Advertisement

राष्ट्रमण्डल खेलों के बारे में 12 रोचक तथ्य

कॉमनवेल्थ ब्रिटिश साम्राज्य का हिस्सा रहे देशों का इंटरगवर्नमेंट आर्गेनाईजेशन है. आधुनिक कॉमनवेल्थ का गठन 26 अप्रैल 1949 को लन्दन घोषणा के जरिये किया गया था. वर्तमान में कॉमनवेल्थ या राष्ट्रमण्डल में 53 देश शामिल हैं. इन 53 देशों में सिर्फ मोजाम्बिक ही ऐसा देश है जो कि कभी भी ब्रिटिश साम्राज्य का हिस्सा नहीं रहा है लेकिन फिर भी कॉमनवेल्थ का सदस्य है. हालाँकि अमेरिका ब्रिटिश साम्राज्य का हिस्सा रहा है लेकिन फिर भी कॉमनवेल्थ का सदस्य नहीं है.

आइये जानते हैं कि राष्ट्रमण्डल खेलों के बारे में 12 रोचक तथ्य क्या है?

1. जार्ज पंचम की ताजपोशी के उपलक्ष्य में 1911 में “फेस्टिवल ऑफ़ एम्पायर” का आयोजन किया गया था जिसके चलते ही राष्ट्रमण्डल खेलों को शुरू करने का विचार आया था.

2. पहले राष्ट्रमण्डल खेल 1930 में कनाडा के हेमिल्टन शहर में आयोजित किए गए और इसमें 11 देशों के 400 खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया था.

3. भारत ने पहली बार 2010 में राष्ट्रमण्डल खेलों की मेजवानी की थी.

4.  भारत का राष्ट्रमण्डल खेलों में सबसे अच्छा प्रदर्शन दिल्ली में आयोजित खेलों के दौरान रहा था जिसमें भारत ने कुल 101 मेडल जीतकर दूसरा स्थान हासिल किया था.

5. भारत; राष्ट्रमण्डल खेलों में अब तक कुल 16 बार भाग ले चुका है.

6. भारत ने राष्ट्रमण्डल खेलों में कुल 438 मेडल जीते हैं जिनमें 155 स्वर्ण पदक,155 रजत पदक और 128 कांस्य पदक शामिल हैं.

7. अभी हाल के 21 वें राष्ट्रमण्डल खेल ऑस्ट्रेलिया के शहर “गोल्ड कोस्ट” में आयोजित किये जा रहे हैं.

8. पांचवीं बार ऑस्ट्रेलिया में होने वाले राष्ट्रमण्डल खेलों में 19 प्रकार के खेल शामिल किये गए हैं.

9. ऑस्ट्रेलिया में होने वाले 21 वें राष्ट्रमण्डल खेलों में 53 देशों की 71 टीमें हिस्सा ले रहीं हैं.

10. राष्ट्रमण्डल खेल धरती के 20% भूभाग और 33% आबादी का प्रतिनिधित्व करते हैं.

11. ओलम्पिक और एशियन खेलों के बाद खेलों की दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा आयोजन राष्ट्रमण्डल खेलों का ही होता है. ओलम्पिक -2016 में 11238 खिलाडियों ने भाग लिया था और ऑस्ट्रेलिया के खेलों में 4947 खिलाड़ी भाग ले रहे हैं.

12. अब तक केवल 6 देश ही ऐसे हैं जिन्होंने अब तक आयोजित सभी राष्ट्रमण्डल खेलों में हिस्सा लिया है. ये देश हैं; ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, स्कॉटलैंड और वेल्स.
उम्मीद है कि ऑस्ट्रेलिया में जारी 21 वें राष्ट्रमंडल खेलों में भारत अपना “दिल्ली” वाला सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दोहराएगा और मेडल लिस्ट में टॉप थ्री में स्थान हासिल करने के साथ-साथ अपने पदकों की कुल संख्या को भी 500 के पार ले जायेगा.

किसी शतरंज खिलाडी को ग्रेंड मास्टर कब कहा जाता है?

Advertisement

Related Categories

Advertisement