1. Home |
  2. विज्ञान

विज्ञान

Also Read in : English

जानें लोहे में जंग कैसे लगता है?

2 days ago
जब लोहे से बने सामान नमी वाली हवा में ऑक्सीजन से प्रतिक्रिया करते हैं तो लोहे पर एक भूरे रंग की परत यानी आयरन ऑक्साइड (Iron oxide) की जम जाती है. यह भूरे रंग की परत लोहे का ऑक्सीजन के साथ प्रतिक्रिया के कारण आयरन ऑक्साइड बनने से होता है, जिसे धातु का संक्षारण कहते या लोहे में जंग लगना कहते है. आइये इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं की लोहे में जंग कैसे लगता है और उसको जंग लगने से कैसे बचाया जा सकता है.

इसरो चेयरमैनों की सूची

2 days ago
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो), भारत सरकार की अंतरिक्ष एजेंसी है. अगस्त 15, 1969 में स्थापित इसरो का मुख्यालय बेंगलुरु (कर्नाटक) में स्थित है. सन 1963 से इसरो के 10 चेयरमैन नियुक्त किए जा चुके हैं. इसरो के मौजूदा चेयरमैन के. सिवान ने जनवरी 2018 में पद ग्रहण किया है. इसरो के पहले चेयरमैन डॉ. विक्रम साराभाई थे. इस लेख में इसरो के सभी चेयरमैन के नाम बताये जा रहे हैं.

जानें आयनिक यौगिक (Ionic Compound) कैसे बनते हैं?

3 days ago
आयनिक यौगिकों (Ionic compounds) को इलेक्ट्रोवैलेंट यौगिकों (electrovalent compounds) के रूप में भी जाना जाता है. एक परमाणु (Atom) के द्वारा दूसरे परमाणु पर इलेक्ट्रॉन के स्थानांतरण (Transfer of electron) के कारण बनने वाले रासायनिक बांड (Chemical bond) को आयनिक बांड (Ionic bond) कहते है. इन यौगिकों में आयन (ion) होते हैं. इस लेख के माध्यम से अध्ययन करेंगे कि आयनिक यौगिक क्या होते है, उदाहरण के साथ सीखेंगे की यह कैसे बनते है आदि.

महत्वपूर्ण हार्मोन और उनके कार्यों की सूची

3 days ago
हमारे शरीर में विभिन्न ग्रंथियां मौजूद हैं जो अलग-अलग प्रकार के हार्मोन को स्रावित करती हैं. ये हार्मोन विकास, प्रजनन, मेटाबोलिज्म आदि के लिए आवश्यक होते हैं. विभिन्न हार्मोन्स का शरीर के आकार पर अलग-अलग प्रभाव होता हैं. यह लेख महत्वपूर्ण हार्मोन्स और उनके कार्यों की सूची से संबंधित है.

बायो टॉयलेट किसे कहते हैं?

3 days ago
बायो टॉयलेट, परम्परागत टॉयलेट से अलग एक ऐसा टॉयलेट होता है जिसमें बैक्टेरिया की मदद से मानव मल को पानी और गैस में बदल दिया जाता है. इसमें पानी की बहुत ज्यादा बचत होती है और स्टेशन पर बहुत अधिक सफाई रहती है. इस लेख में बायो टॉयलेट का मतलब और उसकी कार्य करने की तकनीकी के बारे में बताया गया है.

जानें किस ब्लड ग्रुप के व्यक्ति का स्वभाव कैसा होता है

Jan 16, 2018
ब्लड ग्रुप होते हैं A, B, AB और O, जिन्हें A+, A- , B+, B- , AB+, AB-, O+ और O- समूहों में बांटा गया हैl परन्तु आप इस बात से वाकिफ नहीं होंगे कि ये ब्लड ग्रुप हमारे स्वभाव के बारे में भी बताते हैंl आइये इस लेख के जरिये हम जानने की कोशिश करते हैं और साथ ही यह भी जानकारी प्राप्त होगी कि किस ब्लड ग्रुप के व्यक्ति को किस ब्लड ग्रुप का ब्लड चढ़ाया जा सकता है l

क्या आपको पता है, मस्तिष्क में “डिलीट” बटन होता है?

