जानें कैसे Aadhaar Card को अपने Documents से लिंक करें

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने भारत सरकार की ओर से भारतीय नागरिकों के लिए एक 12 अंकों की विशिष्ट पहचान संख्या जारी की है। ये संख्या भारतीय नागरिकों की पहचान और उनके पते के प्रमाण के रूप में कार्य करती है। आधार भारत में सबसे प्रमुख पहचान दस्तावेजों में से एक है। UIDAI के अनुसार, आधार को सिम कार्ड, बैंक खाते, पासपोर्ट, आदि से लिंक कराना महत्वपूर्ण है। आज हम आपको बताएंगे कि आप कैसे अपने दस्तावेज़ों को आधार से लिंक करा सकते हैं।

आधार कार्ड को बैंक खाते से कैसे लिंक करें?

आप अपने आधार को बैंक खाते से ऑनलाइन या ऑफलाइन लिंक कर सकते हैं। आधार को ऑनलाइन बैंक खाते से लिंक करने के लिए नेट बैंकिंग ज़रूरी है।

नीचे दिए गए स्टेप्स की मदद से आप अपने आधार को बैंक खाते से ऑनलाइन लिंक कर सकते हैं:

1- नेट बैंकिंग में लॉग इन करें और Update Aadhaar Card Details / Aadhar Seeding पर क्लिक करें।

2- 12 अंकों का आधार नंबर और अन्य विवरण दर्ज करें और Submit पर क्लिक करें।

3- बैंक द्वारा सत्यापन के बाद आपका आधार बैंक खाते से लिंक हो जाएगा और आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएस या पंजीकृत ईमेल आईडी पर ईमेल भी आ जाएगा।

नीचे दिए गए स्टेप्स की मदद से आप अपने आधार को बैंक खाते से ऑफलाइन लिंक कर सकते हैं:

1- अपने संबंधित बैंक में जाएं और आधार और बैंक लिंकिंग फॉर्म भरें।

2- फॉर्म के साथ अपने आधार कार्ड की एक फोटोकॉपी भी बैंक में जमा करें।

3- बैंक द्वारा सत्यापन के बाद आपका आधार बैंक खाते से लिंक हो जाएगा और आपके पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएस या पंजीकृत ईमेल आईडी पर ईमेल भी आ जाएगा।

आधार कार्ड को राशन कार्ड से कैसे लिंक करें?

पिछले कुछ वर्षों से राशन कार्ड में घोटालों की बढ़ती संख्या को देखते हुए भारत सरकार ने एक अधिसूचना जारी की है जिसमें लाभार्थी को अपने आधार को बैंक खाते से जोड़ना होगा। उपयोगकर्ता अपने आधार को राशन कार्ड से ऑनलाइन या ऑफलाइन लिंक कर सकते हैं। अपने आधार को राशन कार्ड से लिंक करने के लिए आप 51969 पर एसएमएस भी भेज सकते हैं।

नीचे दिए गए स्टेप्स की मदद से आप अपने आधार को राशन कार्ड से ऑनलाइन लिंक कर सकते हैं:

1- UIDAI की आधिकारिक वेबसाइट पर लॉग इन करें।

2- Ration Card Verification पर क्लिक करें।

3- आवश्यक विवरण भरें।

4- अब अपने राशन कार्ड से जुड़े विक्लप को चुने- पेंशन, एलपीजी कनेक्शन, आदि।

5- 12 अंकों का आधार नंबर और अपना पंजीकृत मोबाइल नंबर डालें।

6- पंजीकृत नंबर पर प्राप्त OTP डालें और कैप्चा कोड डालें।

7- Submit पर क्लिक करें।

8- सत्यापन प्रक्रिया समाप्त होने के बाद, आपके पास पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस या पंजीकृत ईमेल आईडी पर एक ईमेल आ जाएगा।

नीचे दिए गए स्टेप्स की मदद से आप अपने आधार को राशन कार्ड से ऑफलाइन लिंक कर सकते हैं:

1- अपने राशन प्रदाता से एक आधार लिंकिंग फॉर्म प्राप्त करें।

2- ऑफलाइन लिंकिंग के लिए राशन कार्ड की फोटोकॉपी और आपके परिवार के सभी सदस्यों के आधार की फोटोकॉपी की आवश्यकता होगी।

