Search
  1. Home |
  2. भूगोल

भूगोल

Also Read in : English

क्या आप जानते हैं उष्णकटिबंधीय चक्रवात और बाह्योष्णकटिबंधीय चक्रवात में क्या अंतर है?

Mar 5, 2018
कम वायुमंडलीय दाब के चारों ओर गर्म हवाओं की तेज आंधी को चक्रवात कहते हैं। यह कम वायुमंडलीय दबाव वाले क्षेत्र में उत्पन्न होने वाले चक्रवात हैं जिसे उष्णकटिबंधीय चक्रवात या बाह्योष्णकटिबंधीय चक्रवात कहते हैं। इस लेख में हमने उष्णकटिबंधीय चक्रवात और बाह्योष्णकटिबंधीय चक्रवात में बीच में अंतर बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

Latest Videos

विश्व के 10 सबसे बड़े द्वीपसमूह कौन से हैं?

Mar 1, 2018
किसी भी सागर या महासागर में स्थित द्वीपों की शृंखला को द्वीपसमूह कहते हैं। इस लेख में हम, सामान्य जागरूकता के लिए विश्व के दस सबसे बड़े द्वीपसमूह की सूची दे रहे हैं जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।

जानें क्यों अंतर्राष्ट्रीय तिथि रेखा एक सीधी रेखा नहीं है

Feb 22, 2018
अन्तर्राष्ट्रीय तिथि रेखा प्रशान्त महासागर के बीचों-बीच 180 डिग्री देशान्तर पर उत्तर से दक्षिण की ओर खींची गई एक काल्पनिक रेखा है। किसी देश का मानक समय उस देश के मध्य देशांतर पर हुए समय पर निर्भर होता है।

भूगोल से संबंधित सामान्य जानकारी

Feb 15, 2018
भूगोल धरातल पर स्थित विभिन्न चीजों के बीच आंतरिक संबधों का अध्ययन करता है. इसके अध्ययन के कई प्रकार हैं. जैसे- तंत्र दृष्टिकोण, प्रादेशिक दृष्टिकोण, वर्णात्मक दृष्टिकोण व विश्लेषणात्मक दृष्टिकोण.

जल निकासी व्यवस्था से संबंधित शब्दों की सूची

Feb 15, 2018
जल निकासी के स्वरुप उसकी प्रवाह क्षेत्र की स्थलाकृति (topography) द्वारा निर्धारित होती है। जल निकासी व्यवस्था से संबंधित शब्दों की सूची के अनुसार पाठकों को जल निकासी व्यवस्था साथ ही नदियों या नदियों के जल निकासी स्वरुप को भी समझने में सहायता मिलेगी।

क्या आप जानते हैं विश्व की ऐसी मानव प्रजातिओं के बारे में जो आज भी शिकार पर निर्भर हैं

Jan 29, 2018
विश्व में कुछ मानव प्रजातियां ऐसी भी हैं जिनको अपने भोजन के लिए पशु मांस अथवा मछली आदि मत्स्य प्रजातीय पर निर्भर रहना पड़ता है। इस लेख में हमने सामान्य जानकारी के लिए विश्व के उन प्रजातियों का वर्णन किया है जो आज भी शिकार पर निर्भर हैं।

विश्व की प्रमुख नहरों की सूची

Jan 17, 2018
नहर (Canal) एक ऐसा मानव-निर्मित जलमार्ग होता है जिसका मुख्यत: प्रयोग खेती के लिये जल को एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचाने में किया जाता है। दूसरे शब्दों में हम कह सकते हैं, नहरें नदियो के जल को सिंचाई हेतु विभिन्न क्षेत्रो तक पहुंचाती हैं। यहां, हम सामान्य जानकारी के लिए विश्व की प्रमुख नहरों की सूची दे रहे हैं।

हरित बांड बाज़ार से आप क्या समझते हैं और यह भारत के लिए कैसे महत्वपूर्ण है?

