भारत के समुद्री विकास कार्यक्रमों पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

भारत ने महासागर विकास कार्यक्रम के तहत आजीविका में सुधार, तटीय खतरों की समय पर चेतावनी और महासागर संसाधनों के सतत विकास के लिए बहुत सारे कार्यक्रम की शुरुवात की है। इन कार्यक्रमों का मुख्य उद्देश्य लंबी अवधि के अवलोकन कार्यक्रमों को लागू करने और लागू करने के माध्यम से महासागर प्रक्रिया की हमारी समझ में सुधार करना है ताकि, हम निर्णय लेने के लिए तटीय क्षेत्र के स्थायी उपयोग मॉडल में सक्षम हों सके।

1. निम्नलिखित में से कौन सा खनिज पॉलिमेटेलिक नोड्यूल प्रोग्राम का हिस्सा नहीं है?

A. मैग्नीशियम

B. कॉपर

C. निकेल

D. पारा

Ans: D

Explanation: पॉलिमेटेलिक नोड्यूल में मैग्नीशियम, तांबा, निकल, कोबाल्ट, मोलिब्डेनम, लोहा, सीसा, कैडमियम, वैनेडियम होते हैं। इसलिए, D सही विकल्प है।

2. निम्नलिखित में से कौन पॉलिमेटेलिक नोड्यूल प्रोग्राम का घटक नहीं है?

A. गहरे-समुद्र प्रौद्योगिकी और महासागर खनन समूह

B. सर्वेक्षण और अन्वेषण

C. पर्यावरणीय प्रभाव आकलन

D. प्रौद्योगिकी विकास

Ans: A

Explanation: पॉलिमेटेलिक नोड्यूल कार्यक्रम में चार घटक हैं: 1. सर्वेक्षण और अन्वेषण; 2. पर्यावरणीय प्रभाव आकलन; 3. प्रौद्योगिकी विकास (खनन); 4. धातुकर्म (तत्व का निष्कर्षण)। इसलिए, A सही विकल्प है।

3. पॉलिमेलेटिक मॉड्यूल के खनन के लिए प्रौद्योगिकी के विकास के लिए निम्नलिखित में से कौन जिम्मेदार है?

A. एकीकृत तटीय और समुद्री क्षेत्र प्रबंधन

B. गहरे-समुद्र प्रौद्योगिकी और महासागर खनन समूह

C. तटीय महासागर निगरानी और पूर्वानुमान प्रणाली या कोस्टल ओसियन मोनिटरिंग एंड प्रेडिक्शन सिस्टम 

D. तटीय क्षेत्र प्रबंधन परियोजना

Ans: B

Explanation: समुद्री प्रौद्योगिकी और महासागर खनन समूह, पॉलिमेटेलिक मॉड्यूल के खनन के लिए प्रौद्योगिकी के विकास के लिए जिम्मेदार है। इसलिए, B सही विकल्प है।

4. निम्नलिखित में से कौन उपग्रह आधारित अध्ययन के लिए तटरेखा प्रबंधन में संशोधन में योजनाबद्ध है?

A. एकीकृत तटीय और समुद्री क्षेत्र प्रबंधन

B. समुद्री प्रौद्योगिकी और महासागर खनन समूह

C. तटीय महासागर निगरानी और पूर्वानुमान प्रणाली या कोस्टल ओसियन मोनिटरिंग एंड प्रेडिक्शन सिस्टम

D. तटीय क्षेत्र प्रबंधन परियोजना

Ans: A

Explanation: एकीकृत तटीय और समुद्री क्षेत्र प्रबंधन उपग्रह आधारित अध्ययन योजना है जिसमें दसवीं पंचवर्षीय योजना अवधि के लिए निर्धारित विभिन्न कार्यक्रमों के साथ तटरेखा प्रबंधन में संशोधन करने के लिए लाया गया था जिसमें मरीन इको-टॉक्सिकोलॉजी के साथ आरएंडडी गतिविधियां शामिल थी। इसलिए, A सही विकल्प है।

5. निम्नलिखित में कौन सा कार्यक्रम पानी और तलछट की भौतिक, रासायनिक और जैविक विशेषताओं से संबंधित 25 मापदंडों के संग्रह और विश्लेषण के लिए 82 स्थानों पर प्रचालन में है?

A. एकीकृत तटीय और समुद्री क्षेत्र प्रबंधन

B. समुद्री प्रौद्योगिकी और महासागर खनन समूह

C. तटीय महासागर निगरानी और पूर्वानुमान प्रणाली या कोस्टल ओसियन मोनिटरिंग एंड प्रेडिक्शन सिस्टम

D. तटीय क्षेत्र प्रबंधन परियोजना

Ans: C

Explanation: तटीय महासागर निगरानी और पूर्वानुमान प्रणाली या कोस्टल ओसियन मोनिटरिंग एंड प्रेडिक्शन सिस्टम कार्यक्रम पानी और तलछट की भौतिक, रासायनिक और जैविक विशेषताओं से संबंधित 25 मापदंडों के संग्रह और विश्लेषण के लिए 82 स्थानों पर प्रचालन में है। इस परियोजना के माध्यम से एकत्र किए गए आंकड़ों के आधार पर, प्रवण क्षेत्रों की पहचान की जाएगी है और राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्डों (एसपीसीबी) को सूचना की आपूर्ति करके प्रदूषण के कारणों को रोकने और नियंत्रित करने के लिए कदम उठाए जा सकेंगे। इसलिए, C सही विकल्प है।

प्रमुख भारतीय विद्युत परियोजनाओं पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

6. निम्नलिखित में से कौन भारतीय अंटार्कटिक अनुसंधान कार्यक्रम के तहत भारत का पहला स्टेशन स्थापित किया था?

