Search
  1. Home
  2. भूगोल
View in English

भूगोल

  • ग्रीन अकाउंटिंग सिस्टम क्या होता है और इसका क्या महत्व है?

    पर्यावरण परिवर्तन एक वैश्विक समस्या है जिसके लिए वैश्विक समाधान की आवश्यकता है। इसमें हमारी आर्थिक वृद्धि को धीमा करने की क्षमता है। विश्व बैंक के एक अध्ययन से पता चला है कि जलवायु परिवर्तन किसी भी अर्थव्यस्था और आबादी के जीवन स्तर को परेशान करने वाला है। इस लेख में हमने ग्रीन अकाउंटिंग सिस्टम क्या होता है और इसके महत्व के बारे में बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Dec 27, 2018
  • विश्व के प्रमुख आर्द्रभूमि या वेटलैंड क्षेत्रों की सूची

    आर्द्रभूमि (wetland) ऐसी भूभाग को कहते हैं जो पानी से संतृप्त (सचुरेटेड) होता है। जैवविविधता की दृष्टि से आर्द्रभूमियाँ अंत्यंत संवेदनशील होती हैं। ईरान के रामसर शहर में 1971 में पारित एक अभिसमय (convention) के अनुसार आर्द्रभूमि ऐसा स्थान है जहाँ वर्ष में आठ माह पानी भरा रहता है। इस लेख में हमने विश्व के प्रमुख आर्द्रभूमि या वेटलैंड क्षेत्रों के बारे में बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Dec 24, 2018
  • विश्व के प्रमुख जलवायु क्षेत्र

    जलवायु किसी स्थान के वातावरण की दशा को व्पक्त करने के लिये प्रयोग किया जाता है। यह विस्तृत क्षेत्र में कई वर्षों की लम्बी अवधि तक पाई जाने वाली दशाओं का औसत होता है। यह प्रतिदिन नहीं बदलता। इस लेख में हमने, विश्व के प्रमुख जलवायु क्षेत्र पर चर्चा की है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Dec 21, 2018
  • भारत के आर्थिक विकास पर जनसांख्यिकीय लाभांश कैसे प्रभाव डालता है?

    तत्कालीन परिपेक्ष में, 'जनसांख्यिकीय लाभांश' नीति निर्माताओं, अर्थशास्त्रियों और दुनिया भर के विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञों के लिए चर्चा का एक विषय बन गया है। बड़ी संख्या में युवा और कामकाजी उम्र की आबादी के साथ कई देश इस संभावित क्षमता को ले कर आमने सामने हैं। इस लेख में हमने बताया है की भारत के आर्थिक विकास पर जनसांख्यिकीय लाभांश कैसे प्रभाव डालता है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Dec 20, 2018
  • ब्रह्मांड में ज्ञात आकाशगंगाओं की सूची

    मनुष्य की ब्रह्मांड के प्रत्येक छोर तक जाने की जिज्ञासा ने खगोलीय खोज का निर्माण किया है। इसी लालसा को पूर्ण करने के लिए अंतरिक्ष विज्ञान का इस्तेमाल करते-करते ब्रह्मांड से जुड़े कई रहस्यमय खोज की गयी उन्ही में से एक है आकाशगंगाओं की खोज। इस लेख में हमने, ब्रह्मांड में ज्ञात आकाशगंगाओं को सूचीबद्ध किया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Dec 18, 2018
  • ब्रह्माण्ड के 10 ज्ञात सबसे खतरनाक क्षुद्रग्रह

    द्रव्य और ऊर्जा जैसे सभी ग्रह, तारे, गैलेक्सिया, गैलेक्सियों के बीच के अंतरिक्ष की अंतर्वस्तु, अपरमाणविक कण, और सारा पदार्थ के सम्मिलित रूप को ब्रह्मांड कहते हैं। इस लेख में हमने, ब्रह्माण्ड के 10 ज्ञात सबसे खतरनाक क्षुद्रग्रह को सूचीबद्ध किया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Dec 14, 2018
  • भारत की पहली फ्लोटिंग प्रयोगशाला के बारे में 10 रोचक तथ्य

    लोकतक झील भारत के उत्तर-पूर्व में सबसे बड़ी ताज़े पानी का झील है, और अब यह एक फ्लोटिंग प्रयोगशाला का घर है जो पानी में गश्त करते हुये प्रदूषण भार की विश्लेषण करेगा ताकि बायोम को बचाने या सुरक्षा प्रदान करने के लिए ठोस कदम उठाया जा सके। इस फ्लोटिंग प्रयोगशाला का उद्घाटन मणिपुर के वन और पर्यावरण मंत्री, थौनाओजम श्यामकुमार सिंह ने 24 फरवरी किया था।

    Dec 13, 2018
  • ब्रह्मांड के 10 ज्ञात सबसे बड़े एक्सोप्लेनेट (Exoplanet)

    खगोलशास्त्रियों के अनुसार अब तक 19 अरब आकाशगंगाएं होने का अनुमान है उन में से एक है हमारी आकाशगंगा के एक तारा जिसको हम सूर्य कहते हैं उसी का तीसरा ग्रह और ज्ञात ब्रह्माण्ड में एकमात्र ग्रह है जहाँ जीवन उपस्थित है। इस लेख में हमने, ब्रह्मांड के 10 ज्ञात सबसे बड़े एक्सोप्लेनेट (Exoplanet) को सूचीबद्ध किया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Dec 12, 2018
  • साइबरस्पेस इंटरनेट क्या है और यह इंटरनेट से अलग कैसे है?

