Advertisement

14 सितम्बर को ही राष्ट्रीय हिन्दी दिवस क्यों मनाया जाता है?

भारत में हर साल 14 सितंबर को देश में हिन्दी भाषा की महत्ता को प्रदर्शित करने के लिये सम्पूर्ण भारत में राष्ट्रीय हिन्दी दिवस या हिन्दी दिवस मनाया जाता है. इसी दिन हिंदी को देश की राजभाषा होने का गौरव प्राप्त हुआ था. भारत में हिन्दी भाषा का इतिहास इंडो-यूरोपियन भाषा परिवार के इंडो-आर्यन शाखा से संबद्ध रखता है. ये हम सब जानते हैं कि भारत में सैकड़ों भाषाएं और बोलियां बोली जाती है. आजादी के बाद देश में सबसे ज्यादा भाषा को लेकर बड़ा सवाल था. 6 दिसंबर 1946 में आजाद भारत का संविधान तैयार करने के लिए संविधान का गठन हुआ. 26 नवंबर 1949 को संविधान के अंतिम प्रारूप को संविधान सभा ने मंजूरी दे दी थी और इस प्रकार आजाद भारत का अपना संविधान 26 जनवरी 1950 से पूरे देश में लागू हुआ.

भारत के अलावा मॉरीशस, पाकिस्तान, सुरीनाम, त्रिनिदाद और कुछ दूसरे देशों में भी हिन्दी भाषा बोली जाती है और भारतीय नागरिक दुनिया के जिस किसी देश में रहते हैं वहां हिन्दी एक भाषा के रूप में पढ़ी और लिखी जाती है. लेकिन क्या आपको पता है कि भारत में हर वर्ष 14 सितम्बर को ही राष्ट्रीय हिन्दी दिवस या हिन्दी दिवस क्यों मनाया जाता है? इस लेख में हम इस प्रश्न के उत्तर के अलावा हिन्दी भाषा एवं हिन्दी दिवस से जुड़े कुछ रोचक तथ्यों का विवरण दे रहे हैं.

14 सितम्बर को ही राष्ट्रीय हिन्दी दिवस क्यों मनाया जाता है?

 
Image source: YouTube

आजादी के बाद भारत सरकार ने देश की मातृभाषा को आर्दश स्वरूप देने के लिये एक लक्ष्य बनाया और हिन्दी भाषा को व्याकरण और वर्तनीयुक्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया. इसके  बाद 14 सितंबर, 1949 को संविधान सभा ने एक मत से यह निर्णय लिया कि हिन्दी ही भारत की राजभाषा होगी. इसी महत्वपूर्ण निर्णय के महत्व को प्रतिपादित करने तथा हिन्दी को हर क्षेत्र में प्रसारित करने के लिये राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा के अनुरोध पर सन् 1953 से संपूर्ण भारत में 14 सितंबर को प्रतिवर्ष राष्ट्रीय हिन्दी दिवस या हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाता है. इसके अलावा 14 सितम्बर, व्यौहार राजेन्द्र सिंह का जन्मदिवस भी है, जिन्होने हिन्दी को भारत की राजभाषा बनाने की दिशा में अथक प्रयास किया था.

भारत के संविधान में वर्णित राजभाषाओं की सूची

हिन्दी भाषा एवं हिन्दी दिवस से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

1. भारत में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा हिन्दी है. देश के लगभग 78% लोग हिन्दी बोलते और समझते हैं.

2. हिन्दी के बारे में सबसे रोचक तथ्य यह है कि “हिन्दी” मूलत: फारसी भाषा का शब्द है और हिन्दी की पहली कविता प्रख्यात कवि “अमीर खुसरो” ने लिखी थी.

3. आपको यह जानकर हैरानी होगी कि हिन्दी भाषा के इतिहास पर पहले साहित्य की रचना एक फ्रांसीसी लेखक “ग्रासिन द तैसी” ने की थी.

4. 1977 में तत्कालीन भारतीय विदेश मंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने पहली बार संयुक्त राष्ट्र संघ की आम सभा को हिन्दी में संबोधित किया था.

5. “नमस्ते” शब्द हिन्दी भाषा में सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाने वाला शब्द है.

