सभी 17 सतत विकास लक्ष्यों (SDGs) की सूची

जैसा कि हमें पता है कि सहस्राब्दि विकास लक्ष्य (Millennium Development Goals) 2015 में समाप्त हो गए थे इसलिए इन विकास लक्ष्यों के स्थान पर सतत विकास लक्ष्यों (Sustainable Development Goals) को प्राप्त करने का फैसला संयुक्त राष्ट्र शिखर सम्मेलन में लिया गया था.

इस सम्बन्ध में महासभा की बैठक न्यूयार्क में 25 से 27 सितंबर 2015 में आयोजित की गयी थी. इसी बैठक में अगले 15 साल के लिए 17 ‘लक्ष्य तय किये गये थे जिनको 2016 से 2030 की अवधि में हासिल करने का निर्णय लिया गया था. इस बैठक में 193 देशों ने भाग लिया था. इस संयुक्त राष्ट्र शिखर सम्मेलन की थीम "Transforming our world: The 2030 Agenda for Sustainable Development” थी.

सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) के वैश्विक लक्ष्यों में गरीबी खत्म करना, पर्यावरण की रक्षा, आर्थिक असमानता को कम करना और सभी के लिए शांति और न्याय सुनिश्चित शामिल है.

इसमें जलवायु परिवर्तन, आर्थिक असमानता, नवाचार, टिकाऊ उपभोग, शांति और न्याय जैसे नए विषय जोड़े गये हैं. सहस्राब्दी विकास लक्ष्यों के विपरीत सतत विकास लक्ष्यों में "विकसित" और "विकासशील" देशों के बीच कोई अंतर नहीं है और ये लक्ष्य सभी देशों को प्राप्त करने होंगे. इन लक्ष्यों में कई आपस में एक दूसरे से जुड़े हुए हैं और "पीछे कोई नहीं छूटे" के सिद्धांत पर आधारित हैं.

इस लेख में हम 17 सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) और उनके मुख्य उद्देश्यों की सूची प्रकाशित कर रहे हैं.

ये 17 लक्ष्य इस प्रकार हैं;

 लक्ष्य

    उद्येश्य 

  विवरण

  लक्ष्य -1

 गरीबी की पूर्णतः समाप्ति

 दुनिया के हर देश में सभी लोगों की अत्यधिक गरीबी को समाप्त करना. अभी उन लोगों अत्यधिक गरीब माना जाता है जो कि प्रतिदिन $ 1.25 से कम में जिंदगी गुजारते हैं.

 लक्ष्य -2

  भुखमरी की समाप्ति  

 भुखमरी की समाप्ति, खाद्य सुरक्षा और बेहतर पोषण और टिकाऊ कृषि को बढ़ावा

 लक्ष्य -3

  अच्छा स्वास्थ्य और जीवनस्तर

 सभी को स्वस्थ जीवन देना और सभी के जीवनस्तर में सुधार लाना.

 लक्ष्य -4

  गुणवत्तापूर्ण शिक्षा

 समावेशी और न्यायसंगत, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सुनिश्चित करना और सभी के लिए आजीवन सीखने के अवसरों को बढ़ावा देना.

 लक्ष्य -5

  लैंगिक समानता

 लैंगिक समानता प्राप्त करना और सभी महिलाओं और लड़कियों को सशक्त बनाने के लिए प्रयास करना.

 लक्ष्य -6

  साफ पानी और स्वच्छता

 सभी के लिए स्वच्छ पानी और स्वच्छता की उपलब्धता और उसका टिकाऊ प्रबंधन सुनिश्चित करना

 लक्ष्य -7

  सस्ती और स्वच्छ ऊर्जा

 सभी के लिए सस्ती, भरोसेमंद, टिकाऊ और आधुनिक ऊर्जा की पहुंच सुनिश्चित करना

 लक्ष्य -8

  अच्छा काम और आर्थिक विकास

 निरंतर, समावेशी और टिकाऊ आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के साथ साथ, उत्पादक रोजगार और सभी के लिए सभ्य कार्य को बढ़ावा देना

 लक्ष्य -9

  उद्योग, नवाचार और बुनियादी ढांचा का   विकास

 मजबूत बुनियादी ढांचा बनाना, समावेशी और टिकाऊ औद्योगिकीकरण को प्रोत्साहित करना और नवाचार को बढ़ावा देना.

 लक्ष्य -10

  असमानता में कमी

 देशों के भीतर और देशों के बीच असमानता कम करना

 लक्ष्य -11

  टिकाऊ शहरी और सामुदायिक विकास

 शहरों और मानव बस्तियों को समावेशी, सुरक्षित, लचीला और टिकाऊ बनाना

 लक्ष्य -12

  जिम्मेदारी के साथ उपभोग और उत्पादन

 उत्पादन और उपभोग पैटर्न को टिकाऊ बनाना

 लक्ष्य -13

  जलवायु परिवर्तन

 जलवायु परिवर्तन और उसके प्रभावों से निपटने के लिए तत्काल कार्रवाई सुनिश्चित  करना

 लक्ष्य -14

  पानी में जीवन

 टिकाऊ विकास के लिए महासागरों, समुद्रों और समुद्री संसाधनों का संरक्षण और उनका ठीक से उपयोग सुनिश्चित करना

 लक्ष्य -15

  भूमि पर जीवन

 सतत उपयोग को बढ़ावा देने वाले स्थलीय पारिस्थितिकीय प्रणालियों, सुरक्षित जंगलों, भूमि क्षरण और जैव विविधता के बढ़ते नुकसान को रोकने का प्रयास करना

 लक्ष्य -16

  शांति और न्याय के लिए संस्थान

 टिकाऊ विकास के लिए शांतिपूर्ण और समावेशी समाजों को बढ़ावा देना सौर सभी के लिए न्याय तक पहुंच सुनिश्चित करना

 लक्ष्य -17

  लक्ष्य प्राप्ति में सामूहिक साझेदारी

 सतत विकास के लिए वैश्विक भागीदारी को पुनर्जीवित करना और कार्यान्वयन के साधनों को मजबूत बनाना.

उपर्युक्त टिकाऊ विकास लक्ष्य (एसडीजी) मानव जीवन के लगभग हर पहलू को कवर कर रहे हैं. यदि ये लक्ष्य निर्धारित समय के भीतर हासिल किए जाते हैं, तो यह सुनिश्चित है कि दुनिया भर में गरीबों का जीवन आसान होगा और उन्हें जीने के बेहतर विकल्प उपलब्ध होंगे.

14वें वित्त आयोग की सिफारिशों के आधार पर केंद्रीय कर राजस्व में राज्यों का हिस्सा

Advertisement

Related Categories

Popular

View More