Jan 3, 2018
हरित बांड, हरित परियोजनाओ वित्तपोषण के लिए वित्तीय संसाधनों की मदद करने के लिए समकालीन साधन है। इसको बेहतर तरीके से समझने के लिए पहले हमे यह समझना होगा की 'बांड और बांड बाज़ार क्या हैं?'। बांड एक ऋण साधन है जिसके अंतर्गत निवेशको से धन जनित किया जाता है। बांड की परिपक्वता के पश्चात् धन को वापस कर दिया जाता है। बांड बाजार एक वित्तीय बाजार है जिसमें प्रतिभागियों को ऋण प्रतिभूतियों के जारी करने और व्यापार के साथ प्रदान किया जाता है। इस लेख में हम हरित बांड बाज़ार से आप क्या समझते हैं और यह भारत के लिए कैसे महत्वपूर्ण है जैसे तथ्यों का विवरण दे रहे हैं।

सुनामी आने के कारण एवं उनका प्रभाव

Jan 3, 2018
सुनामी का अंग्रेजी शब्द (Tsunami) जापानी भाषा के दो शब्दों “tsu” = harbour अर्थात बंदरगाह तथा nami = wave अर्थात तरंग से बना है. अतः सुनामी वे सागरीय तरंगें हैं जो तटीय भागों को प्रभावित करती हैं और बड़े पैमाने पर विनाश करती है. इस लेख में हम सुनामी आने के कारण एवं उनके प्रभाव का विवरण दे रहे हैं.

ज्वालामुखी विस्फोट के कारण बनने वाली भू-आकृतियाँ

Jan 2, 2018
ज्वालामुखियों के विस्फोट से जो लावा निकलता है, उससे विभिन्न प्रकार के भू-आकृतियों का निर्माण होता है. इनमें से अधिकांश भू-आकृतियां धरातल के ऊपर बनती है, लेकिन कुछ भू-आकृतियां धरातल के नीचे भी बनती है. इस लेख में हम ज्वालामुखी विस्फोट के कारण बनने वाली विभिन्न प्रकार की भू-आकृतियों का विवरण दे रहे हैं.

विभिन्न आधार पर ज्वालामुखियों का वर्गीकरण

Dec 29, 2017
विभिन्न प्रकार के ज्वालामुखियों के विस्फोट के समय एवं प्रक्रिया में काफी अंतर पाया जाता है. कुछ ज्वालामुखी शांत रूप से दरारी उद्गार द्वारा प्रकट होते हैं और कुछ अन्य तीव्र विस्फोट के साथ प्रकट होते हैं. कुछ ज्वालामुखी एक बार फटने के बाद शांत हो जाते हैं, कुछ लम्बी अवधि के बाद लावा उगलते हैं और कुछ लम्बी अवधि तक लावा उगलते हैं. अतः ज्वालामुखियों को उनके लक्षणों के अनुसार विभिन्न आधारों पर अनेक प्रकार से वर्गीकृत किया जाता है, जिसका विवरण हम इस लेख में दे रहे हैं.

ज्वालामुखी विस्फोट के कारण

Dec 27, 2017
ज्वालामुखी विस्फोट की प्रक्रिया दो रूपों में होती है. पहली प्रक्रिया भूपृष्ठ के नीचे होती है तथा दूसरी प्रक्रिया भूपृष्ठ के ऊपर होती है. इस लेख में हम ज्वालामुखी विस्फोट के विभिन्न कारण तथा ज्वालामुखी विस्फोट के कारण बाहर निकलने वाले विभिन्न पदार्थों का विवरण दे रहे हैं.

विभिन्न आधार पर पर्वतों का वर्गीकरण

Dec 26, 2017
भू-स्थल पर अनेक प्रकार के पर्वत पाए जाते हैं. ये पर्वत अपनी आयु, ऊंचाई, स्थिति, निर्माणकारी प्रक्रिया, बनावट आदि की दृष्टि से एक-दूसरे से इतने भिन्न होते हैं कि कोई भी दो पर्वत एक-दूसरे जैसे नहीं होते हैं. विद्वानों ने अलग-अलग आधार पर पर्वतों का वर्गीकरण किया है. इस लेख में हम विभिन्न आधार पर वर्गीकृत किए गए पर्वतों का विवरण दे रहे हैं.

महाद्वीपों की उत्पत्ति के संबंध में महाद्वीपीय विस्थापन एवं प्लेट विवर्तनिकी सिद्धांत में अन्तर

Dec 26, 2017
महाद्वीपों की उत्पत्ति के संबंध में मुख्यतः दो सिद्धांत प्रचलित हैं- महाद्वीपीय सिद्धांत और प्लेट विवर्तनिकी सिद्धांत. इस लेख में हम विभिन्न आधार पर महाद्वीपों की उत्पत्ति के संबंध में महाद्वीपीय विस्थापन एवं प्लेट विवर्तनिकी सिद्धांत में अन्तर का विवरण दे रहे हैं.

