Search
  1. Home |
  2. भूगोल

भूगोल

Also Read in : English

अगर भाखड़ा नांगल बांध टूट जाए तो भारत पर इसका क्या असर पड़ेगा?

Aug 10, 2018
भाखड़ा नांगल बांध हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले में सतलुज नदी पर बनाया गया है और ये भारत की सबसे बड़ी बहुउद्देशीय नदी घाटी परियोजना है. टिहरी बांध के बाद भारत का दूसरा सबसे ऊंचा बांध है. इसका मुख्य उद्देश्य सिंचाई एवं विद्युत उत्पादन है. परन्तु क्या आपने कभी सोचा है कि अगर भाखड़ा नांगल बांध किसी कारणवश टूट जाए तो क्या हगा, इससे भारत पर क्या असर पड़ेगा? आइये इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं.

Latest Videos

भारतीय वन के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य

Aug 2, 2018
भारत अत्याधिक विविधतापूर्ण एवं मृदा का देश है। इसलिए यहाँ उष्णकटिबंधीय वनों से लेकर टुन्ड्रा प्रदेश तक की वनस्पतियाँ पायी जाती हैं। पर्यावरण और वन मंत्रालय भारत सरकार के पर्यावरण, वन नीतियों और कार्यक्रमों के कार्यान्वयन की निगरानी के लिए केंद्र सरकार में नोडल एजेंसी है। इस लेख में हमने भारतीय वन के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

जाने भारत के पूर्वी तट और पश्चिमी तट में भौगोलिक अंतर

Aug 1, 2018
भारत की तट रेखा की लम्बाई 7516.6 किलोमीटर है (मुख्य भूमि: 5422.6 कि.मी; द्वीप प्रदेश: 2094 कि.मी)। सीधी और नियमित तट रेखा ईसीन काल के दौरान, गोंडवानालैंड के गमनागमन के कारण हुआ था। इस लेख में हमने भारत के पूर्वी तट और पश्चिमी तट में भौगोलिक अंतर बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

विश्व के स्थलीय बायोम क्षेत्र कौन से हैं

Aug 1, 2018
बायोम (जीवोम) स्थलीय पारिस्थितिक तंत्र का ही एक प्रमुख भाग है। इसके अंतर्गत वनस्पति एवं जीवों के समस्त क्रियाशील समूह शामिल किये जाते हैं। किसी प्रदेश विशेष की जलवायु, मिट्टी आदि कारकों से सामंजस्य स्थापित कर जो जटिल जैव-समुदाय विकसित होता है उसे ही ‘बायोम’ कहते हैं। इस लेख में हमने विश्व की स्थलीय बायोम क्षेत्र के बारे में बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

भारत के कुटीर उद्योग पर एक संक्षिप्त विवरण

Jul 5, 2018
कुटीर उद्योग सामूहिक रूप से उन उद्योगों को कहते हैं जिनमें उत्पाद एवं सेवाओं का सृजन अपने घर में ही किया जाता है न कि किसी कारखाने में। कुटीर उद्योगों में कुशल कारीगरों द्वारा कम पूंजी एवं अधिक कुशलता से अपने हाथों के माध्यम से अपने घरों में वस्तुओं का निर्माण किया जाता है। इस लेख में हमने, भारत के कुटीर उद्योग पर एक संक्षिप्त विवरण दिया है जिसका प्रयोग विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में अध्ययन सामग्री के रूप में किया जा सकता है।

दुनिया के सभी उष्णकटिबंधीय रेगिस्तान महाद्वीप के पश्चिम दिशा में ही क्यों स्थित हैं?

Jul 3, 2018
रेगिस्तान (मरुस्थल) ऐसे भौगोलिक क्षेत्रों को कहा जाता है जहां जलपात (वर्षा तथा हिमपात का योग) अन्य क्षेत्रों की अपेक्षा काफी कम होती है। दुसरे शब्दों में, एक ऐसा स्थान है जहा पानी नहीं होता, दूर-दूर तक रेत ही रेत होती है। पृथ्वी कि सतह का पांचवा हिस्सा रेगिस्तान है। इस लेख में हमने बताया है की क्यों दुनिया के सभी उष्णकटिबंधीय रेगिस्तान महाद्वीप के पश्चिम दिशा में ही स्थित हैं।

