Jagranjosh Education Awards 2021: Click here if you missed it!
Next

जानिए भारत के पहले एसी 3-टियर इकॉनमी क्लास कोच के बारे में

भारतीय रेलवे यात्रियों के सफर को आरामदायक बनाने के लिए एसी थ्री-टियर इकॉनमी क्लास कोच (AC 3-Tier economy class coach) को लेकर आया है। इस कोच को रेल मंत्रालय ने दुनिया का सबसे सस्ता और सबसे बेहतरीन एसी कोच करार दिया है। 

ये कोच थर्ड एसी और स्लीपर क्लास श्रेणी के बीच के होंगे और दिखने में सामान्य कोच से अलग होंगे। इस कोच के आने के बाद रेलगाड़ी से सफर करना पहले की तुलना में और ज़्यादा आरामदायक, सुविधाजनक और सस्ता होगा। बता दें कि अभी तक भारतीय रेल में एसी कोच में तीन क्लास थे-- फर्स्ट एसी, सेकेंड एसी और थर्ड एसी। 

Innovative AC 3 tier economy class coach manufactured in Rail Coach Factory, Kapurthala in Punjab.

⬆️ Passenger capacity increased with new design

⏹ Ergonomic ladder & luminescent aisle markers

⏺ Disabled-friendly toilet entry doors

Watch on Koo: https://t.co/U9BTZdgy47 pic.twitter.com/aMcfVmkscY

— Piyush Goyal (@PiyushGoyal) February 11, 2021

मुख्य बिंदु:

1- एसी थ्री-टियर इकॉनमी क्लास कोच में बर्थ की संख्या बढ़ाकर 72 से 83 कर दी गई है जिससे ज़्यादा यात्री सफर कर सकें। इस कोच में बर्थ की संख्या को बढ़ाने के लिए रेलवे ने पहली बार हाई वोल्टेज इलेक्ट्रिक स्विचगियर को कोच के अंदर से हटा कर ट्रेन के निचले हिस्से में लगाया है। 

2- हर कोच में दिव्यांग लोगों की सुगमता के हिसाब से शौचालय का दरवाजा तैयार किया गया है। इसके साथ ही दिव्यांगों के लिए कोच में चढ़ने और उतरने के लिए भी खास व्यवस्था की गई है।

3- यात्रियों की सुविधा के लिए हर बर्थ पर एसी 'डक्ट' लगाया गया है जो ठंडी हवा प्रदान करता है। मौजूदा वक्त में कोच में ऊपर की तरफ एसी वेंट मौजूद होता है।

4- यात्रियों की सुविधा के लिए हर बर्थ में निजी लाइट लगाई गई है जिससे यात्री आराम से पढ़ सकते हैं।

5- एसी थ्री-टियर इकॉनमी क्लास कोच में हर बर्थ पर चार्जिंग प्वाइंट भी दिया गया है।  

6- आपातकालीन स्थिती के दौरान बचाव के लिए आधुनिक इंतजाम किए गए हैं।

7- शौचालयों को दोनों शैली में बनाया गया हैं-- भारतीय और पश्चिमी।

8- मध्य और ऊपरी बर्थ के बीच की जगह को यात्रियों की सुविधा के लिए बढ़ाया गया है।

9- इस कोच में रात की रोशनी के साथ इंटीग्रेटेड बर्थ इंडिकेटर्स में ल्यूमिनेसेंट आइज़ल मार्कर दिए गए हैं।

जानें ICF और LHB कोच में क्या अंतर है?

अक्टूबर 2020 से एसी थ्री-टियर इकॉनमी क्लास कोच के डिज़ाइन पर रेल कोच फैक्टरी ने अनवरत काम किया। रेल कोच फैक्टरी (RCF) कपूरथला द्वारा तैयार किए गए पहले एसी थ्री-टियर इकॉनमी क्लास को परीक्षण के लिए लखनऊ के अनुसंधान डिजाइन और मानक संगठन (RDSO) के पास भेजा गया है। रेल कोच फैक्टरी (RCF) कपूरथला द्वारा इस वर्ष ऐसे लगभग 250 कोच बनाए जाएँगे। 

रेलवे अधिकारियों के मुताबिक, ये कोच किफायती होंगे और मौजूदा एसी थ्री-टियर और गैर एसी वर्ग के डिब्बों के बीच की श्रेणी में रखे जाएंगे। एसी थ्री-टियर इकॉनमी क्लास कोच को किफायती बनाने कि लए थर्ड एसी कोच का किराया बढ़ाया जाएगा। एसी थ्री-टियर इकॉनमी क्लास कोच का किराया थर्ड एसी कोच से कम होगा। 

भारतीय रेलवे ICF कोच को LHB कोच में क्यों बदल रहा है?

Related Categories

Also Read +
x

Live users reading now