3- परिवार के मुखिया का पासपोर्ट साइज फोटो।

4- यदि आपका बैंक खाता आधार से लिंक नहीं है, तो बैंक पासबुक की एक फोटोकॉपी भी आवश्यक है।

5- फॉर्म भर के सभी आवश्यक दस्तावेजों के साथ राशन कार्यालय में जमा करें।

6- सत्यापन प्रक्रिया समाप्त होने के बाद, आपके पास पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस या पंजीकृत ईमेल आईडी पर एक ईमेल आ जाएगा।

नीचे दिए गए स्टेप्स की मदद से आप अपने आधार को राशन कार्ड से SMS द्वारा भी लिंक कर सकते हैं:

1-LPG के अलावा अन्य योजनाओं के लिए, UID SEED <स्टेट शॉर्ट कोड> <स्कीम / प्रोग्राम शॉर्ट कोड> <स्कीम / प्रोग्राम आईडी> <आधार नंबर> टाइप करें।

2- SMS 51969 पर भेजें।

3- सत्यापन की प्रक्रिया समाप्त होने के बाद, आपके पास पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस आ जाएगा।

LPG के लिए, अपने आधार को ऑनलाइन लिंक करने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें:

1- LPG योजना को आधार से लिंक करने के लिए, आपका बैंक खाता और आधार लिंक होना चाहिए।

2- भारत गैस, हिंदुस्तान पेट्रोलियम गैस या इंडेन गैस की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।

3- सब्सिडी फॉर्म डाउनलोड करें।

4- फॉर्म के साथ एक आवेदन पत्र अपने नजदीकी  LPG डिस्ट्रीब्यूटर के पास जमा करें।

 LPG के लिए, कॉल के माध्यम से अपने आधार को लिंक करने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें:

1- सोमवार से शुक्रवार, 18000-2333-555 पर कॉल करें।

2- व्यक्ति को आवश्यक विवरण प्रदान करें।

3- सत्यापन प्रक्रिया समाप्त होने के बाद, आपके पास पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस आ जाएगा।

आधार कार्ड को मोबाइल नंबर से कैसे लिंक करें?

भारत सरकार ने सभी टेलीकॉम कंपनियों को निर्देश दिया है कि वे ग्राहकों को नए नंबर देने से पहले उनका KYC करवाएं।

आधार को मोबाइल नंबर से ऑनलाइन लिंक करने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें:

1- अपने टेलीकॉम ऑपरेटर की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।

2- e-KYC फॉर्म भरें।

3- सभी आवश्यक दस्तावेज अपलोड करें।

4- Submit पर क्लिक करने के बाद, आपको एक ओटीपी आधारित सत्यापन प्राप्त होगा।

5- अपने आधार को अपने मोबाइल नंबर से लिंक करने के लिए मोबाइल नंबर पर प्राप्त ओटीपी दर्ज करें।

6- सत्यापन प्रक्रिया समाप्त होने के बाद, आपके पास पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस आ जाएगा।

आधार को मोबाइल नंबर से लिंक करने के लिए नीचे दिए स्टेप्स को फॉलो करें:

1- अपने टेलीकॉम ऑपरेटर की नज़दीकी शाखा पर जाएं।

2- पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ और अन्य सभी दस्तेवेज़ साथ लेकर जाएं।

3- आधार लिंकिंग फॉर्म भरें।

4- एक बार फॉर्म जमा करने के बाद, आपको एक ओटीपी आधारित सत्यापन प्राप्त होगा।

5- सत्यापन प्रक्रिया समाप्त होने के बाद, आपके पास पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस आ जाएगा।

आधार कार्ड को पैन से कैसे लिंक करें?

भारत सरकार ने आधार को पैन से लिंक कराना अनिवार्य कर दिया है। वित्त मंत्रालय ने आधार को पैन से लिंक करने की समय सीमा 31 मार्च, 2020 तक बढ़ा दी है।

नीचे दिए गए स्टेप्स की मदद से आप आधार को पैन से ऑनलाइन लिंक कर सकते हैं:

1- आयकर विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।

2- Link Aadhaar पर क्लिक करें।

3- आवश्यक विवरण दर्ज करें।

4- आधार कार्ड में  जन्म वर्ष लिखा हो तो ही बॉक्स को टिक करें।

5- कैप्चा कोड डालें और Link Aadhaar पर क्लिक करें।

SMS के माध्यम से आधार को पैन से लिंक करने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें:

1- UIDPAN <12-अंकीय आधार संख्या> <10-अंकीय पैन> टाइप करें।

2- इस एसएमएस को 567678 या 56161 पर भेजें।

आधार कार्ड को वोटर आईडी से कैसे लिंक करें?