भारत के प्रसिद्ध रेलवे सुरंगों की सूची

Jun 28, 2018
शहरों के बीच संयोजकता बेहतर करने में सुरंगों का अहम रोल होता है। शहरों की सड़कें तंग होती जा रही हैं, इसलिए सुरंगे बनाना एक सही विकल्प है। इसके अलावा हमारे देश की भौगोलिक स्थितियों जिसमें, हिमालय, विंध्याचल, पश्चिमी घाट और सतपुरा हैं, रोड और रेलवे नेटवर्क के लिए सुरंगें एक अहम हिस्सा बन गई हैं। इस लेख में हमने भारत के प्रसिद्ध रेलवे सुरंगों की सूची दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

भारत में जल निकायों के ऊपर बने लंबे पुलों की सूची

Jun 28, 2018
सेतु (पुल या ब्रिज) एक प्रकार का ढाँचा जो नदी, पहाड़, घाटी अथवा मानव निर्मित अवरोध को वाहन या पैदल पार करने के लिये बनाया जाता है। सेतु या पुल किसी भी देश के बुनियादी ढांचे का महत्वपूर्ण घटक माना जाता है। इस लेख में हमने भारत में जल निकायों के ऊपर बने लंबे पुलों की सूची दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

प्रसिद्ध भौगोलिक सिद्धांतों एवं अवधारणाओ की सूची

Jun 25, 2018
भूगोल (Geography) वह शास्त्र है जिसके द्वारा पृथ्वी के ऊपरी स्वरुप और उसके प्राकृतिक विभागों (जैसे पहाड़, महादेश, देश, नगर, नदी, समुद्र, झील, डमरुमध्य, उपत्यका, अधित्यका, वन आदि) का अध्ययन करते हैं। इस लेख में हमने, सामान्य जागरूकता के लिए प्रसिद्ध भौगोलिक सिद्धांतों एवं अवधारणाओ की सूची दिया हैं जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

भारत के प्रमुख प्रायद्वीपीय दर्रो की सूची

Jun 8, 2018
ज़मीन का वो हिस्सा जो चारों ओर पानी से घीरा हो और मुख्यभूमि से एक भू-सन्धि के द्वारा जुड़ा हो, उसे प्रायद्वीप कहते है। भारतीय प्रायद्वीपीय पठार प्राचीन गोंडवानालैंड का हिस्सा है और त्रिकोणीय आकार में है। इस लेख में हम, सामान्य जागरूकता के लिए भारत के प्रमुख प्रायद्वीपीय दर्रो की सूची दे रहे हैं जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

भूमंडलीय आदर्श वायुदाब वाले क्षेत्रो की सूची

Jun 7, 2018
पृथ्वी के वायुमंडल में किसी सतह की एक इकाई पर उससे ऊपर की हवा के वजन द्वारा लगाया गया बल को वायुमंडलीय दबाव कहते हैं। वायुमंडल के निचले परतों पर हवा और वायुमंडलीय दबाव का घनत्व उच्च होता है। बढ़ती ऊंचाई के साथ वायुमंडलीय दबाव कम हो जाता है। इस लेख में हमने भूमंडलीय आदर्श वायुदाब वाले क्षेत्रो की सूची दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

दुनिया में किस देश की सबसे अच्छी पर्यावरण नीति है?

Jun 5, 2018
वातावरण या पर्यावरण वह बाहरी शक्ति है जो हमें प्रभावित करती है. इसमें बाहृय तत्व आते है. पर्यावरण प्रदर्शन सूचकांक (EPI) में उच्च-प्राथमिकता वाले पर्यावरणीय मुद्दों पर प्रदर्शन के आधार पर विभिन्न देशों को रैंक प्रदान की जाती है. आइये इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं कि कौन सा देश EPI में शीर्ष स्थान पर है और दुनिया में किस देश की सबसे अच्छी पर्यावरण नीति है.

भारतीय अर्थव्यवस्था पर मानसून का क्या प्रभाव होता है?

Jun 1, 2018
भारत की 64 प्रतिशत जनसंख्या तो मूलतः कृषि पर ही आश्रित है और 65 फीसदी भारतीय कृषि मानसून पर निर्भर है। कृषि, भारतीय अर्थव्यवस्था की रीढ़ होने के कारण मानसून यहां की कृषि व अर्थव्यवस्था दोनों को समानरूप से प्रभावित करता है। वास्तव में, मानसून अक्ष है जिसके आसपास भारत अर्थव्यवस्था घूमती है। इस लेख में हमने बताया है कैसे मानसून, भारतीय अर्थव्यवस्था को प्रभावित करता है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

कार्बन चक्र और वैश्विक कार्बन बजट क्या हैं?

