1. Home
  2. GENERAL KNOWLEDGE
  3. परीक्षापयोगी सामान्य ज्ञान
  4. बैंकिंग सामान्य ज्ञान

बैंकिंग सामान्य ज्ञान

View in English
  • अनुसूचित और गैर-अनुसूचित बैंकों के बीच अंतर

    भारत के बैंकिंग क्षेत्र को मुख्य रूप से दो प्रमुख समूहों अर्थात अनुसूचित और गैर-अनुसूचित बैंकों में विभाजित किया जा सकता है. जिन बैंकों को आरबीआई अधिनियम,1934 की द्वितीय अनुसूची में शामिल किया गया है, उनको अनुसूचित बैंक (Scheduled Bank) कहा जाता है. इसके अलावा जिन बैंकों को द्वितीय अनुसूची में शामिल नही किया गया है उनको गैर-अनुसूचित बैंकों (Non-Scheduled Banks) की श्रेणी में रखा जाता है. इस लेख में इन दोनों बैंकों के बीच अंतर को बताया गया है.

    May 10, 2018
  • सबसे ज्यादा NPA वाले सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की सूची

    भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा 31 मार्च, 2004 से दी गयी नयी परिभाषा के अनुसार, जब कोई व्यक्ति बैंक से ऋण लेता है और लोन लेने की तिथि से 90 दिन बाद भी ब्याज या मूलधन का भुगतान करने में विफल रहता है तो उसको दिया गया ऋण, गैर निष्पादित परिसंपत्ति (नॉन– परफॉर्मिंग असेट) माना जाता है. 31 दिसंबर, 2017 तक देश के अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों की कुल गैर-निष्पादित संपत्तियां 8.4 ट्रिलियन रुपये तक पहुँच गयी थीं, जिसमे सबसे अधिक NPA; (24%) सार्वजनिक क्षेत्र के स्टेट बैंक का है.

    May 10, 2018
  • नया निजी बैंक खोलने के लिए किन-किन शर्तों को पूरा करना होता है?

    रिज़र्व बैंक ने नए बैंकों को खोलने के लिए फरवरी 22, 2013; को दिशा-निर्देश जारी कर दिए थे. इन दिशा निर्देशों में एक प्रावधान यह भी है कि नए बैंक के लिए पेड-अप वोटिंग इक्विटी पूंजी कम से कम 5 अरब रुपये होनी चाहिए, इसका मतलब है कि बैंक के पास 5 अरब रुपये की पूँजी हर समय मौजूद होनी चाहिए.

    May 10, 2018
  • पेमेंट बैंक और कमर्शियल बैंक में क्या अंतर होता है?

    भारत में पेमेंट बैंक और कमर्शियल बैंक दोनों ही बैंकिंग विनियमन अधिनियम, 1949 के अधीन कार्य करते हैं लेकिन फिर भी कमर्शियल बैंकों के काम का दायरा पेमेंट बैंकों की तुलना में ज्यादा बड़ा है. पेमेंट बैंक और कमर्शियल बैंक में सबसे बड़ा अंतर यह है कि कमर्शियल बैंक; लोगों से कितनी भी राशि को जमा के रूप में स्वीकार कर सकते हैं लेकिन पेमेंट बैंक एक ग्राहक से अधिकतम 1 लाख रुपए तक का जमा स्वीकार कर सकते हैं.

    May 10, 2018
  • भारत में चीन द्वारा फंड प्राप्त करने वाली कंपनियों की सूची

    भारत की सबसे बड़ी क्रय शक्ति और विशाल बाजार दुनिया भर के व्यापारियों एवं निवेशकों को आकर्षित कर रही हैl यही कारण है कि आज के समय में चीनी निवेशक और प्रौद्योगिकी उद्यमी भारत में मोबाइल गेमिंग, शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा, वित्तीय प्रौद्योगिकी और इंटरनेट से जुड़ी चीजों (आईओटी) जैसे क्षेत्रों में भारतीय स्टार्ट-अप कंपनियों के साथ विशाल मात्रा में निवेश कर रहे हैंl यहां, हम सामान्य ज्ञान की दृष्टि से भारत में चीन द्वारा फंड प्राप्त करने वाली कंपनियों की सूची दे रहे हैंl

    Feb 7, 2018
  • क्या मुद्रा स्फीति हमेशा ही अर्थव्यवस्था के लिए ख़राब होती है?

