Search
  1. Home
  2. GENERAL KNOWLEDGE
  3. सामान्य ज्ञान तथ्य
View in English

सामान्य ज्ञान तथ्य

  • जाने बाबासाहेब डॉ. बी. आर. अम्बेडकर के बारे में 25 अनजाने तथ्य

    भारत रत्न से सम्मानित डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर को एक विश्वस्तरीय विधिवेत्ता, दलित राजनीतिक नेता और भारतीय संविधान के मुख्य शिल्पकार के तौर पर पहचाना जाता है। लेकिन उनसे जुडी कई ऐसी बातें हैं जिससे ज्यादातर लोग अंजान है। आइए इस लेख में हम अम्बेडकर के जीवन से जुडी 25 अनजाने तथ्यों को जानने का प्रयास करते हैं|

    Apr 10, 2019
  • भारत में क्रिकेट मैच रेफरी, अंपायर और पिच क्यूरेटर को कितनी सैलरी मिलती है?

    BCCI अनुबंधित क्रिकेट खिलाडियों को चार श्रेणियों में रखता है A+, A, B और C. अब A+ ग्रेड में आने वाले खिलाड़ी को हर साल 7 करोड़ रुपये, A ग्रेड वाले खिलाड़ी को 5 करोड़ रुपये और B ग्रेड वाले को पूरे साल में 3 करोड़ रुपये दिए जायेंगे. प्रशासकों की समिति ने पांच जोनल क्यूरेटर के वेतन को दुगुना करते हुए 12 लाख रुपये प्रतिवर्ष कर दिया है. आइये जानते हैं कि अंपायर, मैच रेफरी को हर मैच के लिए कितने रुपये मिलते हैं.

    Apr 10, 2019
  • T.N. शेषन: भारत में चुनाव सुधार के पितामह

    टी. एन. शेषन को भारत में चुनाव सुधारों के पितामह के रूप में जाना जाता है. उनका जन्म 15 दिसंबर 1932 को पलक्कड़, मद्रास प्रेसिडेंसी, ब्रिटिश भारत (अब केरल, भारत) में हुआ था. तमिलनाडु कैडर के 1955 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) अधिकारी का पूरा नाम तिरुनेलई नारायण अय्यर शेषन था और वह भारत के 10वें मुख्य चुनाव आयुक्त थे.

    Apr 10, 2019
  • भारत की मुख्य योजनाएं जिन्हें विश्व बैंक की सहायता प्राप्त है?

    2 फरवरी, 2018 को भारत सरकार और विश्व बैंक ने वाराणसी से हल्दिया के बीच गंगा नदी पर अपना पहला आधुनिक अंतर्देशीय जल परिवहन विकसित करने के लिए $ 375 मिलियन के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किए. इस लेख में द्वारा भारत में विश्व बैंक की सहायता से चलायी जा रही कुछ महत्वपूर्ण योजनाओं के बारे में बताया गया है.

    Apr 10, 2019
  • स्विस बैंक में खाता खोलने के लिए क्या योग्यता होती है?

    वर्ष 1713 में जिनेवा में हुई “ग्रेट काउन्सिल ऑफ़ जेनेवा” की बैठक में बैंकों के लिए नियम बनाये गए कि वे अपने ग्राहकों की बैंक डिटेल को किसी अन्य व्यक्ति को नहीं देंगे. तभी से स्विस बैंक के खाते पूरी दुनिया में सबसे सुरक्षित खातों के रूप में मशहूर हो गये हैं. स्विट्ज़रलैंड की बैंकों में खाता खुलवाने के लिए लगभग 1 लाख डॉलर रुपयों की जरुरत होती है.

    Apr 10, 2019
  • जानें भारत के राष्ट्रीय राजमार्गों का नामकरण कैसे होता है?

    देश में राष्ट्रीय राजमार्गों का नाम रखने के लिए सभी उत्तर-दक्षिण दिशा वाले राजमार्गों के लिए सम संख्या का प्रयोग किया जाता है. इसका निर्धारण पूर्व से पश्चिम की ओर बढ़ते हुए क्रम में किया जाता है. दूसरे शब्दों में उच्च देशान्तर के लिए छोटी संख्या और निम्न देशान्तर के लिए बड़ी संख्या का प्रयोग किया जाता है. इस लेख में हम आपको यह बता रहे हैं कि राष्ट्रीय राजमार्गों का नामकरण कैसे किया जाता है.

    Apr 9, 2019
  • मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी): संरचना और उद्देश्य

    केंद्र सरकार द्वारा संशोधित RBI अधिनियम, 1934 की धारा 45ZB के अनुसार 6 सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति (MPC) का गठन किया गया है. मौद्रिक नीति समिति की पहली बैठक 3 अक्टूबर, 2016 को आयोजित की गई थी. यह समिति विभिन्न नीतिगत निर्णय लेती है जैसे रेपो रेट, रिवर्स रेपो रेट, एमएसएफ और लिक्विडिटी एडजस्टमेंट फैसिलिटी आदि से सम्बंधित होते हैं.

    Apr 8, 2019
  • व्हाट्सएप का ‘चेकपॉइंट टिपलाइन’ और उसका महत्व क्या है?

