Jagranjosh Education Awards 2021: Click here if you missed it!
Next

अमेरिकी खुफिया रिपोर्ट: क्या भारत-पाकिस्तान के बीच हो सकता है बड़े पैमाने पर युद्ध?

वाशिंगटन में जारी ग्लोबल ट्रेंड्स रिपोर्ट में भारत-पाकिस्तान और भारत-चीन संबंधों पर कई बातें कही गईं हैं। अमेरीका की खतरे के आकलन पर जारी की गई इस खुफिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भारत के पाकिस्तान के साथ संबंध तनावपूर्ण बने रहेंगे और चीन के साथ चल रहा सीमा विवाद भी जारी रहेगा। 

इस रिपोर्ट को अमेरिकी सरकार की राष्ट्रीय खुफिया परिषद द्वारा हर चार साल में एक बार संकलित किया जाता है। ओबामा प्रशासन द्वारा 2017 में जारी एक ऐसी ही रिपोर्ट में एक महामारी और उसके पतन के रूप में एक विशाल आर्थिक व्यवधान की चेतावनी दी गई थी।

भारत-पाकिस्तान के बीच बड़े पैमाने पर युद्ध

परमाणु-सशस्त्र पड़ोसी भारत और पाकिस्तान बड़े पैमाने पर युद्ध में शामिल हो सकते हैं, जो दोनों में से कोई भी देश नहीं चाहता है लेकिन अगर पाकिस्तान भारत को उकसाता है तो नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत पाकिस्तान की हरकतों पर सैन्य कार्रवाई कर सकता है। बता दें कि पाकिस्तान आतंकवादियों को भारत में भेजकर लगातार भारत को लगातार उकसाने की कोशिश करता रहता है और भारत की पिछली सरकारें पाकिस्तान को कोई ठोस जवाब नहीं देती थीं। लेकिन मौजूदा मोदी सरकार पाकिस्तान पर अब तक दो बार सैन्य कार्रवाई कर चुकी है। 

जानें भारत ‌- पाकिस्तान के बीच कितने युद्ध हुए और उनके क्या कारण थे?

पाकिस्तान पर भारत द्वारा दो बार सैन्य कार्रवाई

अमेरिकी इंटेलीजेंस रिपोर्ट के अनुसार दो परमाणु-सशस्त्र देशों के बीच तनाव की स्थिति दुनियाभर के लिए एक चिंता का विषय है। आपको बता दें कि मोदी सरकार पाकिस्तान पर अब तक दो बार सैन्य कार्रवाई कर चुकी है। 14 फरवरी 2019 में आतंकवादियों ने पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हमला किया था जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले के 12 दिनों बाद 26 फरवरी 2019 को भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान स्थित बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर एयरस्ट्राइक की थी जिसमें आतंकी ठिकाने पूरी तरह से ध्वस्त हो गए थे और करीब 300 आतंकवादी मारे गए थे। इससे पहले 18 सितंबर 2016 को उरी में भारतीय सेना के स्थानीय मुख्यालय पर आतंकी हमला हुआ था जिसमें 16 जवान शहीद हो गए थे। भारत ने जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान में स्थित आतंकवादियों के 7 ट्रेनिंग कैम्पों  पर सर्जिकल हमले किए थे जिसमें 33 आतंकवादियों और 2 पाक सैनिकों के मारे जाने की ख़बर मिली थी। 

जानें 1967 में भारत और चीन के बीच नाथू ला में क्यों हुई थी सैन्य झड़प?

जारी रहेगा भारत-चीन सीमा विवाद

इस रिपोर्ट में भारत-चीन के बीच चल रहे सीमा पर विवाद के बारे में भी कहा गया है। रिपोर्ट के अनुसार भारत और चीन के बीच तनाव अभी भी बरकरार है जो साल 2020 में  चीनी सैनिकों की आक्रामकता और घुसपैठ की वजह से शुरू हुआ था। सन् 1975 के बाद दोनों देशों की सेनाओं के बीच ये पहली झड़प थी। इस झड़प में भारत के 20 सैनिक शहीद हो गए थे और भारत द्वारा कई चीनी सैनिक भी मारे गए थे। रिपोर्ट में चीनी सैनिकों के घुसपैठ को चिंता की बात बताया गया है और दावा किया गया है कि भारत और चीन के बीच सीमा विवाद बरकरार रह सकता है। इतना ही नहीं, आने वाले समय में दोनों देशों के बीच फिर से झड़प हो सकती है।

भारत-पाकिस्तान सीमा पर आधारित सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

भारत-चीन गतिरोध पर जीके प्रश्न और उत्तर

Related Categories

Also Read +
x

Live users reading now