    आज के युग में इंटरनेट और साइबर स्पेस ने एक वर्चुअल दुनिया बनाई है जिसने नवीन सामाजिक और सांस्कृतिक प्रथाएं को जन्म दिया है क्योंकी इसने राष्ट्र-राज्य की सीमाओं से ऊपर उठ कर एक वैश्विक समाज का निर्माण किया है। साइबर स्पेस और इंटरनेट ने देखने, प्रतिनिधित्व करने और संचार करने के तरीकों में क्रन्तिकारी परिवर्तन लाया है। इस लेख में हमने साइबरस्पेस इंटरनेट को परिभाषित किया है और बताया है की यह इंटरनेट से अलग कैसे है?

    Dec 12, 2018
  • ताज़े पानी या मीठे पानी के संसाधनों वाले विश्व के 10 देश

    पृथ्वी पर पानी की कुल उपलब्ध मात्रा अथवा भण्डार को जलमण्डल (Hydrosphere) कहते हैं। इस जलमण्डल का 97.5% भाग समुद्रों में खारे जल के रूप में है और केवल 2.5% ही मीठा पानी है, उसका भी दो तिहाई हिस्सा हिमनद और ध्रुवीय क्षेत्रों में हिम चादरों और हिम टोपियों के रूप में जमा है। इस लेख में हमने संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (United Nations Environment Programme) द्वारा दी गई रिपोर्ट के आधार पर ताज़े पानी या मीठे पानी के संसाधनों वाले विश्व के 10 देश पर चर्चा की है।

    Dec 11, 2018
  • अंतरिक्ष मलबा क्या होता है?

    विगत 70 वर्षों में अनेकों अंतरिक्ष अन्वेषण हुए ताकि खगोल विज्ञान, ताराभौतिकी, ग्रहीय विज्ञान एवं भू विज्ञान, वायुमंडलीय विज्ञान एवं सैद्धांतिक भौतिक विज्ञान जैसे क्षेत्रों में अनुसंधान किया जा सके। इस लेख में हमने बताया है की अंतरिक्ष मलबा क्या होता है, इनका निर्माण कैसे होता है तथा इनको ट्रैक करने और मापने के लिए उपकरण कौन-कौन से हैं।

    Dec 6, 2018
  • भारत के प्रमुख अन्तरराज्यीय जल विवादों की सूची

    भारत की जलवायु दक्षिण में उष्णकटिबंधीय है और हिमालयी क्षेत्रों में अधिक ऊँचाई के कारण अल्पाइन (ध्रुवीय जैसी), एक ओर यह पुर्वोत्तर भारत में उष्ण कटिबंधीय नम प्रकार की है तो पश्चिमी भागों में शुष्क प्रकार की। इस लेख में, हमने भारत के प्रमुख अन्तरराज्यीय जल विवादों को सूचीबद्ध किया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Dec 5, 2018
  • जाने पहाड़ी क्षेत्रों में हिमस्खलन होने के 9 कारण कौन से हैं?

    हिमस्खलन या एवलांच (avalanche) किसी ढलान वाली सतह पर तेज़ी से हिम के बड़ी मात्रा में होने वाले बहाव को कहते हैं। यह आमतौर पर किसी ऊँचे क्षेत्र में उपस्थित हिमपुंज या संचित बर्फ में अचानक अस्थिरता पैदा होने से आरम्भ होते हैं। इस लेख में हमने 9 कारको पर चर्चा की है जिनकी वजह से हिमस्खलन या एवलांच होने की संभावनाये बढ़ जाती है।

    Dec 4, 2018
  • बाल्टिक देशों और बाल्कन देशों में क्या अंतर होता है?

    भूगोल में हम पृथ्वी के ऊपरी स्वरुप और उसके प्राकृतिक विभागों (जैसे पहाड़, महादेश, देश, नगर, नदी, समुद्र, झील, डमरुमध्य, उपत्यका, अधित्यका, वन आदि) को पढ़ते हैं। पृथ्वी के कुछ ऐसे क्षेत्र हैं जिनका नामांकरण उनके अक्षांश, देशांतर, सागर, झीलों, पहाड़, संस्कृति, भाषा, और जातीयता और कभी-कभी जलवायु के आधार पर नामित किया जाता है। इस लेख में, हमने बाल्टिक देशों और बाल्कन देशों में अंतर बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Nov 28, 2018
  • रोबोटिक अंतरिक्ष अन्वेषण मिशनों की सूची

    ब्रह्माण्ड की खोज के लिए जब मानवरहित अंतरिक्ष अन्वेषण तकनीकों के प्रयोग से की जाती है तो उसे रोबोटिक अंतरिक्ष अन्वेषण कहा जाता है। इस तरह के अंतरिक्ष कार्यक्रम में खगोल विज्ञान, ताराभौतिकी, ग्रहीय विज्ञान एवं भू विज्ञान, वायुमंडलीय विज्ञान एवं सैद्धांतिक भौतिक विज्ञान जैसे क्षेत्रों के अनुसंधान शामिल हैं। इस लेख में, हमने रोबोटिक अंतरिक्ष अन्वेषण मिशनों को सूचीबद्ध किया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Nov 27, 2018