राजस्थान के बारे में बीस महत्वपूर्ण तथ्य

राजस्थान या राजाओं की भूमि पुराने और नए, प्राचीन और आधुनिक सांस्कृतिक विरासत का सबसे अच्छा उदाहरण है। भव्य किलों और राजसी महलों जो अमीरी, रोमांस से भरे अतीत की वीरगाथा गाते, सम्मान और शिष्टता की याद दिलाते हैं, के साथ इस राज्य का नाम राजस्थान बिल्कुल सही रखा गया है। क्षेत्रफल (342,239 वर्ग किमी.) के लिहाज से राजस्थान भारत का सबसे बड़ा राज्य है। यह देश के पश्चिमी हिस्से में स्थित है और भारत के कुल क्षेत्रफल के 10.4% क्षेत्र पर फैला हुआ है । यहां सबसे चौड़ा और नहीं रहने योग्य थार रेगिस्तान है (इसे "राजस्थान रेगिस्तान" और "ग्रेट इंडियन डेजर्ट" भी कहते हैं)। यह सतलुज– सिंधु नदी घाटी के साथ उत्तर पश्चिम में पाकिस्तान के पंजाब प्रांत और पश्चिम में सिंध प्रांत के साथ सीमा साझा करता है।

Image spurce:pnakhata.raj.nic.in

क्षेत्रफल

342,239 वर्ग कि.मी. (क्षेत्रफल के मामले में भारत का सबसे बड़ा राज्य )

आबादी

6.85 करोड़ (2011 की जनगणना)

भाषा

आधिकारिक भाषा (हिन्दी), अतिरिक्त आधिकारिक भाषा (अंग्रेजी, पंजाबी), राजस्थानी ( देवनागरी भारतीय– आर्य भाषा परिवार की एक भाषा है). मारवाड़ी, मारुवानी।

जलवायु

राजस्थान में उष्णकटिबंधीय रेगिस्तानी जलवायु है। अक्टूबर से फरवरी के महीने में कड़ाके की ठंड पड़ती है जबकि मार्च से सितंबर महीने में चिलचिलाती धूप और बेहद गर्मी रहती है।

राजधानी 

जयपुर

लोकसभा सदस्य

25

विधानसभा

एक सदनीय  

प्रमुख शहर (आबादी के लिहाज से)

जयपुर (3,073,349), जोधपुर (1,138,300), कोटा (1,001,365),

बीकानेर (647,804), अजमेर (551,101), उदयपुर (474,531), भीलवाड़ा (360,009)

झीलें

राजसमंद झील, सांभर झील, उदय सागर झील, नक्की झील, कल्याण झील, राज बाघ तालाव, मलिक तालाव, लेक फतेह सागर, गडसीसर झील, लेक पिछोला, स्वरूप सागर झील आदि

औसत सालाना

वर्षा (मिमी)

313-675

थार रेगिस्तान  (रेगिस्तानी जिले )

जैसलमेर, बाड़मेर, बीकानेर और जोधपुर ( थार रेगिस्तान या ग्रेट इंडियन डेजर्ट राजस्थान के कुल 70% इलाके में फैला है और इसलिए इसे "भारत का रेगिस्तानी राज्य" के नाम से जाना जाता है)

अर्थव्यवस्था का आकार  

101.296 बिलियन अमेरिकी डॉलर, कृषि आधारित अर्थव्यवस्था

साक्षरता

66.11 %

जिले

33

लिंग अनुपात  (2011 की जनगणना के अनुसार)

928 प्रति हजार पुरुष

शिशु लिंग अनुपात

888 (2011 की जनगणना )

प्रमुख लोक नृत्य

भावई नृत्य, चारी नृत्य, ढोल नृत्य, आग नृत्य, गैर नृत्य, घूमर नृत्य ( भील आदिवासियों द्वारा), कच्ची घोड़ी नृत्य, केलबेलिया नृत्य ( सपेरा नृत्य या स्नेक चारमर), कथक नृत्य, कठपुतली नृत्य

मेले और त्योहार

रेगिस्तान महोत्सव, जैसलमेर, नागौर मेला, पुष्कर मेला, पुष्कर, ग्रीष्म महोत्सव, माउंट आबू, मारवाड़ महोत्सव, जोधपुर, ऊंट दौड़ महोत्सव, बीकानेर, गणगौर महोत्सव, जयपुर, तीज महोत्सव, जयपुर, मेवाड़ महोत्सव, उदयपुर, उर्स महोत्सव, अजमेर, कैला देवी महोत्सव (करौली), दशहरा (कोटा) 

विश्व धरोहर स्थल

 

 

नोम पेन्ह, कंबोडिया में विश्व धरोहल समिति (डब्ल्यूएचसी) के 37वें सत्र में छह महलों– छत्तीसगढ़, कुंभलगढ़, जैसलमेर, रंथम्भौर (सवाई माधोपुर), गागरन (झालवाड़) और अम्बर (जयपुर)— को विश्व धरोहर स्थल श्रृंखला के तौर पर मान्यता प्रदान की गई।

प्रमुख फसल

जौ, गेहूं, चना, दालें, तिलहन, बाजरा, ज्वार, मक्का, मूंगफली, फल और सब्जियां एवं मसाले आदि

प्रमुख खनिज  

वोल्लास्टोनाइट (100%), जैस्पर (100%), जस्ता सांद्र (99%), फ्लोराइट (96%), जिप्सम (93%), संगमरमर (90%), ऐस्बेस्टस (89%), कैलसाइट (70%), फॉस्फेट की चट्टानें(75%), अभ्रक, तांबा, चांदी, पेट्रोलियम

Advertisement

Related Categories