1. Home
  2. GENERAL KNOWLEDGE
  3. परीक्षापयोगी सामान्य ज्ञान
  4. राज्य लोक सेवा सामान्य ज्ञान

राज्य लोक सेवा सामान्य ज्ञान

View in English
  • दुनिया के ऐसे देश जिनकी मुद्रा पाउंड है

    मुद्रा विनिमय का एक माध्यम है, उदाहरण के लिए - डॉलर, पाउंड, यूरो और रुपया आदिl पौंड मुद्रा की इकाई का प्रतीक है l मानकीकरण के अंतरराष्ट्रीय संगठन (International Organization for Standardization) ने तीन अक्षर का एक कोड (ISO 4217) शुरू किया है क्योंकि कई देशों की मुद्राओं को डॉलर, पाउंड, रुपया और फ्रैंक के नाम जाना जाता हैl यहां, हम सामान्य जागरूकता की दृष्टि से उन देशों की सूची दे रहे हैं जिनकी मुद्रा पाउंड हैl

  • मौर्य इतिहास के स्त्रोत

    मौर्य साम्राज्य की नींव ने भारत के इतिहास में एक नए  युग का प्रारम्भ किया | पहली बार भारत ने  राजनीतिक समानता  को प्राप्त किया | इसके अलावा, इस युग से  इतिहास लिखना  अब और भी ज्यादा आसान हो गया क्यूंकि अब घटना क्रम व स्त्रोत बिलकुल सटीक थे | स्वदेशी और विदेशी स्त्रोतों के अलावा, इस युग का इतिहास लिखने के लिए कई शिलालेखों के दस्तावेज़ भी उपलबद्ध हैं | समकालीन साहित्य और पुरातात्विक खोज इसकी जानकारी के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हैं |

  • आईएनएस विराट दुनिया का सबसे पुराना युद्धपोत भारत के लिए क्यों महत्वपूर्ण था

    भारतीय नौसेना को 30 साल तक अपनी सेवाएं देने वाला और पांच दशक से अधिक समय तक महासागर में रहने वाला ‘आईएनएस विराट’ रिटायर हो गया है | इसे ग्रैंड ओल्ड लेडी के नाम से भी जाना जाता था | इस लेख में आईएनएस विराट की महत्वपूर्ण उपलब्धियों और उससे जुड़े कुछ तथ्यों पर नज़र डालेंगे |

    Mar 7, 2017
  • दिल्ली सल्तनत के दौरान आर्थिक स्थितियां

    दिल्ली सल्तनत के दौरान भारत की आर्थिक स्थिति बहुत संपन्न थी। वास्तव में इसी भारी धन सपंदा के कारण महमूद गजनी ने 1006 से लेकर 1023 के दौरान भारत पर 17 बार आक्रमण किया था। हर बार वह खजाने के एक बडे हिस्से  को अपने साथ ले गया था। अला-उद-दिन-खिलजी के शासनकाल के दौरान मलिक काफूर ने 1311 में दक्षिण भारत से इतना धन लूट लिया था कि उत्तर में मुद्रा के मूल्य में गिरावट होने लगी थी।

    Mar 7, 2017
  • भारत का पश्चिमी तटीय मैदान

    भारत के पश्चिमी तटीय मैदान का विस्तार गुजरात तट से लेकर केरल के तट तक है| ये मैदान वास्तव में पश्चिमी घाट के पश्चिम में विस्तृत निमज्जित तटीय मैदान हैं| इस मैदान को चार भागों में विभाजित किया जाता है- गुजरात का तटीय मैदान, कोंकण का तटीय मैदान, कन्नड़ का तटीय मैदान व मालाबार का तटीय मैदान |

    Mar 7, 2017
  • रक्त : संरचना और कार्य

    रक्त लाल रंग का तरल पदार्थ होता है जो हमारे शरीर में संचारित होता है | यह लाल रंग का इसलिए होता है क्योंकि इसकी लाल कोशिकाओं में हीमोग्लोबिन नाम का लाल रंग पाया जाता है| इस आर्टिकल में रक्त, उसकी संरचना और कार्य के बारें मे अध्धयन करेंगे |

    Mar 7, 2017
  • गंगा नदी की नदी घाटी परियोजनाए

    भारत में बहुउद्देशीय नदी घाटी परियोजनाओं को कृषि के लिए सिंचाई, उद्योगों के लिए बिजली और बाढ़ नियंत्रण की महत्वपूर्ण आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए शुरू किया गया । जवाहर लाल  नेहरू ने  बांधों को " आधुनिक भारत का मंदिर' कहा है, इस तथ्य से उस समय में बांधों के महत्व का अनुमान लगाया जा सकता है ।

    Mar 7, 2017
  • भारत सरकार अधिनियम - 1935

    भारत सरकार अधिनियम-1935  में यह अधिकथित था कि,यदि आधे भारतीय राज्य संघ में शामिल होने के लिए सहमत होते है तो, भारत को एक संघ बनाया जा सकता है| इस स्थिति में उन्हें केंद्रीय विधायिका के दोनों सदनों में अधिक प्रतिनिधित्व प्रदान किया जायेगा, लेकिन संघ से सम्बंधित प्रावधानों को लागू नहीं किया जा सका| इस अधिनियम में स्वतंत्रता की बात तो दूर , भारत को डोमिनियन का दर्जा देने की भी कोई चर्चा नहीं की गयी थी क्योकि  इस अधिनियम का प्रमुख उद्देश्य भारत सरकार को ब्रिटिश सम्राट के अधीन लाना था|

