जानें सर्जिकल स्ट्राइक किसे कहते हैं?

"हम सोते हैं क्योंकि सैनिक जागते हैं, हम जीते हैं क्योंकि वो मरकर हमे जीवन देते हैं। ये हमारे समाज का ऐसा समूह है, जो अंतिम साँस तक राष्ट्र की रक्षा करता है- यही हैं हमारी शांति का एकमात्र कारण है।"

भारत स्वभावतः एक नरमपंथी विचारधारा वाला राष्ट्र है लेकिन हमेशा खुफिया एजेंसियों से प्राप्त विशिष्ट एवं विश्वसनीय सूचनाओं के आधार पर सर्जिकल स्ट्राइक और गुप्त ऑपरेशन जैसे कठोर कदम उठाता रहा है। उदाहरण के लिये म्यांमार में किया गया गुप्त ऑपरेशन सेना की शीघ्र और निर्भीक कारवाई का सबसे अच्छा उदाहरण था। यह कारवाई उस समय की गई थी जब आतंकवादियों ने मणिपुर के चंदेल जिले में सेना के एक काफिले पर घात लगाकर हमला किया था जिसमें 18 सैनिकों की मौत हो गई थी। यह हमला पिछले दो दशकों में इस क्षेत्र में आतंकवादियों किया गया सबसे घातक हमला था।

हाल ही में, भारत ने आतंकवाद के खिलाफ शून्य सहिष्णुता (zero tolerance) बरतने के अपने रुख को साबित करते हुए नियंत्रण रेखा (LOC) के पार आतंकवादियों के ठिकानों (launch pads) को लक्षित कर सर्जिकल स्ट्राइक की घटना को अंजाम दिया है।

सर्जिकल स्ट्राइक या सर्जिकल ऑपरेशन क्या है?

सर्जिकल स्ट्राइक या सर्जिकल ऑपरेशन एक सुनियोजित सैन्य कारवाई होती है जिसका उद्येश्य एक निश्चित लक्ष्य पर हमला कर उसे नेस्तनाबूद करना होता है। इस कारवाई के दौरान इस बात का खास ख्याल रखा जाता है कि आसपास रहने वाले लोगों, इमारतों और गाड़ियों को कोई नुकसान नहीं पहुंचे। इस प्रकार के ऑपरेशन को सफल बनाने के लिए सरकार, खुफिया एजेंसियों और सुरक्षा बलों के बीच समन्वय की आवश्यकता होती है। यह एक त्वरित और प्रभावी कारवाई होती है और इस घटना के बाद किसी भी स्थिति से निबटने के लिए अतिरिक्त सैन्य सहायता को भी तैयार रखा जाता है।

रॉ (RAW) से संबंधित रोचक तथ्य

कैसे सर्जिकल स्ट्राइक की घटना को अंजाम दिया जाता है।

सर्जिकल स्ट्राइक के तहत जिस स्थान पर हमला करना होता है उसकी पूरी जानकारी जुटाई जाती है एवं उसी के हिसाब से हमले की प्लानिंग की जाती है। इसके लिए विशेष कमांडो दस्ता तैयार किया जाता है और बहुत ही गोपनीय तरीके से कमांडो दस्ते को टारगेट तक पहुंचाया जाता है। इसके बाद दुश्मन को संभलने का मौका दिए बगैर दुश्मन पर चौतरफा हमला किया जाता है और उसे घेरकर वहीं तबाह कर दिया जाता है। सर्जिकल स्ट्राइक की अधिकांश घटना को देर रात को या अहले सुबह अंजाम दिया जाता है।

सिंधु जल संधि (आईडब्ल्यूटी): जल बंटवारे से संबंधित समझौता

Related Categories

Popular

View More