Jan 16, 2018
हमारे मस्तिष्क में "डिलीट" बटन होता है, क्या आपने कभी सोचा हैं. इस लेख में मस्तिष्क से आधारित जानकारी दी गई है ताकि ये समझ पाए की मस्तिष्क किस प्रकार से अनावश्यक कनेक्शन को कैसे हटाता है और कैसे हम नई चीजों के बारे में जानकारी प्राप्त कर पाते हैं.

किस तकनीक के माध्यम से फिल्मों में वस्तु को छोटा या बड़ा दिखाया जाता है?

Jan 16, 2018
एक ऐसी तकनीक जिसके कारण कोई वस्तु छोटी, बड़ी, दूर या पास हो जाती है. यह एक प्रकार का ऑप्टिकल भ्रम पैदा करती है. इस तकनीक को फोर्स्ड पर्सपेक्टिव कहते है. आइये इस लेख के माध्यम से जानते है कि यह तकनीक क्या है, कैसे काम करती है, कहा-कहा इसका उपयोग किया जाता है आदि.

वैश्विक तापन/ग्लोबल वार्मिंग के कारण और संभावित परिणाम कौन से हैं?

Jan 15, 2018
वर्तमान में मानवीय गतिविधियों के कारण उत्पन्न ग्रीनहाउस गैसों के प्रभावस्वरूप पृथ्वी के दीर्घकालिक औसत तापमान में हुई वृद्धि को वैश्विक तापन/ग्लोबल वार्मिंग कहा जाता है | समुद्री जलस्तर में वृद्धि, ग्लेशियरों का पिघलना, वर्षा प्रतिरूप का बदलना, प्रवाल भित्तियों व प्लैंकटनों का विनाश आदि वैश्विक तापन के संभावित दुष्प्रभावों में शामिल हैं |

जानें ISRO भारतीय रेलवे को कैसे सुरक्षा प्रदान करेगा?

Jan 11, 2018
ISRO अपने इंडियन रीजनल नैविगेशन सैटेलाइट सिस्टम (IRNSS) या नेविगेशन सिस्टम नाविक (NaVIC) का उपयोग कर रहा है, जिससे भारतीय रेलवे और इसरो के बीच संयुक्त सहयोग की सहायता से रेलवे मानव रहित फाटकों पर हो रहीं दुर्घटनाओं को रोका जा सकेगा. यह लेख भारतीय रेलवे सुरक्षा के लिए इसरो द्वारा उपयोग किए जाने वाले सैटेलाइट सिस्टम से संबंधित है, यह सिस्टम किस प्रकार से सुरक्षा प्रदान करेगा, IRNSS और NaVIC प्रणाली क्या है आदि.

उबासी/जम्हाई आने के पीछे वैज्ञानिक कारण

Jan 10, 2018
उबासी लेना एक बहुत ही आम प्रक्रिया है. यह हमारे दैनिक जीवन का हिस्सा है. इसे हर कोई यहां तक की जानवर भी लेते है. अधिकतर उबासी तब आती है जब हम सोने जाते हैं या जब सोकर उठते है. आइये इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं कि हमें उबासी क्यों आती है, इसके पीछे क्या कोई वैज्ञानिक कारण है या फिर यह एक प्राकृतिक घटना है.

पृथ्वी पर 5 ऐसे स्थान जहां गुरुत्वाकर्षण काम नहीं करता हैं

Jan 10, 2018
गुरुत्वाकर्षण बल के कारण हम पृथ्वी पर चल पाते है अर्थात यह हर चीज़ को धरती की सतह से बांधे रखता है. परन्तु पृथ्वी पर कुछ ऐसे भी स्थान है जहां पर गुरुत्वाकर्षण बल शून्य हो जाता है और अजीब प्रकार की घटनाएं देखने को मिलती हैं. इस लेख के माध्यम से जानेंगे की ऐसी कौन सी जगह है जहां गुरुत्वाकर्षण बल काम नहीं करता है या फैल हो जाता हैं.

