य तथा तमिलनाडु के कुछ हिस्सों पर शासन किया था. "चेर" शब्द शायद चेरल शब्द से उत्पन्न हुआ था, जिसका अर्थ प्राचीन तमिल में "एक पहाड़ की ढ़लान" है। यहां हम सामान्य जागरूकता के लिए चेर शासकों की सूची और उनके योगदान का विवरण दे रहे हैं।

भारत में भूख की समस्या: कुछ रोचक तथ्य

Nov 14, 2017
जनगणना 2011 के अनुसार भारत की 22% जनसंख्या गरीबी रेखा से नीचे रह रही है. भारतीय आबादी का एक बड़ा हिस्सा ( 190 मिलियन लोग) रोज खाली पेट सोता हैं. यह लेख भारत में भूख की स्थिति से संबंधित कुछ चौकाने वाले तथ्य बता रहा है. अभी हाल में जारी की गयी वैश्विक भूख सूचकांक रिपोर्ट 2017 में भारत 3 स्थान नीचे खिसककर 100 वें स्थान पर आ गया है.
LibraryLibrary

Newsletter Signup

Copyright 2018 Jagran Prakashan Limited.
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK