Search
  1. Home
  2. सामान्य ज्ञान तथ्य
  3. पौराणिक तथ्य
View in English

पौराणिक तथ्य

  • कुंभ मेले का संक्षिप्त इतिहास: कुंभ मेले की शुरुआत किसने और कब की

    कुंभ मेले का अपना ही महत्व है. इसका आयोजन भारत में चार स्थानों पर किया जाता है. दुनिया के विभिन्न हिस्सों से लोग इस मेले में शामिल होते हैं और पवित्र नदी में स्नान करते हैं. हिंदू पौराणिक कथाओं के अनुसार, कुंभ मेला 12 वर्षों के दौरान चार बार मनाया जाता है. इसमें कोई संदेह नहीं है कि, यह मेला दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक और संस्कृति का प्रतीक है. यह मेला 48 दिनों तक चलता है. आइये इस लेख के माध्यम से कुंभ का अर्थ जानते हैं, इसे क्यों मनाया जाता है, इसके पीछे का इतिहास क्या है, किसने कुंभ मेले की शुरुआत की थी, इत्यादि. आइये लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं.

    Feb 13, 2019
  • पोंगल महोत्सव क्यों मनाया जाता है?

    भारत एक विविधतापूर्ण देश है। इसके विभिन्न भागों में भौगोलिक अवस्थाओं, निवासियों और उनकी संस्कृतियों में काफी अन्तर है। कुछ प्रदेश अफ्रीकी रेगिस्तानों जैसे तप्त और शुष्क हैं, तो कुछ ध्रुव प्रदेश की भांति ठण्डे है। भारत की त्योहारों पर नजर डालें तो ज्यादातर त्योहारों फसल कटाई के बाद ही पड़ते हैं। इस लेख में हमने पोंगल के बारे में बताया है तथा साथ ही साथ में इसके पौराणिक कथा और इतिहास पर भी चर्चा की है।

    Jan 14, 2019
  • रामायण से जुड़े 13 रहस्य जिनसे दुनिया अभी भी अनजान है

    भगवान राम और देवी सीता के जन्म एवं जीवनयात्रा का वर्णन जिस महाकाव्य में किया गया है उसे रामायण के नाम से जाना जाता हैl हम में से अधिकांश लोगों को रामायण की कहानी पता है, लेकिन इस महाकाव्य से जुड़े कुछ ऐसे भी रहस्य हैं जिनके बारे में लोगों को जानकारी नहीं हैl आज हम आपके सामने रामायण से जुड़े ऐसे ही 13 रहस्यों को उजागर कर रहे हैंl

    Oct 17, 2018
  • रामनवमी के अवसर पर जानें भगवान राम से जुड़े 11 अनजाने तथ्य

    रामनवमी का त्यौहार हिन्दू कैलेंडर के पहले महीने “चैत्र” के शुक्ल पक्ष की 9वीं तिथि को मनाया जाता हैl यह त्यौहार “भगवान राम” के जन्म से जुड़ा हुआ हैl भगवान राम अयोध्या के राजा दशरथ और रानी कौशल्या के पुत्र थेl भगवान राम के जीवन से जुड़ी विभिन्न घटनाओं एवं प्रसंगो का वर्णन रामायण में किया गया हैl रामनवमी के अवसर पर इस लेख में हम भगवान राम से जुड़े 11 ऐसे अनजाने तथ्यों का विवरण दे रहे हैं, जिसके बारे में आप शायद ही जानते होंगेl

    Oct 17, 2018
  • रावण के दस सिर किस बात का प्रतीक हैं

    रावण को राक्षस के राजा के रूप में दर्शाया गया है जिसके 10 सिर और 20 भुजाएँ थी l वह मुनि विश्वेश्रवा और कैकसी के चार बचों में सबसे बड़ा पुत्र था l रावण छह दर्शन और चारों वेदों का ज्ञाता था l इसीलिए अपने समय का सबसे विद्वान् था l इस लेख में रावण के दस सिर किस बात का प्रतीक है के बारे में बताया गया हैं l

