Advertisement

सर डोनाल्ड ब्रैडमैन के बारे में 7 रोचक तथ्य

दुनिया में शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति हो जो कि क्रिकेट का बहुत शौक़ीन हो लेकिन सर डोनाल्ड ब्रैडमैन के नाम को ना जानता हो. सर डोनाल्ड ब्रैडमैन को आज तक क्रिकेट की दुनिया में सबसे बेहतरीन टेस्ट खिलाड़ी माना जाता है. सर डोनाल्ड ब्रैडमैन को उनके शोर्ट नाम "डॉन" के नाम से जाना जाता था और विश्व के गेंदबाजों के लिए वे एक “डॉन” से कम भी नहीं थे. ब्रैडमैन के अन्य उपनाम हैं; द डॉन, द बोय फ्रॉम बोवरल, ब्रेडल्स.
ब्रैडमैन ने 20 वर्ष टेस्ट क्रिकेट खेली और 1948 में सन्यास ले लिया था लेकिन उनके बनाये गए कई रिकॉर्ड आज भी कायम हैं. आइये इस लेख में सर डोनाल्ड ब्रैडमैन के बारे में कुछ रोचक तथ्य जानते हैं.

आईसीसी क्रिकेट “हॉल ऑफ़ फेम” में शामिल भारतीय क्रिकेटरों की सूची

1. सर डोनाल्ड ब्रैडमैन का जन्म 27 अगस्त, 1908, न्यू साउथ वेल्स, ऑस्ट्रेलिया में हुआ था. आज 27 अगस्त को ब्रैडमैन का जन्मदिन है इसलिए गूगल ने उनके ऊपर आज डूडल बनाया है.

2. सर डोनाल्ड ब्रैडमैन ने अपना टेस्ट करियर 30 नवंबर 1928 को इंग्लैंड में खिलाफ शुरू किया था. लेकिन ब्रैडमैन के टेस्ट करियर का आगाज बहुत धमाकेदार नहीं था उन्होंने पहली पारी में 18 और दूसरी पारी में केवल 1 रन बनाया था और इंग्लैंड ने यह टेस्ट मैच 675 रन से जीता था.

3. सर डोनाल्ड ब्रैडमैन ने अपने करीयर में सिर्फ 52 टेस्ट मैचों में 99.94 की औसत से 6996 रन बनाये थे. ब्रैडमैन के बनाये गए रिकॉर्ड इस प्रकार हैं;

4. ब्रैडमैन ने अपने टेस्ट करियर में 12 दोहरे शतक, 29 शतक और 13 अर्थशतक लगाये थे. लेकिन सबसे चौकाने वाली बात यह थी कि उन्होंने अपने करियर में केवल 6 छक्के ही लगाये थे जबकि चौकों की संख्या 681 थी. ब्रैडमैन के 12 टेस्ट शतकों के रिकॉर्ड को कोई भी खिलाड़ी अभी तोड़ नहीं पाया है. हालाँकि कुमार संगकारा ने 11 दोहरे शतक जरूर बनाये हैं जबकि कोहली और तेंदुलकर ने 6-6  दोहरे शतक ही बनाये हैं.

5. डॉन ब्रैडमैन ने टेस्ट मैच में सबसे बड़ा स्कोर 334 रन बनाया था जबकि प्रथम श्रेणी क्रिकेट में उनका सर्वोच्च स्कोर 452 रन था. इन्ही उपलब्धियों के कारण उनको 19 नवम्बर 2009 को आईसीसी हाल ऑफ फेम में शामिल किया गया था.

6. सर डोनाल्ड ब्रैडमैन की महानता को स्वीकार करते हुए ऑस्ट्रेलिया की सरकार ने उनके नाम पर डाक टिकट जारी किये और 27 अगस्त 2008 को इनकी जन्मशती पर ऑस्ट्रेलिया में $5 मूल्य की स्वर्ण मुद्राएँ भी जारी की गईं थीं.

7. ब्रैडमैन ने अपने करियर का अंतिम टेस्ट मैच 14 अगस्त 1948 को इंग्लैंड के खिलाफ ही खेला था. इस टेस्ट की पहली पारी में ब्रैडमैन शून्य पर आउट हो गये थे इसलिए उनका औसत 100 ना होकर 99.94 ही रह गया था. ऑस्ट्रेलिया ने यह टेस्ट मैच एक पारी और 149 रन से जीता था यह जीत डॉन ब्रैडमैन के लिए एक शानदार बिदाई थी.

तो ऊपर दिए गये आकंडे इस बात की पुष्टि करते हैं कि डॉन ब्रैडमैन अपने समय के महानतम बल्लेबाज थे और उम्मीद है कि उनके बनाये गए रिकॉर्ड और भी कई वर्षों तक बने रहेंगे.

एशियाई खेल: इतिहास और आयोजन स्थलों की सूची
क्रिकेट में "यो-यो टेस्ट" किसे कहते हैं?

Advertisement

Related Categories

Advertisement