    Mar 7, 2017
  • भारत के प्राचीन ऐतिहासिक स्मारक एवं उसके निर्माणकर्ताओं की सूची

    कला हमारी संस्कृति की एक बहुमूल्य विरासत है। जब हम कला के बारे में बात करते हैं तो हमारा तात्पर्य वास्तुकला, मूर्तिकला और चित्रकला से होता है| यहाँ हम भारत के प्राचीन ऐतिहासिक स्मारकों एवं उसके निर्माणकर्ताओं की सूची दे रहे हैं जो UPSC-prelims, SSC, State Services, NDA, CDS, and Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है|

    Mar 7, 2017
  • मध्यपाषाणकालीन एवं नवपाषाणकालीन भारतीय स्थलों की सूची

    मध्य पाषाणकाल की प्रमुख विशेषता छोटे नुकीले और तेज धार वाले पत्थर के औजार हैं, जबकि नवपाषाणकाल की प्रमुख विशेषता चिकने पत्थर के उपकरणों का प्रयोग और कृषि की शुरुआत है| यहाँ हम मध्यपाषाणकालीन एवं नवपाषाणकालीन भारतीय स्थलों की सूची दे रहे हैं जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है|

    Mar 7, 2017
  • 1861 का अधिनियम

    भारतीय परिषद् अधिनियम-1861 का निर्माण देश के प्रशासन में भारतीयों को शामिल करने के उद्देश्य से बनाया गया था|इस अधिनियम ने सरकार की शक्तियों और कार्यकारी व विधायी उद्देश्य हेतु गवर्नर जनरल की परिषद् की संरचना में बदलाव किया| यह प्रथम अवसर था जब गवर्नर जनरल की परिषद् के सदस्यों को अलग-अलग विभाग सौंपकर विभागीय प्रणाली की शुरुआत की| इस अधिनियम ने सरकार की शक्तियों और कार्यकारी व विधायी उद्देश्य हेतु गवर्नर जनरल की परिषद् की संरचना में बदलाव किया|

    Mar 7, 2017
  • सिन्धु घाटी सभ्यता (हड़प्पा सभ्यता) का संक्षिप्त विवरण

    सिंधु घाटी सभ्यता दुनिया की चार प्रारम्भिक सभ्यताओं (मेसोपोटामिया या सुमेरियन सभ्यता, मिस्र सभ्यता और चीनी सभ्यता) में से एक है| यहाँ हम सिन्धु घाटी सभ्यता (हड़प्पा सभ्यता) का संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत कर रहे हैं जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है|

    Dec 29, 2016
  • भारत में उच्च न्यायालयों के नाम एवं उनका न्यायिक क्षेत्र

    उच्चतम न्यायालय की ही तरह उच्च न्यायालय को भी व्यापक एवं प्रभावी शक्तियां दी गयीं हैंl यह न्यायालय राज्य में अपील करने का सर्वोच्च न्यायालय होता हैl यह नागरिकों के मूल अधिकारों का रक्षक होने के साथ-साथ संविधान की व्याख्या करने का अधिकार भी रखता हैl इस समय भारत में कुल 24 उच्च न्यायालय हैं l

    Mar 24, 2017
  • नदी के पानी की उपयोगिता

    भारत की नदियों  में प्रति वर्ष भारी मात्रा में पानी आता है लेकिन यह असामान्य तौर पर दोनों, समय और विस्तार में वितरित किया जाता है । कुछ बारहमासी नदिय साल भर पानी ले जाती है जबकि कुछ गैर - बारहमासी नदियों में शुष्क मौसम के दौरान बहुत कम पानी होता है। बरसात के मौसम के दौरान पानी बाढ़ में बर्बाद हो जात है और समुद्र में नीचे बह जाता है। इसी तरह जब देश के एक हिस्से में एक बाढ़ आती है तो अन्य क्षेत्रो में  सूखा पड जाता है।

    Aug 10, 2016
  • डेजेरियो और यंग बंगाल

    1820 के दशक अंतिम समय और 1830 के दशक प्रारंभ में बंगाल के युवाओं में एक उग्र/क्रांतिकारी,प्रबुद्ध और बुद्धिजीवी चलन का उदय हुआ जिसे ‘यंग बंगाल आन्दोलन’ के नाम से जाना गया| एक युवा आंग्ल-भारतीय,हेनरी विवियन डेरेजियो,जिन्होनें 1826 से लेकर 1831 तक हिन्दू कॉलेज में अध्यापन किया था,इस प्रगतिशील आन्दोलन के नेता और प्रेरक थे| डेरेजियो ने कलकत्ता के युवाओं को व्यवहारिक रूप से प्रभावित किया और उनके बीच एक बौद्धिक आन्दोलन की शुरुआत की|

    Aug 10, 2016
Jagran Play
रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें एक लाख रुपए तक कैश
ludo_expresssnakes_ladderLudo miniCricket smash

Just Now