Search
  1. Home
  2. भूगोल
View in English

भूगोल

  • गंगा नदी का उद्गम कहां से होता है?

    गंगा नदी को पूजनीय और पवित्र माना जाता है. गंगा, भारत और बांग्लादेश में मिलकर 2,510 किलोमीटर की दूरी तय करती है. यह सबसे महत्वपूर्ण नदियों में से एक है. कि भारत की चार सबसे लम्बी नदियों में गंगा नाम शामिल है. क्या आप जानते हैं की गंगा का उद्गम कहां से हुआ है, उस जगह को क्या कहते है, इसका क्या महत्व है इत्यादि के बारे में आइये इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं.

    Sep 12, 2018
  • भारत को प्रभावित करने वाले 10 सबसे खराब भूकंप

    भूकम्प या भूचाल पृथ्वी की सतह के कम्पन को कहते हैं। यह पृथ्वी के स्थलमण्डल (लिथोस्फ़ीयर) में ऊर्जा के अचानक मुक्त हो जाने के कारण उत्पन्न होने वाली भूकम्पीय तरंगों की वजह ससे होती है। इस लेख में हमने भारत को प्रभावित करने वाले 10 सबसे खराब भूकंप के बारे में बताया है।

    Sep 12, 2018
  • भूकंप की भविष्यवाणी तथा भूकंप का प्रभाव

    भूकंप हमेशा मनुष्य के लिए अभिशाप ही साबित होता है लेकिन कभी-कभी यह वरदान भी साबित होता है। इस लेख में हम भूकंप के कारण होने वाले लाभ तथा हानि के अलावा भूकंप की भविष्यवाणी के विभिन्न तरीकों का विवरण दे रहे हैं।

    Sep 10, 2018
  • भूकंपों का वर्गीकरण

    भूकंप की उत्पत्ति के कारणों का अध्ययन करने से यह स्पष्ट है कि प्रत्येक भूकंप की अपनी अलग विशेषता होती है। भूकंपों की इन्हीं विशेषताओं के आधार पर भूकंपों का वर्गीकरण किया जाता है। इस लेख में हम विभिन्न आधार पर भूकंपों के वर्गीकरण का विवरण दे रहे हैं।

    Sep 10, 2018
  • भूकंप की तीव्रता एवं परिमाण का विश्लेषण

    किसी स्थान पर भूकंप की तीव्रता वहां पर भूमि में गति तथा मानव पर प्रभाव के रूप में आंकी जाती है। भूकंप द्वारा विनाश का मूल्यांकन इमारतों, बांधों, पुलों तथा अन्य वस्तुओं को इससे होने वाली हानि से किया जाता है. जबकि किसी भूकंप का परिमाण उस द्वारा मुक्त की गई ऊर्जा का माप है। इस लेख में हम भूकंप की तीव्रता और परिमाण का विस्तृत विवरण दे रहे हैं।

    Sep 10, 2018
  • विश्व की नदी प्रणालियों की सूची

    विश्व के आर्थिक एवं सांस्कृतिक विकास में नदियों का प्रचीनकाल से ही महत्वपूर्ण योगदान रहा है। विश्व की प्राचीन सभ्यताओं का विकास भी किसी न किसी नदी के किनारे ही हुई है जैसे- सिन्धु घाटी सभ्यता। इस लेख में हमने विश्व के नदी प्रणालियों की सूची दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Aug 31, 2018
  • भारत के प्रसिद्ध समुद्र तटों की सूची

    भारत विश्व का सातवां सबसे बड़ा देश है जबकि आबादी में इसका दूसरा स्थान है। इसकी भूमि सीमा लगभग 15,200 कि. मी. हैं। इसकी मुख्या भूमि, लक्षद्वीप समूह और अंडमान-निकोबार द्वीप समूह के समुन्द्र-तट की कुल लम्बाई 7516.6 कि. मी. है। इस लेख में हमने भारत के प्रसिद्ध समुद्र तटों की सूची दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Aug 29, 2018
  • उत्तर प्रदेश की प्रमुख झीलों की सूची

    उत्तर प्रदेश में झीलों का अभाव है। यहाँ की अधिकांश झीलें कुमाऊँ क्षेत्र में हैं जो कि प्रमुखतः भूगर्भीय (Geological) शक्तियों के द्वारा भूमि के धरातल में परिवर्तन हो जाने के परिणामस्वरूप निर्मित हुई हैं। इस लेख में हमने उत्तर प्रदेश की प्रमुख झीलों की सूची दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Aug 17, 2018
  • उत्तर प्रदेश की प्रमुख नहरों और बांधों की सूची

    नहरों के वितरण एवं विस्तार की दृष्टि से उत्तर प्रदेश का अग्रणीय स्थान है। यहाँ की कुल सिंचित भूमि का लगभग 30 प्रतिशत भाग नहरों के द्वारा सिंचित होता है। यहाँ की नहरें भारत की प्राचीनतम नहरों में से एक हैं। इस लेख में हमने उत्तर प्रदेश की प्रमुख नहरों और बांधों की सूची दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Aug 14, 2018
  • अगर भाखड़ा नांगल बांध टूट जाए तो भारत पर इसका क्या असर पड़ेगा?

