क्रिकेट विश्व कप में “मैन ऑफ द टूर्नामेंट” और “मैन ऑफ द मैच” पुरस्कार विजेताओं की सूची

किसी भी खेल के अंतर्गत किसी विशेष मैच में जो व्यक्ति अपनी टीम की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है, उसे “मैन ऑफ द मैच” पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है. वर्ष 1992 के क्रिकेट विश्व कप में पहली बार किसी खिलाड़ी को टूर्नामेंट का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी अर्थात “मैन ऑफ द टूर्नामेंट” घोषित किया गया था.

1992 में न्यूजीलैंड के मार्टिन क्रो को “मैन ऑफ द टूर्नामेंट” पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. भारत की ओर से केवल दो खिलाड़ी “सचिन तेंदुलकर” और “युवराज सिंह” ने क्रिकेट विश्व कप में “मैन ऑफ द टूर्नामेंट” का पुरस्कार जीता है. वर्ष 1975 के आईसीसी क्रिकेट विश्व कप के फाइनल में पहली बार क्लाइव लॉयड को “मैन ऑफ द मैच” पुरस्कार से सम्मानित किया गया था.

आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में “मैन ऑफ द टूर्नामेंटपुरस्कार से सम्मानित खिलाड़ियों की सूची

वर्ष

खिलाड़ी

आंकड़े

1992

  मार्टिन क्रो

456 रन

1996

  सनथ जयसूर्या

221 रन, 7 विकेट

1999

  लांस क्लूजनर

281 रन, 18 विकेट

2003

  सचिन तेंदुलकर

673 रन, 2 विकेट

2007

   ग्लेन मैकग्राथ

26 विकेट

2011

   युवराज सिंह

362 रन, 15 विकेट

2015

   मिशेल स्टार्क

22 विकेट

ऊपर की टेबल देखने के बाद यह आंकड़े मिलते हैं कि केवल भारत और ऑस्ट्रेलिया की ऐसी दो टीमें हैं जिनके 2-2 खिलाडियों को आईसीसी क्रिकेट विश्व कप में “मैन ऑफ द टूर्नामेंट” पुरस्कार दिया गया है. इसके अलावा न्यूज़ीलैंड, श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका के एक-एक खिलाड़ी को यह पुरस्कार दिया गया है.

आईसीसी क्रिकेट विश्व कप के फाइनल में “मैन ऑफ द मैचपुरस्कार से सम्मानित खिलाड़ियों की सूची

वर्ष

"मैन ऑफ़ द मैच" खिलाड़ी

आंकड़े

1975

  क्लाइव लॉयड

102 रन

1979

  विवयन रिचर्ड्स

138 रन नाबाद

1983

  मोहिन्दर अमरनाथ

26 रन, 12 रन पर 3 विकेट

1987

  डेविड बून

75 रन

1992

  वसीम अकरम

33 रन, 39 रन पर 3 विकेट

1996

  अरविंद डीसिल्वा

42 रन पर 3 विकेट, 107 रन नाबाद

1999

  शेन वार्न

33 रन पर 4 विकेट

2003

  रिकी पोंटिंग

140 रन

2007

  एडम गिलक्रिस्ट

149 रन

2011

  महेन्द्र सिंह धोनी

91 रन नाबाद

2015

  जेम्स फॉकनर

36 रन पर 3 विकेट

अब तक केवल दो भारतीय (मोहिंदर अमरनाथ और एम.एस. धोनी) हैं, जिन्होंने विश्व कप के फाइनल मैच में "मैन ऑफ़ द मैच" पुरस्कार जीता है. यह बताना दिलचस्प है कि क्रिकेट विश्व कप के फाइनल में किसी भी खिलाड़ी ने "मैन ऑफ द मैच" पुरस्कार दो बार नही जीता है. ऑस्ट्रेलिया एकमात्र ऐसी टीम है जिसके 5 खिलाड़ियों ने वर्ल्ड कप के फाइनल में "मैन ऑफ़ द मैच" पुरस्कार जीता है.

भारतीय क्रिकेटरों की जर्सी में ‘BCCI लोगो’ के ऊपर “तीन स्टार” क्यों बने हैं?

भारत की पहली क्रिकेट टीम में कौन-कौन से खिलाड़ी थे?

Advertisement

Related Categories

Popular

View More