रेलवे में टर्मिनल, जंक्शन और सेंट्रल स्टेशन के बीच क्या अंतर होता है?

रेलवे मंत्रालय के तहत भारत सरकार द्वारा संचालित भारतीय रेलवे एशिया का सबसे बड़ा रेल नेटवर्क और विश्व का चौथा सबसे बड़ा रेल नेटवर्क है. भारत में रेलवे पटरी 92,081 किलोमीटर में फैली हुई है जो 66,687 किलोमीटर की दूरी को कवर करती है. रेल यात्रा हम सबके जीवन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. सबसे अविस्मरणीय रेल यात्रा को माना जाता है. इसके जरिये आराम से कहीं भी पहुंचा जा सकता है. जब आप सफ़र करते हैं तो आपने देखा होगा कि रास्ते में टर्मिनल, जंक्शन और सेन्ट्रल स्टेशन पड़ते हैं. क्या आपने कभी जानने की कोशिश की है कि इनके बीच क्या अंतर होता है. आइये इस लेख के माध्यम अध्ययन करते हैं.

हम आपको बता दें की रेलवे स्टेशन को मूल रूप से तीन भागों में बांटा गया है: टर्मिनस/टर्मिनल, सेंट्रल, जंक्शन और सिर्फ स्टेशन

1. टर्मिनस/टर्मिनल


ट्रैक के समाप्त होने पर एक स्टेशन को टर्मिनस या टर्मिनल कहा जाता है. ये वो स्टेशन होता है जहां से ट्रेन आगे नहीं जाती है यानी ट्रेन केवल एक ही दिशा में प्रवेश कर सकती है. इसे ऐसे भी समझा जा सकता है कि जिस दिशा से ट्रेन टर्मिनल स्टेशन पर पहुंचती है और दूसरी जगह जाने के लिए उसे उसी दिशा में वापिस आकर फिर से गुजरना पड़ता है.

क्या आप जानते हैं कि छत्रपति शिवाजी टर्मिनल/ विक्टोरिया टर्मिनस और लोकमान्य तिलक टर्मिनल देश के सबसे बड़े टर्मिनल स्टेशन हैं. अन्य बांद्रा टर्मिनस, हावड़ा टर्मिनस, भावनगर टर्मिनल, कोचीन हार्बर टर्मिनस इत्यादि टर्मिनल स्टेशन  हैं.

भारतीय रेलवे स्टेशन बोर्ड पर ‘समुद्र तल से ऊंचाई’ क्यों लिखा होता है

2. सेंट्रल


Source: www.techstory.in.com

सेंट्रल स्टेशन का मतलब होता है कि यह शहर का सबसे व्यस्त और सबसे महत्वपूर्ण स्टेशन है. सेंट्रल स्टेशन आमतौर पर बहुत बड़ा होता है और कई ट्रेनें यहां से रोज़ाना गुज़रती हैं. ये भी ज़रूरी नहीं कि किसी शहर में एक से ज़्यादा स्टेशन होने पर वहां कोई सेंट्रल स्टेशन भी हो ही. जैसे कि भारत की राजधानी दिल्ली का कोई सेंट्रल स्टेशन नहीं है. यह सबसे पुराना स्टेशन भी हो सकता है इसलिए इसे सेंट्रल कहा जाता है. भारत में कुल 5 सेन्ट्रल स्टेशन हैं: त्रिवेंद्रम सेंट्रल, कानपूर सेंट्रल, मैंगलोर सेंट्रल, मुंबई सेंट्रल और चेन्नई सेंट्रल.

3. जंक्शन

Source: www.indiarailinfo.com

यदि एक स्टेशन से कम से कम 3 मार्ग निकलते हों तो उस स्टेशन को जंक्शन कहा जाता है. यानी की ट्रेन कम से कम एक साथ दो रूट से आ भी सकती है और जा भी सकती है. सबसे ज़्यादा रूट्स वाला जंक्शन मथुरा का है. यहां से सात रूट निकलते हैं. सेलम जंक्शन से छः, विजयवाड़ा से पांच और बरेली जंक्शन से 5 रूट निकलते हैं.

अब आप जान गए होंगे की रेलवे में टर्मिनल, जंक्शन और सेंट्रल स्टेशन के बीच क्या अंतर होता है.

रेलवे से जुड़े ऐसे नियम जिन्हें आप नहीं जानते होंगे

रेलवे से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण चिह्न एवं उनके अर्थ

Advertisement

Related Categories