जानें शनि ग्रह में छल्ले क्यों होते हैं

Jan 9, 2018
शनि ग्रह में बड़े-बड़े छल्ले होते हैं और यह ग्रह सौरमंडल में छठे स्थान पर आता है. इसमें कितने छल्ले होते हैं, यह छल्ले कैसे बनते हैं, शनि ग्रह चमकीला क्यों है, यह ग्रह हलका पीले रंग का क्यों दिखता है आदि के बारे में इस लेख के माध्यम से अध्ययन करेंगे.

जानें हीरा क्यों चमकता है

Jan 8, 2018
हीरा यानी डायमंड ज्वैलरी में सबसे उच्च श्रेणी में आता है. यह पारदर्शी रत्न और कार्बन का शुद्धतम रूप है. सबसे ठोस होने के कारण यह पदार्थ चमकता है. इसके अन्दर प्रत्येक कार्बन परमाणु चार अन्य कार्बन परमाणुओं के साथ सह-संयोजी बन्ध द्वारा जुड़े होते है. इस लेख में हम चर्चा करेंगे कि हीरा क्यों ठोस होता है और क्यों चमकता है, कौन सा गुण होने के कारण यह चमकदार आदि बनाता है.

नोबेल पुरस्कार क्यों शुरू किये गए थे?

Jan 8, 2018
नोबेल पुरस्कार पूरी दुनिया में सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कारों में गिने जाते हैं. इन पुरस्कारों के शुरू होने के पीछे एक अख़बार में छपी गलत खबर थी. ये पुरस्कार 6 क्षेत्रों में हर साल दिए जाते हैं. एक विजेता को लगभग 7 करोड़ 22 लाख रुपये मिलते हैं.

जानें मानव शरीर के लिए नाइट्रोजन महत्वपूर्ण क्यों है?

Jan 5, 2018
नाइट्रोजन को N संकेत के द्वारा दर्शाया जाता है. यह पर्यावरण में प्रचूर मात्रा में मौजूद है, लेकिन मनुष्य इसे हवा या मिट्टी से सीधा उपयोग नहीं कर सकते हैं. परन्तु हरे पौधों और रोगाणुओं को उपयोगी रूप में बदलकर नाइट्रोजन का उपयोग किया जा सकता है. इस लेख में नाइट्रोजन महत्वपूर्ण क्यों हैं और उसका कैसे उपयोग करना चाहिए आदि के बारे में बताया गया हैं.

दुनिया की 5 सबसे खतरनाक दवाएं कौन सी हैं?

Jan 5, 2018
विभिन्न प्रकार की दवाएं अपनी अलग-अलग रासायनिक संरचना के कारण मानव शरीर को अलग-अलग तरीकों से प्रभावित कर सकती है. इन खतरनाक दवाओं की व्यक्ति को आदत हो जाती है परन्तु यह कितना हानिकारक होती है. आइये इस लेख के माध्यम से जानते है कि दुनिया की सबसे खतरनाक दवाएं कौन-सी हैं और यह कैसे व्यक्ति के शरीर को नुकसान पंहुचा सकती हैं.

मानव शरीर में उपस्थित नलिकाविहीन ग्रंथियों (Ductless Glands) की सूची

Jan 3, 2018
नलिकाविहीन ग्रंथियां (Ductless Glands) जो आंतरिक रूप से स्रावित ग्रंथियों या अंतःस्रावी ग्रंथियों के रूप में भी जानी जाती है. मस्तिष्क के निर्देशों के अनुसार यह उत्पादों को या हार्मोन को सीधे रक्त में प्रवाह करती हैं. आइए इस लेख के माध्यम से नलिकाविहीन ग्रंथियां(Ductless Glands) क्या होती है, कैसे कार्य करती हैं, मानव शरीर में यह कहा उपस्थित हैं आदि के बारे में अध्ययन करेंगे.