    क्या आप व्हाट्सएप द्वारा अनावरण किए गए चेकपॉइंट टिपलाइन के बारे में जानते हैं? टिपलाइन की मुख्य विशेषताएं और महत्व क्या हैं, आखिर व्हाट्सएप इस फीचर को चुनावों से पहले क्यों ला रहा है, इत्यादि. आइये इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं.

    Apr 5, 2019
  • भारत सरकार दुनिया में किस किस से कर्ज लेती है?

    भारत में लोकतान्त्रिक तरीके से चुनी गयी सरकार काम करती है इसलिए इसका मुख्य लक्ष्य लोगों के कल्याण में वृद्धि करना होता है. यदि जनहित के कार्यों के लिए सरकार के पास रुपयों की कमी पड़ती है तो वह विभिन्न स्रोतों से उधार मांगकर खर्च करती है. इस लेख में यह बताया गया है कि सरकार किन-किन तरीकों और स्रोतों से रुपया उधार मांगती है.

    Apr 5, 2019
  • चुनावी बॉन्ड क्या है, जानिए 12 रोचक तथ्य?

    केंद्र सरकार ने राजनीतिक दलों को मिलने वाले चंदे की राशि में पारदर्शिता लाने के लिए 1,000 रुपए, 10,000 रुपए, एक लाख रुपए, 10 लाख रुपए और एक करोड़ रुपए के मूल्य में चुनावी बांड जारी किये हैं. इन बांड को स्टेट बैंक की चुनिन्दा शाखाओं से खरीदा जा सकता है. इस लेख में इन चुनावी बांड्स के बारे में 12 रोचक तथ्य बताये जा रहे हैं.

    Apr 4, 2019
  • दुनिया के किन देशों में आयकर नही लगता है?

    दुनिया के हर देश में सरकारें लोगों के ऊपर आयकर लगतीं हैं और इस आयकर के रूप में इकट्ठे हुए रुपयों की मदद से लोगों के कल्याण के लिए आधारभूत संरचना का विकास करतीं हैं. लेकिन दुनिया में सऊदी अरब, क़तर और बहामास जैसे देश भी हैं जहाँ पर लोगों से आयकर नही लिया जाता है. इस लेख में ऐसे ही कुछ देशों के बारे में बताया जा रहा है.

    Apr 3, 2019
  • जानिए भारत के अपराधी ब्रिटेन में ही क्यों शरण लेते हैं?

    भारत के अपराधी ब्रिटेन में इसलिए छिपते हैं क्योंकि भारत और ब्रिटेन में क़ानूनी प्रणाली लगभग एक जैसी है. भारत और ब्रिटेन के क़ानूनी जानकार दोनों देशों के क़ानूनों को बहुत अच्छे से जानते हैं जिससे भागकर गए शख़्स को बहुत लाभ होता है. भारत और ब्रिटेन ने 1992 में प्रत्‍यर्पण संधि पर हस्‍ताक्षर किए थे. पिछले साल भारत ने ब्रिटेन को 57 भगोड़ों की लिस्‍ट सौंपी थी और ब्रिटेन ने भी भारत को 17 भगोड़ों की लिस्ट दी है.

    Apr 3, 2019
  • आप बिना एम्प्लोयेर की अनुमति के कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) का पैसा कैसे निकाल सकते हैं?

    जब कोई व्यक्ति किसी कंपनी में काम करना शुरू करता है तो उसकी बेसिक सैलरी का 12% PF के लिए काटा जाता है और इतना ही योगदान कंपनी (Employer) की तरफ से दिया जाता है | व्यक्ति की सैलरी का 12% कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) में पूरा जमा हो जाता है जबकि कंपनी द्वारा किया गये योगदान का केवल 3.67% ही EPF में जमा होता है बकाया का 8.33% कर्मचारी पेंशन योजना (Employee’s Pension Scheme-EPS) में जमा हो जाता है |

    Apr 3, 2019
  • भारत में देशद्रोह के अंतर्गत कौन कौन से काम आते हैं?

    यदि देश का कोई नागरिक देश के संसाधनों का उपयोग करता है तो उस नागरिक का यह कर्तव्य है कि जरुरत पड़ने पर देश की सेवा के लिए भी तैयार रहे. लेकिन कुछ लोग देश के संसाधनों का उपयोग देश के खिलाफ ही करने लगते हैं. इसलिए ऐसे लोगों को देश का हितैषी नहीं कहा जाता है. हालाँकि यह भी सच है कि बहुत से लोग यह नहीं जानते कि आखिर कौन से काम देशद्रोह की श्रेणी में आते हैं. इस लेख में ऐसे ही कार्यों के बारे में बताया जा रहा है जो कि देशद्रोह के अंतर्गत आते हैं.

    Apr 2, 2019
  • EMISAT क्या है और इसे लाँच करने के क्या उद्येश्य हैं?

    भारत ने इलेक्ट्रॉनिक इंटेलिजेंस सैटेलाइट EMISAT को सन सिंक्रोनस पोलर ऑर्बिट में सफलतापूर्वक प्रक्षेपित कर दिया है. EMISAT का फुल फॉर्म "इलेक्ट्रॉनिक इंटेलिजेंस सैटेलाइट" है. इसे इसरो और डीआरडीओ ने मिलकर बनाया है. इलेक्ट्रॉनिक इंटेलिजेंस उपग्रह एमिसैट को पीएसएलवी C-45 लांच व्हीकल की मदद से इसरो ने श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से लॉन्‍च किया है.

    Apr 2, 2019