Advertisement

सतवाहन राजवंश पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

सातवाहन प्राचीन भारत का एक राजवंश था। इस राजवंश ने 230 ईसापूर्व से लेकर दूसरी सदी (ईसा के बाद) तक केन्द्रीय दक्षिण भारत पर राज किया था। यह मौर्य वंश के पतन के बाद शक्तिशाली हुआ था। इनका उल्लेख 8वीं सदी ईसापूर्व में मिलता है। अशोक की मृत्यु के बाद सातवाहनों ने खुद को स्वतंत्र घोषित कर दिया था। सीसे का सिक्का चलाने वाला पहला वंश था, और वह सीसे का सिक्का रोम से लाया जाता था।

1. निम्नलिखित में से किसने सातवाहन वंश की स्थापना की थी?

A. सीमुक

B. कान्हा

C. सातकर्णि

D. कृष्णा

Ans: A

व्याख्या: सीमुक ने सातवाहन वंश की स्थापना की था। पुराणों में वह सिशुक या सिन्धुक नाम से वर्णित है। इसलिए, A सही विकल्प है।

2. निम्नलिखित में से किस सातवाहन वंश के राजा का नाम सांची स्तूप के प्रवेश द्वारों पर अंकित है?

A. सीमुक

B. कान्हा

C. सातकर्णि

D. कृष्णा

Ans: C

व्याख्या: सातकर्णि प्रथम ही वह शासक है जिसका उल्लेख सांची स्तूप के तोरण में हुआ है तो यह भी इस बात को प्रमाणित करता है कि उसके समय में मध्य भारत सातवाहनों के अधिकार में था। इसलिए, C सही विकल्प है।

3. निम्नलिखित कथनों पर विचार करें।

I. गौतमी पुत्र के समय तथा उसकी विजयों के बारें में हमें नासिक शिलालेखों से सम्पूर्ण जानकारी मिलती है।

II. इसने अपने स्वयं के मुखौटा के साथ चांदी के सिक्के ले आए थे।

उपरोक्त में से कौन सा कथन गौतमिपुत्र सातकर्णि के सन्दर्भ में सही है?

Code:

A. Only I

B. Only II

C. Both I & II

D. Neither I nor II

Ans: A

व्याख्या: गौतमी पुत्र श्री सातकर्णि सातवाहन वंश का सबसे महान शासक था। उसके समय तथा उसकी विजयों के बारें में हमें उसकी माता गौतमी बालश्री के नासिक शिलालेखों से सम्पूर्ण जानकारी मिलती है। उसके सन्दर्भ में हमें इस लेख से यह जानकारी मिलती है कि उसने क्षत्रियों के अहंकार का मान-मर्दन किया था। इसलिए, A सही विकल्प है।

4. निम्नलिखित में से कौन सा कथन वशिष्ठपुत्र पुलुमावी के बारे में सही नहीं है?

A. वशिष्ठपुत्र श्री पुलुमावी के रूप में संदर्भित है।

B. गोदावरी नदी के किनारे पैथन या परिस्थान में अपनी राजधानी स्थापित किया था।

C. इसने अपनी राज्य की सीमाओं को पूर्वी डेक्कन तक बढ़ा दिया था। जावा और सुमात्रा के साथ व्यापार की शुरूवात की थी।

D. वह पहला राजा जिसने अपने नाम के साथ अपने माँ नाम जोड़ा था।

Ans: D

व्याख्या: वशिष्ठिपुत्र पलुमवी, सातवाहन सम्राट गौतमीपुत्र शातकर्णी का पुत्र था। अपने शासनकाल के दौरान, क्षत्रप ने नर्मदा की भूमि उत्तर और उत्तरी कोंकण को अपने अधिकार क्षेत्र में ले लिया था और साथ ही साथ जावा और सुमात्रा के साथ व्यापार की शुरूवात की थी। गौतमी पुत्र शातकर्णी पहला राजा था जिसने अपने नाम के साथ अपने माँ नाम जोड़ा था। इसलिए, D सही विकल्प है।

प्राचीन खगोलविदों और उनके योगदान पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

5. निम्नलिखित में से किस सातवाहन शासक ने जहाज को सिक्को पर चित्रित करके जारी किया था?

A. शिवस्कंद सातकर्णि

B. याजना श्री सातकर्णि

C. विजय

D. वशिष्ठिपुत्र सातकर्णि

Ans: B

व्याख्या: याजना श्री सातकर्णि ही ऐसा सातवाहन शासक था जिसने जहाज को सिक्को पर चित्रित करके जारी किया था। इसलिए, B सही विकल्प है।

6. सातवाहन राजवंश के अंतिम शासक कौन था?

A. शिवस्कंद सातकर्णि

B. याजना श्री सातकर्णि

C. विजय

D. वशिष्ठिपुत्र सातकर्णि

Ans: C

व्याख्या: वायुपुराण के अनुसार सातवाहनों ने 411 वर्षों तक शासन किया जबकि विष्णुपुराण उनकी शासन अवधि 300 वर्ष मानता है। सातवाहन राजवंश का अंतिम शासक विजय था। इसलिए, C सही विकल्प है।

7. निम्नलिखित में से किस सातवाहन राजवंश के राजा के साथ उज्जैन के क्षत्रप का दो बार युद्ध हुआ था?

A. शिवस्कंद सातकर्णि

B. याजना श्री सातकर्णि

C. विजय

D. वासिष्ठीपुत्र पुलुमावी

Ans: D

व्याख्या:  वासिष्ठीपुत्र पुलुमावी अपने शासनकाल के दौरान, क्षत्रप ने नर्मदा की भूमि उत्तर और उत्तरी कोंकण को अपने अधिकार क्षेत्र में शामिल किया था। इसके  और रुद्रदामन (उज्जैन के क्षत्रप) के बीच दो बार युद्ध हुआ और इस युद्ध में इसकी पराजय तो हुई लेकिन अपने छोटे भाई और रुद्रदामन की बेटी वस्तीति से वैवाहिक गठबंधन करके युद्ध पर को ख़त्म कर दिया था। इसलिए, D सही विकल्प है।

8. निम्नलिखित में से किस सातवाहन शासक ने अपने नाम के साथ अपने माता का नाम जोड़ा था?

A. सतकर्नी

B. शिवस्वति

C. गौतमीपुत्र सातकर्णि

D. वशिष्ठिपुत्र पुलूमवी

Ans: D

व्याख्या: गौतमी पुत्र श्री शातकर्णी सातवाहन वंश का सबसे महान शासक था जिसने लगभग 25 वर्षों तक शासन करते हुए न केवल अपने साम्राज्य की खोई प्रतिष्ठा को पुर्नस्थापित किया अपितु एक विशाल साम्राज्य की भी स्थापना की थी। ये पहला सातवाहन रजा था जिसने अपने नाम के साथ अपने माता का नाम जोड़ा था। इसलिए, D सही विकल्प है।

वैदिक साहित्य पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

9. निम्नलिखित में से किस सतवाहन राजा को 'दक्षिणपथ के भगवान' के रूप में जाना जाता है?

A. सतकर्नी

B. शिवस्वति

C. गौतमीपुत्र सातकर्णि

D. वशिष्ठिपुत्र पुलूमवी

Ans: A

व्याख्या: सतकर्नी ही ऐसा सतवाहन राजा था जिसको 'दक्षिणपथ के भगवान' के रूप में जाना जाता है। इसलिए, A सही विकल्प है।

10. नानघाट के शिलालेख पर किस सातवाहन राजा की विजय गाथा विवरण मिलता है?

A. कान्हा

B. वशिष्ठिपुत्र पुलूमवी

C. गौतमीपुत्र सातकर्णि

D. सातकर्णि

Ans: D

व्याख्या: नानाघाट शिलालेख के अनुसार सातकर्णि ने अपने साम्राज्य का खुब विस्तार किया तथा अपने कार्य काल में दो अश्वमेघ यज्ञ तथा एक राजसुय यज्ञ किया। उसकी रानी नयनिका के एक शिलालेख से हमें यह ज्ञात होता है कि शातकर्णी प्रथम ने पश्चिमी मालवा के साथ-साथ अनुप (नर्मदा घाटी का क्षेत्र) तथा विदर्भ (बरार) प्रदेशों भी जीत लिया था। इसलिए, D सही विकल्प है।

1000+ भारतीय इतिहास पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

Advertisement

Related Categories

Advertisement