कोशिकीय केन्द्रक (Cell Nucleus) की संरचना एवं कार्य

Dec 28, 2017
केन्द्रक को कोशिका का नियंत्रण केंद्र भी कहा जाता है. यह कोशिका का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. इसमें कोशिका की वंशानुगत जानकारी होती है और कोशिका के विकास और प्रजनन को नियंत्रित भी करता है. इस लेख में कोशिका केन्द्रक, उसकी संरचना और कार्य के बारे में अध्ययन करेंगे.

pH में परिवर्तन का पौधों एवं जंतुओं पर प्रभाव

Dec 27, 2017
हमारे दैनिक जीवन की कई गतिविधियों में pH महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. यदि किसी घोल में हाइड्रोजन आयनों की एकाग्रता ज्यादा होती है तो उस घोल का pH मान कम होता है. किसी भी घोल का pH यह बताता है कि वह अम्लीय है या नहीं इसलिए, हम यह कह सकते हैं कि पौधों और जंतुओं के अस्तित्व के लिए pH का सही अनुपात में होना महत्वपूर्ण है. इस लेख के माध्यम से यह अध्ययन करेंगे कि pH में परिवर्तन का पौधों एवं जंतुओं पर क्या प्रभाव पढ़ता है.

राइबोसोम (Ribosome) की संरचना एवं कार्य

Dec 27, 2017
राइबोसोम सभी जीवित कोशिकाओं में पाए जाते हैं, ये अन्त:प्रद्व्यी जालिका से जुड़े रहते हैं. ये माइटोकॉन्ड्रिया, हरित लवक एवं केन्द्रक में भी पाए जाते हैं. ये प्रोटीन संश्लेषण नामक प्रक्रिया में अमीनो एसिड से प्रोटीन को बनाते हैं. आइये इस लेख के माध्यम से राइबोसोम, उसके कार्य, संरचना आदि के बारे में अध्ययन करते हैं.

जीवाणुओं का आर्थिक महत्व क्या हैं

Dec 22, 2017
जीवाणु सबसे सरल, अतिसूक्ष्म तथा एक कोशीय (unicellular), आद्य (primitive) जीव है. जीवाणुओं का पता सर्वप्रथम एंटोनी वॉन ल्यूवेन्हॉक (1683) ने लगाया था. इनको जीवाणु विज्ञान का जनक (father of bacteriology) कहा जाता है. आइये इस लेख के मध्याम से जानतें है कि जीवाणु या बैक्टीरिया का आर्थिक महत्व क्या है, कैसे ये हमारे लिए लाभकारी होते है, इनका उपयोग कहा-कहा किया जा सकता है आदि.

जानें रोबोटिक मशीन का नौकरियों पर क्या प्रभाव होगा?

Dec 21, 2017
इसमें कोई संदेह नहीं है कि प्रौद्योगिकी ने उत्पादकता के स्तर को बढ़ाया है, जिसके परिणामस्वरूप हमारे जीवन में काफी सुधार हुआ है. लेकिन ऐसा कहा जा रहा है कि आने वाले दिनों में प्रौद्योगिकी का उपयोग अब तक मनुष्य द्वारा प्रतिपादित होने वाले कार्यों में किया जाएगा. आइये इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं की रोबोटिक मशीन के आने से नौकरियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा.

विषाक्त भोजन (Food Poisoning) से होने वाली बीमारियां

Dec 20, 2017
विषाक्त भोजन या फूड पोइज़िनिंग खाने में मिलावट के कारण होती है और यह अकसर जगह बदलने से, खान-पान बदलने से हो सकती हैं. खाने में मिलावट का होना इसका मुख्य कारण है. आइये इस लेख से माध्यम से जानते है विषाक्त भोजन से होने वाली बीमारियों के बारे में.

आणविक आनुवंशिकी (Molecular Genetics) क्या है?