A. दक्षिण गंगोत्री

B. मैत्री

C. परम (PARAM)

D.  A और B दोनों

Ans: A

Explanation: भारतीय अंटार्कटिक अनुसंधान कार्यक्रम दिसंबर, 1981 में शुरू हुआ था, जब पहला भारतीय अभियान गोवा से रवाना किया गया था। महासागर विकास विभाग के तत्वावधान में वार्षिक अंटार्कटिक अभियान भेजे जा रहे हैं। भारत ने अपना पहला स्टेशन दक्षिण गंगोत्री स्थापित किया था। दूसरा मैत्री नामक स्टेशन 1988-89 में स्थापित किया था। इसलिए, A सही विकल्प है।

7. निम्नलिखित में से कौन सा भारत समुद्र की जानकारी और ज्ञान के महत्व को पहचानने के लिए एक एकीकृत कार्यक्रम है?

A. तटीय महासागर निगरानी और पूर्वानुमान प्रणाली या कोस्टल ओसियन मोनिटरिंग एंड प्रेडिक्शन सिस्टम

B. महासागर अवलोकन और सूचना सेवा

C. भारतीय अंटार्कटिक अनुसंधान कार्यक्रम

D. ध्वनिक ज्वार गेज

Ans: B

Explanation: भारत सरकार ने समुद्र की जानकारी और ज्ञान के महत्व को पहचानने के लिए एक एकीकृत कार्यक्रम शुरू किया है जिसको महासागर अवलोकन और सूचना सेवा (Ocean Observation and Information Services) बोला जाता है। इसलिए, B सही विकल्प है।

8. निम्नलिखित में से कौन सी महासागर अवलोकन और सूचना सेवा कार्यक्रम की प्रमुख इकाई नहीं है?

A. ओशन ऑब्जर्विंग सिस्टम

B. ओशन इंफॉर्मेशन सर्विसेज

C. ओशन मॉडलिंग एंड डायनेमिक्स (INDOMOD)

D. ध्वनिक ज्वार गेज (ATG)

Ans: D

Explanation:  भारत सरकार ने समुद्र की जानकारी और ज्ञान के महत्व को पहचानने के लिए एक एकीकृत कार्यक्रम शुरू किया है जिसको महासागर अवलोकन और सूचना सेवा (Ocean Observation and Information Services) बोला जाता है। इस कार्यक्रम के चार प्रमुख ईकाई हैं: ओशन ऑब्जर्विंग सिस्टम, ओशन इंफॉर्मेशन सर्विसेज, ओशन मॉडलिंग एंड डायनेमिक्स (INDOMOD), और सैटेलाइट कोस्टल ओशनोग्राफिक रिसर्च (SATCORE)। इसलिए, D सही विकल्प है।

9. निम्नलिखित में से कौन शिपिंग और मछली पकड़ने के उद्योगों में व्यावहारिक अनुप्रयोग है?

A. ओशन ऑब्जर्विंग सिस्टम

B. ओशन इंफॉर्मेशन सर्विसेज

C. ओशन मॉडलिंग एंड डायनेमिक्स

D. ध्वनिक ज्वार गेज (ATG)

Ans: D

Explanation: ज्वार गेज का कम या उच्च ज्वार वाले क्षेत्र में शिपिंग और मछली पकड़ने के उद्योगों में व्यावहारिक अनुप्रयोग है। एटीजी की मदद से ज्वार को मापा जा सकता है साथ ही साथ सुनामी के आकार को मापा जा सकता है तथा इस माप की मदद से समुद्री जल स्तर पता लगाया जा सकेगा। इसलिए, D सही विकल्प है।

10. निम्नलिखित में से कौन भारतीय अंटार्कटिक अनुसंधान कार्यक्रम के तहत स्थापित लारसमैन पहाड़ी क्षेत्र में तीसरा स्टेशन है?

A. दक्षिण गंगोत्री

B. मैत्री

C. परम (PARAM)

D.  A और B दोनों

Ans: C

Explanation: भारत लारसमैन पहाड़ी क्षेत्र में एक तीसरा स्टेशन स्थापित करने की प्रक्रिया में है (जिसका नाम PARAM है) । अंटार्कटिका में अपनी वैज्ञानिक गतिविधियों के आधार पर, भारत को अंटार्कटिक संधि के एक सलाहकार सदस्य के रूप में भी चयन किया गया है। इसलिए, C सही विकल्प है।

पर्यावरण संरक्षण से जुड़े संगठनों एवं कार्यक्रमों पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

Related Categories

Popular

View More