    मुद्रा स्फीति का मतलब बाजार में वस्तुओं और सेवाओं की कीमतों में लगातार वृद्धि से होता हैं. मुद्रा स्फीति की स्थिति में मुद्रा की कीमत कम हो जाती है क्योंकि उपभोक्ताओं को बाजार में वस्तुएं खरीदने के लिए अधिक कीमत चुकानी पड़ती है. ऐसी स्थिति में यह सवाल उठता है कि क्या मुद्रा स्फीति सभी लोगों और अर्थव्यवस्था के लिए लाभकारी है या नही?

    Feb 7, 2018
  • वस्तु एवं सेवा कर (GST) के बारे परीक्षोपयोगी 20 तथ्य

    वस्तु एवं सेवा कर (GST) एक अप्रत्यक्ष कर है जिसे भारत में 1 जुलाई 2017 से लागू कर दिया गया है. इस कर को लागू करने का मुख्य उद्येश्य देश में एक सामान कर व्यवस्था लागू करना है. GST के लागू होने से देश में कर चोरी कम होगी जिसके कारण सरकार की ‘कर आय’ में बहुत वृद्धि होगी. इस लेख में विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों के लिए वस्तु एवं सेवा कर (GST) से सम्बंधित 20 महत्वपूर्ण तथ्य दिए जा रहे हैं.

    Jan 4, 2018
  • व्यावसायिक बैंकों द्वारा ऋण का सर्जन किस प्रकार किया जाता है?

    इस लेख में माध्यम से आप यह जानेंगे कि किस प्रकार व्यावसायिक बैंक छोटी छोटी बचतों के माध्यम से एक बहुत बड़ी राशि जमा कर लेते हैं और इस जमा को अन्य लोगों को उधार देकर बहुत सा लाभ कमाते हैं. यह लेख बैंकों की उधार देने की प्रक्रिया को भी बताता है.

    Jan 4, 2018
  • 14वें वित्त आयोग की क्या सिफरिशें हैं और इसका गठन क्यों किया जाता है?

    भारतीय संविधान के अनुच्छेद 280 में वित्त आयोग की स्थपाना की व्यवस्था की गयी है. इसका गठन 5 वर्षों के लिए भारत के राष्ट्रपति द्वारा किया जाता है. अब तक 13 वित्त आयोग गठित किया चुके हैं और वर्तमान में 14 वें वित्त आयोग का कार्यकाल (2015-2020) चल रहा है. 14 वें वित्त आयोग का गठन रिज़र्व बैंक के पूर्व गवर्नर Y.V. रेड्डी की अध्यक्षता में किया गया है.

    Nov 14, 2017
  • भारत सरकार की आय और व्यय के स्रोत क्या हैं

    भारत सरकार ने 2017-18 के बजट में बताया था सरकार की कुल आय 2146735 करोड़ थी जबकि वित्तीय घाटा 5,46,532 करोड़ , राजस्व घाटा  3,21,163 करोड़  और प्राथमिक घाटा 23,544 करोड़ रुपये था l इन तीनों घाटों से स्पष्ट है कि सरकार की आय उसके व्यय से कम थी| सरकार इस घाटे को पूरा करने के लिए हीनार्थ प्रबंधन (Deficit  Financing) का सहारा लेती है|

    Nov 14, 2017
  • ICC अवार्ड्स 2019: विजेताओं की पूरी सूची

    अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने ICC पुरस्कार 2019 के विजेताओं की सूची घोषित कर दी है. भारतीय बल्लेबाज रोहित शर्मा को वर्ष 2019 का सर्वश्रेष्ठ ODI खिलाड़ी घोषित किया गया है, जबकि इंग्लैंड के बेन स्टोक्स को सबसे बेहतरीन क्रिकेटर चुना गया है. आइये इस लेख में ICC अवार्ड्स 2019 विजेताओं की पूरी सूची जानते हैं.