6. सन् 2000 में हिन्दी का पहला वेबपोर्टल (Web portal) अस्तित्त्व में आया था तभी से इंटरनेट पर हिन्दी ने अपनी छाप छोड़नी प्रारंभ कर दी थी, जो अब रफ्तार पकड़ चुकी है.

7. “Google” के अनुसार पिछले कुछ वर्षों में इंटरनेट पर हिन्दी कंटेंट की खपत में काफी वृद्धि हुई है और साल-दर-साल अंग्रेजी कंटेंट के 19% की वृद्धि के मुकाबले हिन्दी कंटेंट में 94% की बढ़ोतरी हो रही है.


Image source: Gyani Pandit

8. हिन्दी भारत की उन 7 भाषाओं में से एक भाषा है जिसका इस्तेमाल वेब एड्रेस (Web addresses) (URLs) बनाने के लिए किया जाता है.

9. वर्तमान में अमेरिका के 45 विश्वविद्यालय सहित पूरे विश्व के लगभग 176 विश्वविद्यालयों में हिन्दी की पढ़ाई होती है.  

5 सितंबर को ही क्यों शिक्षक दिवस मनाया जाता है

10. वर्ष 1918 में महात्मा गांधी ने हिन्दी साहित्य सम्मेलन में पहली बार हिन्दी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने की बात कही थी. गांधीजी ने हिन्दी को जनमानस की भाषा भी कहा था.

11. 26 जनवरी, 1950 को संविधान के अनुच्छेद 343 में हिन्दी को राजभाषा के रूप में मान्यता दी गई थी.

12. हिन्दी भाषा को जब राजभाषा के रूप में चुना गया और लागू किया गया तो गैर-हिन्दी भाषी राज्य के लोग इसका विरोध करने लगे. परिणामस्वरूप वर्तमान में भारत की राजभाषा से जुड़ी संविधान की आठवीं अनुसूची में हिन्दी के अलावा 21 अन्य भाषाएं शामिल हैं.

13. हिन्दी दिवस के अवसर पर हर वर्ष 14 सितम्बर से 21 सितम्बर तक राजभाषा सप्ताह या हिन्दी सप्ताह मनाया जाता है. इस पूरे सप्ताह अलग-अलग प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है. यह आयोजन विद्यालय और कार्यालय दोनों स्थानों पर किया जाता है. इसका मूल उद्देश्य हिन्दी भाषा के लिए विकास की भावना को लोगों में केवल हिन्दी दिवस तक ही सीमित न कर उसे और अधिक बढ़ाना है। इन सात दिनों में लोगों को निबंध लेखन और अन्य क्रियाकलापों के माध्यम से हिन्दी भाषा के विकास और उसके उपयोग के लाभ के बारे में समझाया जाता है.

14. हिन्दी दिवस पर हिन्दी के प्रति लोगों को प्रेरित करने हेतु भाषा सम्मान की शुरुआत की गई है. यह सम्मान प्रतिवर्ष देश के ऐसे व्यक्तित्व को दिया जाता है जिन्होंने जन-जन में हिन्दी भाषा के प्रयोग एवं उत्थान के लिए विशेष योगदान दिया है.


Image source: AajTak

15. हिन्दी दिवस पर प्रतिवर्ष वितरित किये जाने वाले पुरस्कारों में सें दो के नाम गृह मंत्रालय द्वारा 25 मार्च 2015 को बदल दिये गये. 1986 में स्थापित किये गए “इंदिरा गाँधी राजभाषा पुरस्कार” को “राजभाषा कीर्ति पुरस्कार” और “राजीव गाँधी राष्ट्रीय ज्ञान विज्ञान मौलिक पुस्तक लेखन” पुरस्कार को “राजभाषा गौरव पुरस्कार” में बदल दिया गया है.

तो अब आपको ज्ञात हो गया होगा कि हिन्दी दिवस 14 सितम्बर को ही क्यों मनाया जाता है और कब हिन्दी भाषा को राष्ट्रीयकृत किया गया था.

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस क्यों मनाया जाता है?

पृथ्वी दिवस कब और क्यों मनाया जाता है?

 

Advertisement

Related Categories

Advertisement