    Oct 17, 2018
  • अमरनाथ यात्रा के बारे में 10 रोचक तथ्य

    अमरनाथ गुफा दक्षिण कश्मीर के हिमालयवर्ती क्षेत्र में है. अमरनाथ गुफा से जुड़ी कई रोचक कहानियां हैं. उनमें से कुछ दिलचस्प और कुछ आकर्षक हैं. अमरनाथ यात्रा के लिए हज़ारो श्रद्धालु दुनिया भर से आते हैं. आइये इस लेख के माध्यम से अमरनाथ यात्रा के बारे में 10 रोचक तथ्यों पर अध्ययन करते हैं.

    Jun 27, 2018
  • बुद्ध की विभिन्न मुद्राएं एवं हस्त संकेत और उनके अर्थ

    बुद्ध के अनुयायी, बौद्ध ध्यान या अनुष्ठान के दौरान शास्त्र के माध्यम से विशेष विचारों को पैदा करने के लिए बुद्ध की छवि को प्रतीकात्मक संकेत के रूप में इस्तेमाल करते हैं। भारतीय मूर्तिकला में, मूर्तियाँ देवत्व का प्रतीकात्मक प्रतिनिधित्व करती है, जिसका मूल और अंत धार्मिक और आध्यात्मिक मान्यताओं के माध्यम से व्यक्त किया जाता है।

    Mar 30, 2018
  • जानें होली का त्यौहार क्यों मनाया जाता है

    प्राचीन काल से होली का त्यौहार मनाया जाता रहा है. यह त्यौहार भारत में ही नहीं पूरी दुनिया में मनाया जाता है परन्तु यह क्यों मनाया जाता है, कबसे यह त्यौहार मनाया जाने लगा, क्या कारण है इसके पीछे. आइये इस लेख के माध्यम से अध्ययन करते हैं.

    Feb 28, 2018
  • नाथ सम्प्रदाय की उत्पति, कार्यप्रणाली एवं विभिन्न धर्मगुरूओं का विवरण

    भारत में जब तांत्रिकों और साधकों के चमत्कार एवं आचार-विचार की बदनामी होने लगी और साधकों को शाक्त, मद्य, मांस तथा स्त्री-संबंधी व्यभिचारों के कारण घृणा की दृष्टि से देखा जाने लगा तथा इनकी यौगिक क्रियाएँ भी मन्द पड़ने लगी, तब इन यौगिक क्रियाओं के उद्धार के लिए नाथ सम्प्रदाय का उदय हुआ थाl नाथ सम्प्रदाय हिन्दू धर्म के अंतर्गत शैववाद की एक उप-परंपरा हैl यह एक मध्ययुगीन आंदोलन है जो शैव धर्म, बौद्ध धर्म और भारत में प्रचलित योग परंपराओं का सम्मिलित रूप हैl इस लेख में हम नाथ शब्द का अर्थ, नाथ सम्प्रदाय की उत्पति, उसके प्रमुख गुरूओं तथा इस सम्प्रदाय के क्रियाकलापों का विवरण दे रहे हैंl

    Feb 13, 2018
  • जानें कैलाश पर्वत से जुड़े 9 रोचक तथ्य

    पौराणिक कथाओं के अनुसार कैलाश पर्वत को भगवान शंकर का निवासस्थान माना जाता है. लोगों का मानना है कि कैलाश पर्वत पर भगवान शिव अपने परिवार के साथ रहते हैं. इसके अलावा कैलाश पर्वत की चोटियों के बीच स्थित झील को “मानसरोवर झील” के नाम से जाना जाता है. कैलाश पर्वत को दुनिया के सबसे रहस्यमयी पर्वतों में से एक माना जाता है. इस लेख में हम कैलाश पर्वत से जुड़े 9 रोचक तथ्यों का विवरण दे रहे हैं.

