Advertisement

भारत की पहली महिला रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण से जुड़े 10 रोचक तथ्य

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 3 सितम्बर, 2017 को किए गए तीसरे कैबिनेट विस्तार में सबसे अप्रत्याशित नाम निर्मला सीतारमण का रहा, जिन्हें स्वतंत्र प्रभार वाली भारत की पहली महिला रक्षामंत्री बनने का गौरव प्राप्त हुआ है. इससे पहले 1982 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने रक्षा मंत्रालय का प्रभार अपने पास रखा था. इस लेख में हम नवनियुक्त रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण से जुड़े 10 रोचक तथ्यों का विवरण दे रहे हैं.

निर्मला सीतारमण से जुड़े 10 रोचक तथ्य

1. निर्मला सीतारामण का जन्म 18 अगस्त, 1959 को तमिलनाडु के तिरूचिरापल्ली में एक मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ था. उनके पिता रेलवे में काम करते थे, जबकि उनकी मां एक गृहिणी थी, जिन्हें किताबों से खासा लगाव था. निर्मला सीतारामण ने तमिलनाडु के अलग-अलग हिस्सों में अपना बचपन बिताया था, क्योंकि उनके पिता का जल्दी-जल्दी स्थानान्तरण होता था. इसके कारण यात्रा करना और विभिन्न परिस्थितियों में खुद को ढ़ालने की कला निर्मला सीतारामण में स्वाभाविक रूप से आ गया था.

Image source: iDiva
2. निर्मला सीतारामण ने सीतालक्ष्मी रामसामी कॉलेज, तिरुचिरापल्ली से स्नातक की उपाधि और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, दिल्ली से स्नातकोत्तर की उपाधि प्राप्त की थी. उनका पसंदीदा विषय “वैश्वीकरण और विकासशील देशों पर इसका प्रभाव” था.

Image source: iDiva
वित्त मंत्री अरूण जेटली के बारे में 9 रोचक तथ्य
3. जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय से एमफिल करने के दौरान स्टूडेंट यूनियन के चुनाव के लिए निर्मला सीतारामण फ्री थिंकर्स के साथ जुड़ गई थी. इसी दौरान उनकी मुलाकात आंध्र प्रदेश के परकल प्रभाकर से हुई. दोनों ने 1986 में शादी कर ली और ब्रिटेन चले गए.
4. प्रभाकर जब लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से पीएचडी कर रहे थे तब निर्मला सीतारमण हैबिटेट कंपनी में सेल्स गर्ल के रूप में काम करती थी. परन्तु जल्द ही निर्मला सीतारमण प्राइसवाटरहाउस कूपर्स के साथ सीनियर मैनेजर के तौर पर जुड़ गई. इसके अलावा निर्मला सीतारमण ने कुछ समय तक बीबीसी वर्ल्ड सर्विस के लिए भी काम की थी.

Image source: The Times of India Photogallery
5. 1991 में अपनी बेटी के जन्म के समय दोनों पति-पत्नी भारत लौट आयी. उन दिनों पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या के कारण चेन्नई में तनाव था. इस कारण निर्मला सीतारमण को तीन दिनों तक अस्पताल में ही रहना पड़ा. बाद में डॉक्टर ने अपनी गाड़ी में सफेद झंडा लगाकर उन्हें घर भेजा था.
6. भारत लौटने के बाद निर्मला और प्रभाकर शिक्षा के क्षेत्र में काम करने लगीं. 2003 से 2005 तक निर्मला सीतारमण राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य रहीं और 2006 में राजनीति में आई.

Image source: ScoopWhoop
जयललिता के बारे में 15 रोचक तथ्य
7. निर्मला सीतारमण की सास और ससुर दोनों कांग्रेस विधायक थे, जबकि ससुर आंध्र प्रदेश की कांग्रेस सरकार में मंत्री भी थे. इसके बावजूद निर्मला सीतारमण ने 2006 में भाजपा ज्वाइन की. 2007 में उनके पति प्रभाकर चिरंजीवी की प्रजा राज्यम पार्टी में शामिल हुए, परन्तु जल्द ही वह भी भाजपा में शामिल हो गए. वर्तमान में प्रभाकर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू के कम्युनिकेशन एडवाइजर हैं.  
8. 2010 में, जब नितिन गडकरी भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष थे, निर्मला सीतारमण को पार्टी के प्रवक्ता के रूप में नियुक्त किया गया था. पार्टी के प्रवक्ता की भूमिका संभालने के बाद निर्मला सीतारमण ने हर स्थिति में भाजपा का बचाव किया और राष्ट्रीय मीडिया पर मोदी सहित पार्टी के अन्य नेताओं की तारीफ की. वह न केवल दिल्ली में बल्कि गुजरात के पार्टी मुख्यालय में एक लोकप्रिय चेहरा बन गई थी.

Image source: Business Standard
9. 2014 में वह आंध्र प्रदेश से राज्यसभा सदस्य के रूप में चुनी गई थी. वर्तमान में वह कर्नाटक से राज्यसभा सांसद है.
10. 26 मई, 2014 को केन्द्र में नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद निर्मला सीतारमण को वाणिज्य मंत्रालय का कार्यभार सौंपा गया था. वह 3 सितम्बर, 2017 तक इस पद पर कार्यरत थी. 3 सितम्बर, 2017 को निर्मला सीतारमण को स्वतंत्र प्रभार वाली देश की पहली महिला रक्षामंत्री के रूप में नियुक्त किया गया है.

Image source: NDTV.com
उत्तरप्रदेश के नए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के बारे में 10 अनजाने तथ्य

Advertisement

Related Categories

Advertisement