    भाखड़ा नांगल बांध हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर जिले में सतलुज नदी पर बनाया गया है और ये भारत की सबसे बड़ी बहुउद्देशीय नदी घाटी परियोजना है. टिहरी बांध के बाद भारत का दूसरा सबसे ऊंचा बांध है. इसका मुख्य उद्देश्य सिंचाई एवं विद्युत उत्पादन है. परन्तु क्या आपने कभी सोचा है कि अगर भाखड़ा नांगल बांध किसी कारणवश टूट जाए तो क्या हगा, इससे भारत पर क्या असर पड़ेगा? आइये इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं.

    Aug 10, 2018
  • भारतीय वन के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य

    भारत अत्याधिक विविधतापूर्ण एवं मृदा का देश है। इसलिए यहाँ उष्णकटिबंधीय वनों से लेकर टुन्ड्रा प्रदेश तक की वनस्पतियाँ पायी जाती हैं। पर्यावरण और वन मंत्रालय भारत सरकार के पर्यावरण, वन नीतियों और कार्यक्रमों के कार्यान्वयन की निगरानी के लिए केंद्र सरकार में नोडल एजेंसी है। इस लेख में हमने भारतीय वन के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य दिया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Aug 2, 2018
  • जाने भारत के पूर्वी तट और पश्चिमी तट में भौगोलिक अंतर

    भारत की तट रेखा की लम्बाई 7516.6 किलोमीटर है (मुख्य भूमि: 5422.6 कि.मी; द्वीप प्रदेश: 2094 कि.मी)। सीधी और नियमित तट रेखा ईसीन काल के दौरान, गोंडवानालैंड के गमनागमन के कारण हुआ था। इस लेख में हमने भारत के पूर्वी तट और पश्चिमी तट में भौगोलिक अंतर बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Aug 1, 2018
  • विश्व के स्थलीय बायोम क्षेत्र कौन से हैं

    बायोम (जीवोम) स्थलीय पारिस्थितिक तंत्र का ही एक प्रमुख भाग है। इसके अंतर्गत वनस्पति एवं जीवों के समस्त क्रियाशील समूह शामिल किये जाते हैं। किसी प्रदेश विशेष की जलवायु, मिट्टी आदि कारकों से सामंजस्य स्थापित कर जो जटिल जैव-समुदाय विकसित होता है उसे ही ‘बायोम’ कहते हैं। इस लेख में हमने विश्व की स्थलीय बायोम क्षेत्र के बारे में बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

    Aug 1, 2018
  • भारत के कुटीर उद्योग पर एक संक्षिप्त विवरण

    कुटीर उद्योग सामूहिक रूप से उन उद्योगों को कहते हैं जिनमें उत्पाद एवं सेवाओं का सृजन अपने घर में ही किया जाता है न कि किसी कारखाने में। कुटीर उद्योगों में कुशल कारीगरों द्वारा कम पूंजी एवं अधिक कुशलता से अपने हाथों के माध्यम से अपने घरों में वस्तुओं का निर्माण किया जाता है। इस लेख में हमने, भारत के कुटीर उद्योग पर एक संक्षिप्त विवरण दिया है जिसका प्रयोग विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी में अध्ययन सामग्री के रूप में किया जा सकता है।

    Jul 5, 2018
  • दुनिया के सभी उष्णकटिबंधीय रेगिस्तान महाद्वीप के पश्चिम दिशा में ही क्यों स्थित हैं?

    रेगिस्तान (मरुस्थल) ऐसे भौगोलिक क्षेत्रों को कहा जाता है जहां जलपात (वर्षा तथा हिमपात का योग) अन्य क्षेत्रों की अपेक्षा काफी कम होती है। दुसरे शब्दों में, एक ऐसा स्थान है जहा पानी नहीं होता, दूर-दूर तक रेत ही रेत होती है। पृथ्वी कि सतह का पांचवा हिस्सा रेगिस्तान है। इस लेख में हमने बताया है की क्यों दुनिया के सभी उष्णकटिबंधीय रेगिस्तान महाद्वीप के पश्चिम दिशा में ही स्थित हैं।

    Jul 3, 2018