    Jan 16, 2020
  • विश्व क्षयरोग (TB) दिवस की महत्ता और क्षय रोग (TB) से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

    वर्ष 1882 में डॉ. रॉबर्ट कोच द्वारा पहली बार ट्यूबरकुलोसिस की खोज की गई थीl डॉ. रॉबर्ट कोच ने बर्लिन के “यूनिवर्सिटी ऑफ हाइजीन" में वैज्ञानिकों के एक समूह को संबोधित करते हुए कहा था कि क्षय रोग (ट्यूबरकुलोसिस) का कारण टीबी बैसिलस हैl जिस समय रॉबर्ट कोच बर्लिन में अपना संबोधन प्रस्तुत कर रहे थे, उस समय यह रोग यूरोप और अमेरिका में बहुत तेजी से फैल रहा था और प्रत्येक सात में से एक व्यक्ति की मौत हो रही थीl लेकिन रॉबर्ट कोच द्वारा की गई खोज ने लोगों के सामने एक बड़ा विकल्प प्रस्तुत किया है और लोग धीरे-धीरे क्षय रोग (TB) से निदान पाने लगे हैंl इस लेख में हम विश्व क्षय दिवस की महत्ता, क्षय रोग (TB) के संक्रमण और निदान के बारे में जानकारी दे रहे हैंl

    Mar 23, 2017
  • शैडो बैंकिंग क्या होती है और यह अर्थव्यवस्था को कैसे प्रभावित करती है?

    'शैडो बैंकिंग' शब्द 2007 में 'पॉल मैकक्लिली' ने अमेरिकी गैर-बैंक वित्तीय संस्थानों के संदर्भ में दिया थाl शैडो बैंकिंग से तात्पर्य गैर-बैकिंग वित्तीय कम्पनियों (NBFCs) द्वारा बैंकों जैसी सेवाएं देने से होता है जिससे ऐसी कम्पनियां नियामक कार्रवाइयों की परिधि से भी बाहर रहती हैं। ऐसी कम्पनियां अधिकांशत: निवेशकों और कर्जदारों के बीच बिचौलिए का काम करती हैं। उदाहरण: निवेश बैंक, म्यूचुअल फंड और हेज फंड l

    Apr 20, 2017
  • पुत्तापका (तेलंगाना) के तेलिया रूमाल को भौगोलिक संकेत का दर्जा: जानिये क्या है इसका इतिहास

    तेलिया रूमाल को 12 मई 2020 को भौगोलिक संकेत रजिस्ट्री द्वारा भौगोलिक संकेत (जीआई) टैग दिया गया है. इस रूमाल को तेलिया इस लिए कहा जाता है क्योंकि इसे बनाने में तेल का इस्तेमाल किया जाता है जिससे यह कपडा नर्म बना रहता है और एक विशेष प्रकार की खुश्बू छोड़ता है. यह रूमाल तेलंगाना के पुत्तापका गाँव में बनाया जाता है. आइये इस बारे में और विस्तार से जानते हैं.

    May 21, 2020
  • वाणिज्यिक बैंकों और सहकारी बैंकों में क्या अंतर होता है?

    भारतीय रिज़र्व बैंक आंकड़ों के अनुसार, 2017 में देश में 31राज्य सहकारी बैंक काम कर रहे हैं। भारत में केंद्रीय या जिला सहकारी बैंकों की संख्या 2013-14 में 370 थी।वर्तमान में भारत में 81वाणिज्यिक बैंक कार्यरत हैं। बैंकिंग विनियमन अधिनियम, 1949 पूरी तरह से भारत के सभी वाणिज्यिक बैंकों पर लागू होता है, जबकि सहकारी बैंक आंशिक रूप से इस अधिनियम का पालन करने के लिए बाध्य है।

    May 12, 2017
Jagran Play
रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें एक लाख रुपए तक कैश
ludo_expresssnakes_laddergolden_goalquiz_master

Just Now