Advertisement

भारत के प्रसिद्ध समुद्र तटों की सूची

भारत विश्व का सातवां सबसे बड़ा देश है जबकि आबादी में इसका दूसरा स्थान है। इसकी भूमि सीमा लगभग 15,200 कि. मी. हैं। इसकी मुख्या भूमि, लक्षद्वीप समूह और अंडमान-निकोबार द्वीप समूह के समुन्द्र-तट की कुल लम्बाई 7516.6 कि. मी. है। इसके उत्तर में हिमालय पर्वत सुशोभित है, पूर्व में बंगाल की खाड़ी  और पश्चिम में अरब सागर के बीच हिन्द महासागर से जा मिलता है।

केरल, कर्नाटक, गोवा और महाराष्ट्र के कोकण / मालाबार तट पश्चिमी घाटों पर स्थित हैं। पूर्वी तरफ, बंगाल की खाड़ी और पूर्वी घाट के बीच एक व्यापक क्षेत्र फैला हुआ है, जिसे कोरोमंडल तट कहा जाता है। गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा, कर्नाटक, दमन और दीव और लक्षद्वीप जैसे भारतीय राज्य अरब सागर की तरफ स्थित है वही पश्चिम बंगाल, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, पुडुचेरी और अंडमान- निकोबार द्वीप बंगाल की खाड़ी के पास तरफ स्थित हैं।

भारत के प्रसिद्ध समुद्र तटों की सूची

समुद्र तट के नाम

स्थान

ऋषिकोंडा तट, भीमुनिपत्तनम तट, मंगिनपुडी तट, वोदारेवु तट, माईपैड तट

आंध्र प्रदेश

कालवा तट, डोना पौला तट, मीरामर तट, अंजुना वगाल्टर तट, अरम्बोल तट, अन्गोदा

गोवा

पोरबंदर तट, चोरवाद तट, बेयत द्वारका  तट और वेरावल तट, मांडवी तट, गोपनाथ तट

गुजरात

देवबाग तट, ओम तट और कुटल तट, परम्बुर तट, उल्लाल तट, मुरुदेश्वर तट, मालपे तट, मरावंठे तट, कारवार तट

कर्नाटक

लाइटहाउस तट, रॉकहोल्म तट, समुन्द्र तट, अशोका तट, कप्पद तट, कोवलम तट, वर्कला तट, थिरुमुलावरम तट, वीपीन और गुंडू द्वीप के तट,  चेराइ तट, अल्लेप्पी तट, वेली तट, बेकल तट, शंगुमुग्हम तट, कोवलम तट

केरल

कावारती तट, मिनीकॉय तट, कदामत तट, बंगाराम तट

लक्षद्वीप

गणपतिपुले तट, वेल्नेश्वर तट, मार्वे तट, मनोरी और गोराई तट, जुहू तट, चौपाटी तट, बस्सिएँ तट, अलीबाग मुरुड जंजीर तट, दहाणु तट, मांडवा तट, किहीम तट, श्रीवर्धन तट, हरिहरेश्वर तट, विजयदुर्ग और सिंदुदुर्ग  तट, वेंगुर्ला तट, मालवण तट

महाराष्ट्र

पुरी तट, चांदीपुर तट, गोपालपुर तट, गाहिरमठ, पारादीप तट, बोलिघई तट, कोणार्क तट

ओडिशा

कोर्ब्यं कोवे तट, हेवलॉक द्वीप के तट, नील द्वीप के तट, चिरिया तट, टापू, वंडूर तट

अंडमान और निकोबार द्वीप

पुडुचेरी का समुंद्री तट

पुडुचेरी

पुलिकट तट, कोवेलोंग तट, मरीना तट, पिचावरम तट, कुरुसुदा द्वीप, वस्त्तिकोटाई, सदुररंगापटीनम तट, मंडपम तट, महाबलीपुरम तट

तमिलनाडु

दीघा तट, शंकरपुर तट, फ्रेज़रगंज तट, गनगा सागर तट

पश्चिम बंगाल

देवका (द्वारका) तट, जयपोर तट

दमन

जल्लंधर तट, चक्रतिथ तट, णगोआ तट

दीव

समुद्र तट प्राकृतिक प्रक्रियाओं और मानव निर्मित गतिविधियों के कारण कई भू-रूपात्मक परिवर्तन के अधीन है। तटरेखा बदलाव भारतीय तट सहित कई इलाकों में गंभीर समस्याओं में से एक हैं। भारत की प्रादेशिक समुद्री सीमा या क्षेत्रीय सागर आधार रेखा से 12 समुद्री मील की दूरी तक है, जबकि अविच्छिन्न मंडल या संलग्न क्षेत्र 24 समुद्री मील तक है। इस क्षेत्र मेँ भारत को साफ सफाई, सीमा शुल्क की वसूली और वित्तीय आधार हैं।

अगर भाखड़ा नांगल बांध टूट जाए तो भारत पर इसका क्या असर पड़ेगा?

Advertisement

Related Categories

Advertisement