Advertisement

जानिये लॉन टेनिस को कैसे खेला जाता है?

टेनिस ओपन युग की शुरुआत 1968 से हुई जब ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट्स ने पेशेवर खिलाड़ियों को भाग लेने के लिए अनुमति देने पर सहमति व्यक्त की. ग्रैंड स्लैम में सबसे पहले विंबलडन ओपन 1877 में शुरू हुआ, उसके बाद 1881 में यूएस ओपन, 1891 में फ्रेंच ओपन और 1905 में ऑस्ट्रेलियन ओपन शुरू हुआ था.
बहुत से लोगों ने लॉन टेनिस के खेल को देखा होगा लेकिन ऐसे बहुत ही कम लोग होंगे जो इस खेल को समझ पाते हैं. इसीलिए हमने इस लेख में लॉन टेनिस से जुड़े हुए कुछ नियमों और शब्दों के बारे में बताया है.

लॉन टेनिस के साल में 4 बड़े टूर्नामेंट होते हैं जिन्हें ग्रैंड स्लैम कहते हैंl ये  हैं; जनवरी में शुरू होने वाला ऑस्ट्रेलियन ओपन, मई में शुरू होने वाल फ्रेंच ओपन, जून में शुरू होने वाला विंबवडन और आखिर में अगस्त में होने वाला अमेरिकी ओपनl इन 4 ग्रैंड स्लैम में पुरुषों के मैच 5 सेटों के होते हैंl

आइये अब यह जानने का प्रयास करते हैं जी आखिर यह खेल कैसे खेला जाता है :

टेनिस में सबसे पहले टॉस होता है; टॉस जीतने वाला खिलाड़ी सर्विस या पाले में से एक चुनता हैl मान लीजिए खिलाडी A ने टॉस जीतकर सर्विस का फैसला किया तो पाला चुनने का अधिकार खिलाडी B का होगा l इसे आसानी से समझने के लिए मैं अपने आप को खिलाडी के तौर पर नाम ‘A’ और प्रर्तिद्वंदी खिलाडी को ‘B’ नाम देता हूँl अब आप सर्विस करेंगे और पहला गेम जीतने के लिए आपको कम से कम 4 अंक बनाने  होंगेl

यदि मैंने गेंद की सर्विस की और आपने भी अपने पाले में गेंद के पहला टप्पा पड़ने के बाद शॉट मारकर मेरे पाले में वापस भेज दिया तो इसे कहा जायेगा रिटर्न, लेकिन अब यदि आप मेरे शॉट को रिटर्न ना कर पाये और गेंद कोर्ट के बहार चली गयी तो मुझे अंक मिलेगा l मुझे पहला सेट जीतने के लिए इसी तरह के 4 अंक लेने पड़ेंगे l मेरे द्वारा सभी अंक लेने पर स्कोर लिखा जायेगा 0-15, फिर 0-30, फिर 0-40 और फिर गेम यानी 1 गेमl

 

ड्यूस किसे कहते है?

मान लीजिए पहले 3 अंक आपने ले लिए और आपका स्कोर हो गया 40-0. फिर हमने ऐसे शॉट लगाए कि आप गेंद का रिटर्न ना कर पाये और मैंने भी 3 अंक ले लिए, दोनों का स्कोर हुआ 40-40. इस स्थिति को ही ड्यूस कहते हैं l

ऐस यानी इक्का अगर मैंने ऐसी धमाकेदार सर्विस मारी की आप उसे छू भी न पाए और गेंद कोर्ट के बाहर चली जाये तो ऐसा शॉट कहलाएगा ऐसl कायदा तो ये है कि 4 अंक लेते ही गेम हो गया पर एक दिक्कत है; दिक्कत ये है कि खिलाड़ियों के अंकों में कम से कम 2 का अंतर होना चाहिएl यानी अब आपको 2 अंक और लेने पड़ेंगे तभी बात बनेगीl

