Advertisement

समुद्री सरीसृपों की विलुप्त प्रजातियों की सूची

सरीसृप (Reptiles) प्राणी-जगत का एक समूह है जो कि पृथ्वी पर रेंग कर चलते हैं। इसके अन्तर्गत साँप, छिपकली,मेंढक, मगरमच्छ आदि आते हैं। समुद्री सरीसृप ठंडा खून वाले कशेरुका होते हैं जिनकी त्वचा पर हड्डियों कीपपड़ी की परत होती है जिसकी वजह से वो समुद्री पर्यावरण के जलीय या अर्धसूत्रीय जीवन के लिए अनुकूलित हो जाते हैं।

समुद्री सरीसृपों की विलुप्त प्रजातियों की सूची

1. मेसोसौरस (Mesosaurs)

इस प्रकार की प्रजातियां पर्मियन युग में पायी जाती थी और पहली ज्ञात जलीय सरीसृपों के रूप में मानी जाती हैं। मेसोसौरिदाए और स्टीरियोस्टर्नम मेसोसौरस समुद्री सरीसृप के विलुप्त प्रजाति हैं।

2. फाइटोसौरस (Phytosaurs)

फाइटोसौरस का शाब्दिक अर्थ होता है- पौधे सरीसृप। यह बड़े, अधिकतर अर्धचुंबक लेट ट्रायसिक आर्कोसॉरिफॉर्म सरीसृपों का एक विलुप्त समूह है। इस प्रजाति के मूह थूथन वाला और त्वचा बिलकुल आधुनिक मगरमच्छ की तरह था।

3. स्कुआमेटस (Squamates)

छिपकली और सांप इस सरीसृप के जीनस से संबंधित हैं। जीवाश्म के शोध से पता चलता है कि एंज्यूमोर्फ, इगुअनियंस और उन्नत सांपों के बीच विचलन लगभग 200 माया देर से ट्रायसिक / प्रारंभिक जुरासिक युग के आस पास पाए जाते थे।

4. प्रोतोरोसौरिअस (Protorosaurias)

यह एकोसौरोमोर्फ सरीसृप के पॉलीफेलेटिक समूह से संबंधित है। यह बाद में पर्मियन (चघ्सिंगियन चरण) युग में एशिया, यूरोप, उत्तरी अमेरिका में पाया जाता था।

5. सौरोपतेरीगिंस (Sauropterygians)

यह जलीय सरीसृपों का विविध टैक्सन पर्मियन युग और मेसोज़ोइक युग में पाया जाता था।

भारत में रामसर नामित आर्द्रभूमि की सूची

6. इच्थ्योसौरस (Ichthyosaurs)

इच्थ्योसौरस का शाब्दिक अर्थ मछली होता है और इस तरह की प्रजाति मेसोजोइक युग में पाया जाता था।

7. कोस्तोदेरेस (Choristoderes)

यह अर्ध-जलीय डायप्सिड सरीसृप जो मध्य जुरासिक, या संभवतः लेट ट्रायसिक या  शुरुआती मिओसेन युग में पाया जाता था। यह उत्तरी अमेरिका, एशिया और यूरोप, और संभवतः उत्तरी अफ्रीका और पूर्वी तिमोर के इलाकों में इनके जीवाश्म मिलते हैं।

8. क्रोकोद्यलोमोर्फ (Crocodylomorphs)

यह आर्कोसॉर प्रजाति से संबंधित है जिसमें मगरमच्छ भी शामिल हैं। यह प्रजाति मेसोजोइक और प्रारंभिक सनोज़िक युग के दौरान पाया जाता था।

9. समुद्री कछुआ (Sea turtles)

यह प्रजाति टेस्टुडाइन जीनस से संबंधित हैं, जिन्हें सेनोज़ोइक युग में पाया जाता था। समुद्री कछुए की सात विकसित प्रजातियां हैं: हरा, लॉगरहेड, केम्प की रिडले, ओलिव रिडले, हॉक्सबिल, फ्लैटबैक, और लेदरबैक।

10. थालात्तोसौरस (Thalattosaurs)

यह प्रागैतिहासिक समुद्री सरीसृपों के जीनस से संबंधित है जो मध्यकालीन त्रैसिक काल के दौरान पाये जाते थे। यह आधुनिक छिपकली की तरह लंबी, गद्देदार पूछ और पतला शरीर वाला प्रजाति थी।

पर्यावरण और पारिस्थितिकीय: समग्र अध्ययन सामग्री

Advertisement

Related Categories

Advertisement