May 17, 2018
पृथ्वी पर पाए जाने वाले तत्वों में कार्बन (प्रांगार) एक प्रमुख एवं महत्त्वपूर्ण तत्त्व है। कार्बन जैविक यौगिकों के साथ-साथ कई खनिजों का मुख्य घटक है। इसे 'जीवन के निर्माण खंड' के रूप में जाना जाता है क्योंकि यह हर जीवित और गैर-जीवित चीजों में पाया जाता है। इस लेख में हमने कार्बन चक्र और वैश्विक कार्बन बजट के बारे में बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

सुपोषण क्या है और जलीय पारिस्थितिक तंत्र को कैसे प्रभावित करता है?

May 15, 2018
जीवों में विभिन्न प्रकार के जैविक कार्यों के संचलन एवं संपादन के लिए पोषक तत्व आवश्यक होते है और जिसे वो अपने वातावरण से ग्रहण करता है। उसी प्रकार पारिस्थितिक तंत्र को भी पोषक तत्व की आवश्यकता होती है। इस लेख में हमने सुपोषण और इसके जलीय पारिस्थितिक तंत्र पर प्रभाव के बारे में बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

महासागर अम्लीकरण क्या है और यह समुद्री पारिस्थितिक तंत्र को कैसे प्रभावित करता है?

May 14, 2018
पृथ्वी का 71 प्रतिशत हिस्सा पानी से ढका हुआ है, उसमें से 97 प्रतिशत सागरों और महासागरों में है और केवल तीन प्रतिशत पानी पीने योग्य है जिसमें से 2.4 प्रतिशत ग्लेशियरों और उत्तरी और दक्षिणी ध्रुव में जमा हुआ है और केवल 0.6 प्रतिशत पानी नदियों, झीलों और तालाबों में है। इस लेख में हमने महासागर अम्लीकरण और इसके समुद्री पारिस्थितिक तंत्र पर प्रभाव के बारे में बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

ध्रुवीय प्रवर्धन से आप क्या समझते हैं?

May 14, 2018
जलवायु परिवर्तन औसत मौसमी दशाओं के पैटर्न में ऐतिहासिक रूप से बदलाव आने को कहते हैं। सामान्यतः इन बदलावों का अध्ययन पृथ्वी के इतिहास को दीर्घ अवधियों में बाँट कर किया जाता है। उसी प्रकार ध्रुवीय क्षेत्र में बढ़ रहे ग्लोबल वार्मिंग का अवलोकन ऐतिहासिक पृष्ठभूमि और जलवायु मॉडल के प्रयोग से किया जाता है। यहां, हम सामान्य जागरूकता के लिए ध्रुवीय प्रवर्धन के सिद्धांत और उसके आधार के बारे में बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

क्या आप जानते हैं ग्लोबल डिमिंग या सार्वत्रिक दीप्तिमंदकता क्या है

May 11, 2018
जलवायु परिवर्तन औसत मौसमी दशाओं के पैटर्न में ऐतिहासिक रूप से बदलाव आने को कहते हैं। सामान्यतः इन बदलावों का अध्ययन पृथ्वी के इतिहास को दीर्घ अवधियों में बाँट कर किया जाता है। ऊर्जा संघटक का कार्य पृथ्वी की सतह तथा निचले वायुमण्डल में ऊष्मा संतुलन को बनाये रखना है। इस लेख में हमने ग्लोबल वार्मिंग की वजह से ग्लोबल डिमिंग या सार्वत्रिक दीप्तिमंदकता के बारे में बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

क्या आप विभिन्न कृषि-पद्धतियों और तकनीकों के बारे में जानते हैं

May 11, 2018
कृषि खेती और वानिकी के माध्यम से खाद्य और अन्य सामान के उत्पादन से संबंधित है। कृषि एक मुख्य विकास था, जो सभ्यताओं के उदय का कारण बना, इसमें पालतू जानवरों का पालन किया गया और पौधों (फसलों) को उगाया गया, जिससे अतिरिक्त खाद्य का उत्पादन हुआ। इस लेख में हमने विभिन्य कृषि-पद्धतियों और तकनीकों पर कुछ तथ्य दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

भारत के पूर्वी घाट की तुलना में पश्चिमी घाट पर अधिक बारिश क्यों होती है?

May 9, 2018
वर्षा के वितरण में स्थलाकृति और हवा एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। घाट का अर्थ नदी किनारे बनी सीढ़ियाँ या पर्वतीय दर्रा होता है। भारत में प्रायद्वीप के दक्कन के पठार के दोनों किनारों पर बने पर्वतों को भी पूर्वी घाट और पश्चिमी घाट कहते हैं। इस लेख में हमने, सामान्य जागरूकता के लिए भारत के पूर्वी घाट की तुलना में पश्चिमी घाट पर अधिक बारिश होने के कारण बताया हैं जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।
LibraryLibrary