मान लीजिए 40-40 स्कोर पर, ड्यूस पर आप अंक आपने ले लिया तो इस स्थिति को कहते हैं एडवांटेज़l

अब अगर फिर हमने ऐसा शॉट मारा कि आप देखते ही रह गए, तो फिर दोबारा स्कोर कहलाएगा ड्यूसl जब तक कोई 2 अंकों का अंतर न बना ले गेम चलता रहेगाl मान लीजिए ड्यूस पर हमने 2 ऐसे शॉट मारे कि गेम हम जीत गए; इसे कहते हैं सर्विस ब्रेकl

और अब सर्विस मैं करूँगा और संयोग से मैं सर्विस भी जीत गया तो कहा जाता है सर्विस होल्ड; अब मेरे पक्ष में स्कोर हो गया 2-0. अब आपकी सर्विस, फिर हमारी, फिर आपकीl ऐसे ही खेल चलता रहेगा जब तक कि कोई 6 गेम न जीत जाये l अगर मैंने 6 गेम जीत लिए और आपने सिर्फ 2 जीते तो कहा जायेगा कि मैंने पहला सेट 6-2 से जीत लिया है l यहाँ पर यह बात ध्यान रखने वाली हैं कि गेम में जीत का अंतर कम से कम 2 गेम का होना ही चाहिए, आपने कभी नही देख होगा कि कोई खिलाडी 6-5 से सेट जीत गयाl सेट हमेशा ही 6-0,6-1,6-2,6-3 या 6-4 के अंतर से ही जीता जाता है l (नीचे देखे)

Image source:Google Play

 

Image source:lallantop

जानें दुनिया के 10 सबसे खतरनाक खेल कौन से हैं?

मैच टाई ब्रेकर तक चला इसका क्या मतलब हुआ:

मान लीजिए हम और आप इतना शानदार खेले कि पहले सेट में स्कोर हो गया 6-6 अब क्या होगा?

अब होगा टाई ब्रेक; टाई ब्रेक दौर में खेल को शुरू करने वाले को बाद में सर्विस मिलती है तो पहली सर्विस हमारी है, एक सर्विस मिलेगीl फिर 2 आपको, फिर 2 हमें और इसी तरह से चलता जाएगा और स्कोरिंग रहेगी 15-30-40-गेम या ड्यूस; और मान लीजिए टाई ब्रेक का गेम मैं जीत गए तो मेरा स्कोर होगा 7-6 और सेट का विजेता बन मैंl इस तरह से आमतौर पर तीन सेट होते हैं और 2 सेट जीतने वाला विजेता घोषित किया जाता है l

ये मैच किस प्रकार के कोर्ट पर खेले जाते हैं ?

लॉन टेनिस के मुकाबले 3 तरह की सतह पर खेले जाते हैं घास, मिट्टी और प्लास्टिक-रबड़l घास के टेनिस कोर्ट को ग्रास कोर्ट कहते हैं और इसी पर विंबलडन खेला जाता हैl मिट्टी की सतह पर बना कोर्ट क्ले कोर्ट (clay court) कहलाता है, फ्रेंच ओपन क्ले कोर्ट पर खेला जाता है और स्पेन के खिलाडी राफेल नडाल को क्ले कोर्ट का सबसे बेहतरीन खिलाडी माना जाता है उसने सबसे अधिक 9 फ्रेंच ओपन टाइटल जीते हैंl इसके बाद नंबर आता है ऑस्ट्रेलियन ओपन और यूएस ओपन का; ये दोनों ही टूर्नामेंट कृत्रिम सतह पर खेले जाते हैं जो कि प्लास्टिक-रबड़ का बना होता है इसी कारण इसे ‘हार्ड कोर्ट’ भी कहते हैंl

 

डबल फॉल्ट किसे कहते हैं:

 सर्विस हमेशा कोर्ट के दाईं ओर से शुरू होती है उधर मैं अपने पाले में दाईं ओर खड़ा रहूँगाl कोर्ट में मेरे सामने एक बक्सा बना होगा जिसे सर्विस बॉक्स कहते हैं; आपकी सर्विस बॉल इस बॉक्स में ही आनी चाहिए, अगर ऐसा नही हुआ तो इसे फाल्ट कहा जायेगा और अगर आप लगातार ऐसे दो फॉल्ट कर देंगे तो 1 अंक मुझे मिल जाएगा और स्कोर होगा 0-15.