Dec 14, 2017
आण्विक आनुवंशिकी, आणविक स्तर पर जीनों की संरचना और कार्य से संबंधित आनुवंशिकी का एक उपखंड है. आणविक शब्दों में, एक जीन एक कार्यात्मक प्रोटीन या RNA अणु के संश्लेषण के लिए आवश्यक अनुक्रम है पूरे डीएनए का. इस लेख में आण्विक आनुवंशिकी (Molecular Genetics) के बारे में अध्ययन करेंगे.

किडनी से संबंधित बीमारियों की सूची

Dec 12, 2017
किडनी उत्सर्जन तंत्र का एक हिस्सा हैं और शारीर का महत्वपूर्ण अंग. किडनी या गुर्दे दो सेम के आकार वाले अंग हैं जो रक्त से अपशिष्ट चीजों को निकालता है, तरल पदार्थों का शारीर में संतुलन, मूत्र या यूरीन बनाता है और अन्य शारीर के मेताव्पूर्ण कार्यों में सहायता करता है. इस लेख के माध्यम से किडनी से सम्बंधित बिमारीयों के बारे में अध्ययन करेंगे.

दूरबीन का अविष्कार कैसे हुआ था?

Dec 11, 2017
दूरबीन का अविष्कार 17 वीं सदी की शुरुआत में हॉलैंड के मिडिलबर्ग शहर में रहने वाले एक चश्मा व्यापारी के बेटे द्वारा खेल-खेल में किया गया था. इस व्यापारी का नाम हेंस लिपरशी (Hans Lippershey) था. टेलीस्कोप या दूरबीन एक ऐसा यंत्र जो दूर की चीजों को पास दिखाता है. दरअसल दूरबीन का अविष्कार संयोगवश हुआ था. इसके लिए हेंस लिपरशी ने कोई विशेष कोशिश या प्रयोगशाला नही बनायीं थी और ना ही हेंस लिपरशी कोई बहुत पढ़ा लिखा वैज्ञानिक था.

प्रेषण आनुवंशिकी (Transmission Genetics) क्या है?

Nov 30, 2017
आनुवंशिक ट्रांसमिशन जीन से आनुवंशिक जानकारी का स्थानांतरण एक अन्य पीढ़ी (माता-पिता से लेकर वंश तक), लगभग आनुवंशिकता का पर्याय है. प्रेषण आनुवंशिकी की खोज कैसे हुई, यह क्यों महत्वपूर्ण है आदि के बारे में इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं.

जैव रासायनिक आनुवंशिकी क्या हैं

Nov 29, 2017
जैव रासायनिक आनुवांशिकी, आनुवांशिकी की एक वह शाखा है जिसमें जीनों (genes) के रासायनिक संरचना और उसके तंत्र के बारे में पढ़ते है, जिसके द्वारा ही जीन का नियंत्रण, विनियमित और प्रोटीन का संश्लेषण होता है. इस लेख में जीन और जैव रासायनिक एंजाइम के कार्य के संबंध में और उनके नियंत्रण के बारे में अध्ययन करेंगे.

मानव शरीर में अमीनो एसिड के कार्य क्या हैं

Nov 28, 2017
एमिनो एसिड का इस्तेमाल आपके शरीर के हर कोशिका में किया जाता है ताकी आप जीवित रह सके. सभी जीवों को कुछ प्रोटीन की आवश्यकता होती है, चाहे वे मांसपेशियां हो या फिर कोशिका. हमारे कोशिकाओं, मांसपेशियों और ऊतकों का एक बड़ा हिस्सा अमीनो एसिड का ही बना होता है, जिसका अर्थ है कि वे कई महत्वपूर्ण शारीरिक कार्यों को पूरा करते हैं. आइये इस लेख के माध्यम से अमिनो एसिड या अमिनो अम्लों के कार्यों के बारें में अध्ययन करते हैं.
CategoriesCategories

Newsletter Signup

Copyright 2017 Jagran Prakashan Limited.