Advertisement

क्या आप ऑक्सीजन न्यूनतम क्षेत्र और अक्रिय क्षेत्र के बारे में जानते हैं

ऑक्सीजन पृथ्वी पर जीवन का एक केंद्रीय तत्व है क्योंकि यह एरोबिक श्वसन में मदद करता है जो चीनी (ग्लूकोज) या C6H12O6 को CO2 और H2O  परिवर्तित करता है जिससे कोशिकाओं को संचालित करने के लिए आवश्यक ऊर्जा मिलती है।

ऑक्सीजन न्यूनतम क्षेत्र (Oxygen Minimum Zone) किसे कहते हैं?

Source: images.slideplayer.com

जल निकायों जैसे महासागर का वो क्षेत्र जहां ऑक्सीजन संतृप्ति सबसे कम होती है उसे ऑक्सीजन न्यूनतम क्षेत्र (Oxygen Minimum Zone) कहते हैं। इसे छाया क्षेत्र के रूप में भी जाना जाता है। यह जल निकायों का एक ऐसा स्थान होता है जहां जलीय जीवन संभव नहीं होता। यह स्थानीय परिस्थितियों के आधार पर लगभग 200 से 1000 मीटर की गहराई को संदर्भित करता है। हालांकि, यह विश्व भर में पाया जाता है, लेकिन महाद्वीपों के पश्चिमी तट पर बहुत प्रचलित है। यह महासागरों में कार्बन और नाइट्रोजन चक्र को नियंत्रित करने में मदद करता है।

कार्बन पदचिह्न और कार्बन ऑफसेटिंग क्या हैं?

प्रक्रियाएं जो पानी में ऑक्सीजन को कम करती हैं

हवा और लहरों से सतह के पानी के मिश्रण के माध्यम से ऑक्सीजन को विलय या पानी में अवशोषित किया जा सकता है। लेकिन पानी में तापमान और लवणता बढ़ने पर ऑक्सीजन की घुलनशीलता या पानी में घुलने की इसकी क्षमता कम हो जाती है। मानव गतिविधियों द्वारा समुद्र के तापमान और परिसंचरण स्वरूप में परिवर्तन होने की वजह से पानी में ऑक्सीजन न्यूनतम क्षेत्र (Oxygen Minimum Zone) का  विस्तार हो रहा है।

अक्रिय क्षेत्र (Dead Zone) क्या होता है?

Source: en.wikipedia.org

इसे हाइपोक्सिया भी कहा जाता है, जिसका अर्थ है पानी में ऑक्सीजन का स्तर कम होना। ग्लोबल एनवायरनमेंट आउटलुक ईयर बुक, 2003 के मुताबिक, दुनिया के महासागरों में 146 अक्रिय क्षेत्र (Dead Zone) या मृत क्षेत्र हैं जहां ऑक्सीजन की कमी के कारण जलीय जीवन संभव नहीं हो सकता,  जो अब 400 से अधिक हो गए हैं और आने वाले दिनों में और भी हो सकते हैं। वैसे तो इस तरह के क्षेत्र का विकास प्राकृतिक होता है लेकिन समकालीन युग में मनुष्यों पोषक तत्व प्रदूषण के कारण भी हो रहा है।

कार्बन चक्र और वैश्विक कार्बन बजट क्या हैं?

अक्रिय क्षेत्र (Dead Zone) या मृत क्षेत्र के विकास का कारण

यह जैविक, रासायनिक और भौतिक कारकों के बीच एक परस्पर क्रिया के कारण होता है जिसकी नीचे चर्चा की गयी है:

1. पानी में रासायनिक पोषक तत्वों में वृद्धि, जिससे शैवाल के अत्यधिक खिलने में मदद करती हैं जो जल निकायों के निचले स्तर पर ऑक्सीजन के एकाग्रता को कम करते हैं।

2. नाइट्रोजन और फास्फोरस का कृषि प्रवाह के कारण भी जल निकायों में ऑक्सीजन के एकाग्रता हो जाती है।

3. अनुपचारित मलप्रवाह-पद्धति, वाहन और औद्योगिक उत्सर्जन और यहां तक कि प्राकृतिक कारक भी जल निकायों में ऑक्सीजन के एकाग्रता को कम करती हैं।

पर्यावरण और पारिस्थितिकीय: समग्र अध्ययन सामग्री

Advertisement

Related Categories

Advertisement