भूकंपीय तरंगें एवं उनका व्यवहार

Dec 20, 2017
हम जानते हैं कि भूकंप आने से पृथ्वी में कम्पन उत्पन्न होता है, जिसके परिणामस्वरूप भूकंपीय तरंगें उत्पन्न होती है. लेकिन क्या आपको पता है कि वास्तव में भूकंपीय तरंगें कितने प्रकार की होती हैं और इसका व्यवहार कैसा होता है? यदि आप इस प्रश्न के उत्तर से अनभिज्ञ हैं तो इस लेख को पढ़कर अवश्य जान जाएंगे.

जानें मौसम विभाग कैसे मौसम का पूर्वानुमान करता है

Dec 20, 2017
मौसम का पूर्वानुमान विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी की एक ऐसी शाखा है जिसमें किसी स्थान के वायुमंडलीय दशाओं की वैज्ञानिक भविष्यवाणी की जाती है. मौसम का पूर्वानुमान किसी स्थान पर वर्तमान वायुमंडलीय अवस्था के मात्रात्मक आंकड़ों के आधार पर किया जाता है. मौसम से संबंधित पूर्वानुमानों की अनिश्चितता के कारण लोगों के दिमाग में अक्सर यह सवाल पैदा होता है कि मौसम का सही-सही अनुमान क्यों नहीं लगाया जा सकता है या मौसम का पूर्वानुमान कैसे किया जाता है? इस लेख में हम इन प्रश्नों के उत्तर खोजने की कोशिश कर रहे हैं.

महाद्वीपीय एवं महासागरीय भूपर्पटी में अन्तर

Dec 19, 2017
भौतिक, रासायनिक एवं भूगर्भिक दृष्टि से भूपर्पटी को मुख्यतः दो भागों महाद्वीपीय एवं महासागरीय भूपर्पटी में बांटा गया हैं. इस लेख में हम विभिन्न आधार पर महाद्वीपीय एवं महासागरीय भूपर्पटी में पाए जाने वाले अन्तर का विवरण दे रहे हैं.

विश्व में चक्रवातों के नाम कैसे रखे जाते हैं?

Dec 18, 2017
हिन्द महासागर क्षेत्र के 8 देशों (भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश, मालदीव, म्यांमार, ओमान और थाईलैंड) ने भारत की पहल पर 2004 से चक्रवर्ती तूफानों को नाम देने की व्यवस्था शुरू की थी. यदि किसी चक्रवात की रफ़्तार 34 नॉटिकल मील प्रति घंटा से ज्यादा है तो उसको कोई विशेष नाम देना जरूरी हो जाता है. 'उत्तर हिन्द महासागर' में उठने वाले तूफानों का नामकरण भारतीय मौसम विभाग करता है.

जानें भूकंप आने के विभिन्न कारण कौन-कौन से हैं

Dec 12, 2017
पिछले एक सप्ताह के भीतर जम्मू-कश्मीर समेत उत्तर भारत के कई इलाकों में दो बार भूकंप के झटके महसूस किए गए थे. हालांकि इन झटकों की तीव्रता काफी कम थी, जिसके कारण जान-माल का कोई नुकसान नहीं हुआ. लेकिन सवाल यह है आखिर किन कारणों की वजह से बार-बार भूकंप आते हैं. अतः इस लेख में हम उन सभी कारणों का विस्तृत विवरण दे रहे हैं, जिनकी वजह से बार-बार भूकंप आते हैं.

पृथ्वी पर भू-आकृतियों के विकास की विधि

Dec 11, 2017
भू-आकृतियों के विकास के क्रम में पदार्थ का स्थानांतरण लम्बवत एवं पार्श्व (Vertical and lateral) दोनों दिशाओं में होता है. पदार्थ के स्थानांतरण के फलस्वरूप उच्च भू-भागों का अपरदित पदार्थ निम्न भू-भागों में निक्षेपित हो जाता है. इस लेख में हम भू-आकृतियों के विकास की विभिन्न विधियों का विवरण दे रहे हैं.
LibraryLibrary

Newsletter Signup

Copyright 2018 Jagran Prakashan Limited.
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK