Are you worried or stressed? Click here for Expert Advice

विज्ञान के अनुसार जिस महीने में आपका जन्म हुआ कैसे आपके व्यक्तित्व को प्रभावित करता है?

Shikha Goyal

कई अन्वेषण से यह पता चला है कि जिस महीने में व्यक्ति पैदा होता है, उसके आधार पर उसके व्यक्तित्व के बारे में बहुत कुछ पता लगाया जा सकता है. कुछ मनोवैज्ञानिक अध्ययनों में यह पाया गया है कि जिस महीने में आप पैदा हुए थे, उसके सामान्य मौसम के लक्षणों से व्यक्ति की मानसिकता में कुछ विशेषताओं, गुणों और दोष उत्पन्न होते हैं. आइए जानें कि ये कौन से लक्षण हैं और कैसे ये व्यक्तित्व की और इशारा करते हैं.

आजकल, दुनिया भर के विभिन्न वैज्ञानिक धीरे-धीरे उन सबूतों को खोज रहे हैं जो कि वास्तव में उस माह के बीच कुछ संबंध जिसमें एक व्यक्ति का जन्म हुआ था और उनकी विशेषताओं को लेकर अध्ययन कर रहे हैं.

जानें किस ब्लड ग्रुप के व्यक्ति का स्वभाव कैसा होता है
ज्योतिष के अनुसार, जन्म के समय पृथ्वी, चंद्रमा, सूर्य और सितारों की सापेक्ष स्थिति एक व्यक्ति के व्यक्तित्व को बहुत प्रभावित करती है. वैज्ञानिकों ने वर्षों से यह खंडन किया है, हालांकि बुडापेस्ट के सेमीमेलवे यूनिवर्सिटी के एक छोटे से अध्ययन में पाया गया है कि व्यक्तित्व उस मौसम से प्रभावित हो सकता है जिसमें एक व्यक्ति का जन्म होता है. 19 अक्टूबर को बर्लिन में यूरोपीय विश्वविद्यालय के न्यूरोसाइकोफरामाकोलॉजिकल (Neuropsychopharmacology) कांग्रेस में प्रमुख शोधकर्ता ज़ीनिया गोंडा द्वारा परिणाम प्रस्तुत किए गए थे. उन्होंने कहा "ऐसा लगता है कि जब आप जन्म लेते हैं, तो कुछ मूड स्विंग की संभावना बढ़ सकती है या कम हो सकती है"
आइए देखते हैं, किस प्रकार से इंसान का व्यक्तित्व विभिन्न महीनों में जन्म लेने से प्रभावित होता है


Source: www.s-media-cache-ak0.pinimg.com

क्या आपको पता है, मस्तिष्क में “डिलीट” बटन होता है?
वसंत ऋतु – जो बच्चे वसंत ऋतु में पैदा होते है, उनमें हाइपरथिमिक (hyperthymic) स्वभाव होने की अधिक संभावना होती है, वे अविश्वसनीय रूप से सकारात्मक होने की प्रवृत्ति रखते हैं.
ग्रीष्म ऋतु (गर्मी का मौसम) – जो बच्चे ग्रीष्म ऋतु में पैदा होते है, उनमें भी हाइपरथिमिक स्वभाव पाया गया है लेकिन मजबूत साइक्लोथैमिक (cyclothymic) स्वभाव के साथ. हालांकि गर्मी के मौसम में पैदा हुए बच्चों को उच्च सकारात्मक भावनाओं का अनुभव होने की अधिक संभावना होती है, फिर भी वे अक्सर मूड स्विंग होने की अधिक संभावना रखते हैं.


Source: www.cdn-wp-content.spring.st
शरद ऋतु (पतझड़ के मौसम) - शरद ऋतु में जो बच्चे पैदा होते हैं, उनमें उदास मनोदशा की प्रवृत्ति काफी कम होती हैं.
सर्दी का मौसम - जो बच्चे सर्दियों के मौसम में पैदा होते हैं, उनमें चिड़चिड़ा स्वभाव होने की संभावना कम होती हैं. ऐसे लोग बहुत प्रसिद्ध होना चाहते है क्योंकि इन महीनों को रचनात्मकता और कल्पनाशील समस्या सुलझाने का सही समय समझा जाता है.
अंत में, हम कह सकते हैं कि किसी व्यक्ति का व्यक्तित्व उस मौसम के अनुसार बदलता है, जिस मौसम में वह व्यक्ति पैदा होता है. लेकिन इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता है की किसी व्यक्ति के व्यक्तित्व में बदलाव के लिए अनुभव भी मायने रखता है जो साल-दर-साल बढ़ता रहता है. जो वह अपने अनुभवों से सीखता है वह एक व्यक्तित्व को सही दिशा प्रदान करता हैं.

जीका (ZIKA) वायरस क्या है और यह कैसे फैलता हैं?

Related Categories

Live users reading now