Image source:Sports Court Dimensions

लेट किसे कहते हैं ?

यदि सर्विस सही जगह (सर्विस बॉक्स) पड़ी लेकिन नेट से लग गई तो इसे ‘लेट’ कहते हैंl लेट सर्विस में कुछ नहीं होता केवल आपको दुबारा सर्विस करनी पड़ेगी और आप पहली सर्विस दाईं ओर से करेंगे, दूसरी बाईं ओर से l

 

हर 3 गेम के बाद हमारे पाले आपस में बदल जाएंगेl रिटर्न आपको पहला टप्पा पड़ने के बाद ही कर देना चाहिए नही तो आपको अपना अंक गवाना पड़ेगा अर्थात जिसके पाले में गेंद दो बार टप्पा खा गयी उसका अंक गया l

जानें अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की जिम्मेदारियां क्या होती हैं?

फोरहैंड और बैकहैंड किसे कहते हैं ?

दाएं हाथ से खेलने वाला खिलाड़ी दाएं हाथ का शॉट लगाए तो फोरहैंड और बाएं हाथ का दे तो बैकहैंड; या कुछ ऐसा समझो कि यदि आप दाएं हाथ से खेलते हैं तो दाएं हाथ की हथेली सामने करके खेलें तो फोरहैंड नहीं तो बैकहैंडl कुछ खिलाड़ी दोनों हाथों से सर्विस करते हैं तो उन्होंने जिस हाथ से सर्विस की वो फोरहैंड हुआl

(रोजर फेडरर फोरहैंड लगाते हुए)

 

Image source:edition.cnn.com

कौन सी संस्थाएं टेनिस खिलवाती हैं ?

आप जानते हैं कि क्रिकेट की एक ही विश्व संस्था है – ICC ; लेकिन टेनिस में तीन संस्थाए हैं; पुरुषों के पेशेवर टेनिस टूर्नामेंट करवाने वाली एसोशियसन ऑफ टेनिस प्रोफेशनल्स (ATP), महिलाओं के पेशेवर टेनिस टूर्नामेंट करवाने वाली वीमेन्स टेनिस एसोशियसन (WTA) और डेविस कप जैसे टूर्नामेंट करवाने वाली ITF यानी इंटरनेशनल टेनिस फेडरेशनl

 

Image source:AFRICANTENNIS.com

ग्रैंड स्लैम किसे कहते हैं ?

यदि एक सिंगल्स खिलाड़ी या डबल्स टीम उसी वर्ष में चारों ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट जीतती है तो यह कहा जाता है कि उसने "ग्रैंड स्लैम" हासिल किया है। अगर कोई खिलाड़ी या टीम सभी चारों टूर्नामेंट लगातार जीतती है लेकिन उसी कैलेंडर वर्ष में नहीं, तो उसे "नॉन-कैलेंडर इयर ग्रैंड स्लैम" कहा जाता है। करियर में किसी भी समय चारों टूर्नामेंट जीतना, चाहे लगातार न भी हों, एक "करियर ग्रैंड स्लैम" कहलाता है। चारों मेजर के साथ-साथ ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में टेनिस में स्वर्ण पदक जीतने को 1988 से "गोल्डन स्लैम" कहा जाता हैl

इस प्रकार ऊपर दी गयी अध्ययन सामग्री के आधार पर यह उम्मीद की जा सकती है कि आप लॉन टेनिस को कैसे खेला जाता है; इस बारे में बहुत कुछ समझ गए होंगे l

लाँन टेनिस में ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट कौन-कौन से होते हैं?

Advertisement

Related Categories

Advertisement