    Feb 13, 2018
  • श्री रंगनाथस्वामी मंदिर के बारे में आश्चर्यजनक तथ्य

    श्री रंगनाथस्वामी मंदिर तिरुचिरापल्ली शहर के ‘श्रीरंगम’ नामक द्वीप पर बना हुआ है जिसे ‘भू-लोक वैकुण्ठ’ कहा जाता है. 3 नवम्बर, 2017 को इस मंदिर को बड़े पैमाने पर पुननिर्माण और बहाली के काम के बाद सांस्कृतिक विरासत संरक्षण हेतु ‘यूनेस्को एशिया प्रशांत पुरस्कार मेरिट, 2017’ (The UNESCO Asia Pacific Award of Merit 2017) प्रदान किया गया. आइये इस मंदिर के बारे में कुछ अनजाने और महत्वपूर्ण तथ्यों पर अध्ययन करते हैं.

    Dec 23, 2017
  • जानें भारत में ब्रह्माजी का एक ही मंदिर क्यों हैं

    ब्रह्मा, विष्णु और महेश त्रिमूर्ति के नाम से जाने जाते हैं. ब्रह्मा संसार के रचनाकार, विष्णु पालनहार और महेश को संहारक माना जाता है, इसलिए ये तीनो देव सबसे प्रधान देवता हैं. भारत में ही क्या सम्पूर्ण विश्व में शिव और विष्णु भगवान् के काफी मंदिर हैं परन्तु भारत में एक ऐसा स्थान है जहां केवल ब्रह्माजी का ही मंदिर हैं. आइए ऐसे मंदिर के बारें में अध्ययन करते हैं और यह कहाँ स्थित हैं.

    Sep 22, 2017
  • भारत का ऐसा मंदिर जहाँ प्रसाद में सोने के आभूषण मिलते हैं

    भारत में हर जगहों पर अधिकतर मंदिर देखने को मिलते हैं और लोग पूजा करते है अर्थार्त अपनी सामर्थ्य के अनुसार भेंट चढ़ाते है. सारे भक्तों को अधिकतर प्रसाद का इंतज़ार रहता हैं चाहे लड्डू हो, या पांच मेवा आदि. परन्तु भारत में एक ऐसा भी मंदिर जहाँ प्रसाद में खाने का पदार्थ नहीं बल्कि सोने के आभूषण या फिर नकद रूपये मिलतें हैं. आइये इस लेख के माध्यम से हम ऐसे मंदिर के बारे में जानने की कोशिश करते हैं.

    Aug 12, 2017
  • चीनी फेंगशुई और भारतीय वास्तुशास्त्र का तुलनात्मक विवरण

    'वास्तुशास्त्र' ने ज्योतिष और खगोल विज्ञान के साथ आधुनिक विज्ञान को एकजुट किया है, जबकि 'फेंगशुई' ऊर्जा संतुलन और उनके सिंक्रोनाइजेशन के बारे में बताता है. यह लेख चीनी फेंगशुई और भारतीय वास्तुशास्त्र से सम्बंधित है, जिसमें दोनों का तुलनात्मक विवरण दिया गया है और साथ ही बताया गया है कि कैसे यह हमारे जीवन में बदलाव लाता है.

    Jul 31, 2017
  • भारत के 5 ऐसे मंदिर जहां राक्षस पूजे जाते हैं

    भारत में अनेकों सभ्यताएं पाई जाती हैं एवं अलग-अलग धर्म के लोग रहते हैं. इस कारण से भारत में विभिन्न देवताओं के मंदिर पाए जाते है. परन्तु आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि भारत के कुछ सम्प्रदाय के लोगों द्वारा भगवान की ही नहीं बल्कि राक्षसों की भी पूजा की जाती है. इस लेख में उन 5 मंदिर के बारें में जिक्र कर रहे है जहाँ देवताओं की नहीं बल्कि राक्षसों की पूजा होती हैं.

    Jun 30, 2017