कई मामले दर्ज किए गए हैं जहां व्यक्तियों के पास एक से अधिक वोटर आईडी हैं। इस समस्या से निजात पाने के लिए, भारत सरकार ने वोटर आईडी को आधार से लिंक करने का निर्देश दिया है।

आधार को वोटर आईडी से ऑनलाइन लिंक करने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स को फॉलो करें:

1- आधिकारिक NVSP वेबसाइट पर जाएं।

2- NVSP पोर्टल पर लॉग इन करें या अकाउंट बनाएं।

3- डेटाबेस में आवश्यक विवरण प्रदान करके अपना विवरण खोजें। आपका विवरण स्क्रीन पर दिखाई देगा।

4- Feed Aadhaar Number पर क्लिक करें।

5- अब आवश्यक विवरण भरें और Submit पर क्लिक करें।

6- सत्यापन प्रक्रिया समाप्त होने के बाद, आपके पास पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस आ जाएगा।

SMS के माध्यम से आधार को वोटर आईडी से जोड़ने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स फॉलो करें:

1- टाइप करें <वोटर आईडी नंबर> <आधार नंबर>।

2- 166 या 51969 पर एसएमएस भेजें।

3- आधार के साथ लिंक किए गए पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एसएमएस भेजना होगा।

4- सत्यापन प्रक्रिया समाप्त होने के बाद, आपके पास पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस आ जाएगा।

फ़ोन कॉल के माध्यम से आधार को वोटर आईडी से जोड़ने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स फॉलो करें:

1- 1950 पर सुबह 10:00 बजे से शाम 5 बजे के बीच कॉल करें।

2- अपना आधार और वोटर आईडी विवरण दें।

3- सत्यापन प्रक्रिया समाप्त होने के बाद, आपके पास पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस आ जाएगा।

आधार को वोटर आईडी से ऑफ़लाइन लिंक करने के लिए नीचे दिए गए स्टेप्स फॉलो करें:

1- अपने नज़दीकी  बूथ लेवल अधिकारी के पास जाएं।

2- बीएलओ से फॉर्म मांगकर फॉर्म भरें।

3- सत्यापन प्रक्रिया समाप्त होने के बाद, आपके पास पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस आ जाएगा।

आधार कार्ड को दस्तावेजों के साथ जोड़ने के लाभ:

1- अपने आधार को बैंक खाते से जोड़ने से न केवल आप सरकारी योजनाओं का फायदा उठा सकेंगे (बशर्ते आप उन योजनाओं के लिए eligible हों) बल्कि आपका बैंक खाता भी सुरक्षित रहेगा। 

2- वित्त मंत्रालय द्वारा अधिसूचना के अनुसार पैन को आधार से लिंक कराना अनिवार्य है। इससे लोग टेक्स चोरी नहीं कर पाएंगे। 

3- एक से ज़्यादा मतदाता पहचान पत्र भी नहीं बन पाएंगे।

4- एलपीजी को आधार से लिंक कराने पर आप भारत सरकार द्वारा दी जाने वाली एलपीजी पर सब्सिडी प्राप्त कर सकते हैं।

5- आधार से जोड़ने पर राशन कार्ड से होने वाले भ्रष्टाचार पर रोक लगेगी।

6- मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करने के बाद, आप भारत सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली सामाजिक सुरक्षा योजनाओं का लाभ उठा सकेंगे। 

आधार को उपर्युक्त दस्तावेजों के साथ जोड़ना आवश्यक है क्योंकि आधार सुरक्षा प्रदान करता है, आपकी पहचान स्थापित करता है, राष्ट्रीय डेटाबेस बनाता है और भ्रष्टाचार पर रोक लगाने के साथ-साथ अनेकों तरीके से लाभकारी है। सूत्रों की मानें तो जल्द ही आधार भारतीय नागरिकों का एकमात्र प्रमाण भी हो सकता है। 

Related Categories

Also Read +
x