सचिन को ICC हॉल ऑफ़ फेम में शामिल क्यों नहीं किया गया है?

वर्ष 2018 में भारत के प्रसिद्द खिलाड़ी राहुल द्रविड़ को "आईसीसी हॉल ऑफ फेम" की लिस्ट में शामिल किया गया है. राहुल द्रविड़ इस लिस्ट में शामिल होने वाले 5 वें भारतीय बने. राहुल के अलावा इस लिस्ट में रिकी पोंटिंग और इंग्लैंड की महिला क्रिकेट खिलाड़ी क्लेयर टेलर को भी शामिल किया गया है. इस प्रकार आईसीसी हॉल ऑफ फेम" की लिस्ट में अब तक 87 क्रिकेट खिलाडियों को शामिल किया जा चुका है.

आश्चर्य की बात है कि दुनिया में अपनी बल्ले से शेन वार्न जैसे दिग्गज गेंदबाज की नींद उड़ा देने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को इस लिस्ट में अभी शामिल नहीं किया गया है. आइये इस लेख में इसके पीछे के कारण को जानते हैं.

ICC हॉल ऑफ़ फेम के बारे में;

आईसीसी क्रिकेट “हॉल ऑफ फेम" की लिस्ट में क्रिकेट की महान हस्तियों को शामिल किया जाता है. आईसीसी, “हॉल ऑफ फेम” में शामिल किये जाने वाले महान खिलाड़ियों की सूची हर साल जारी करता है. इस सूची को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने फेडरल ऑफ इंटरनेशनल क्रिकेटर्स एसोसिएशन (एफआईसीए) के सहयोग से 2 जनवरी 2009 से जारी करना शुरू किया था. हॉल ऑफ फेम के मौजूदा सदस्य वोटिंग से तय करते हैं कि इस लिस्ट में कौन से नए चेहरे शामिल किये जायेंगे.

क्रिकेट पुरुषों का खेल माना जाता है; शायद यही कारण है कि इस लिस्ट में शामिल 87 खिलाड़ियों में से केवल 7 महिलाएं हैं.

वर्ष 2010 में, इंग्लैंड की पूर्व महिला क्रिकेट कप्तान “रेचेल फ़्लिंट” हॉल ऑफ फेम सूची में शामिल होने वाली पहली महिला बनीं थी.

क्रिकेट के इतिहास में पहला टॉस, पहला रन और पहला शतक, किसने, कब, कहाँ बनाया था?

"हॉल ऑफ फेम" लिस्ट में कौन देश के कितने खिलाड़ी हैं?

इस हॉल ऑफ फेम" लिस्ट में सबसे अधिक 28 खिलाड़ी इंग्लैंड से और 25 खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया के हैं. इन दोनों देशों के खिलाड़ी इस लिस्ट में ज्यादा इसलिए हैं क्योंकि ये दोनों देश सबसे पुराने क्रिकेट खेलने वाले देश हैं.

इस लिस्ट में भारत के खिलाड़ी वर्ष 2009 से शामिल किये जा रहे हैं हालाँकि शामिल करने की मान्यता 1932 में ही मिल गयी थी. हालाँकि भारत की ओर से सबसे पहले बिशन सिंह बेदी, कपिल देव और सुनील गावस्कर को 2009 शामिल किया गया था. इस लिस्ट में श्रीलंका की ओर से सिर्फ मुथैया मुरलीधरन को ही शामिल किया गया है.

आईसीसी क्रिकेट हॉल ऑफ़ फेम में शामिल भारतीय क्रिकेटरों की सूची इस प्रकार है;

खिलाड़ी का नाम

टीम

शामिल होने का वर्ष

 1. बिशन सिंह बेदी

भारत

2009

 2. कपिल देव

भारत

2009

 3. सुनील गावस्कर

भारत

2009

 4. अनिल कुंबले

भारत

2015

 5. राहुल द्रविड़

भारत

2018

सचिन को "हॉल ऑफ फेम" लिस्ट में क्यों शामिल नहीं किया गया है?

आंकड़े बताते हैं कि जनवरी 2012 में अपना आखिरी टेस्‍ट खेलने वाले राहुल द्रविड़ ने 164 टेस्‍ट में 36 शतक की मदद से 13288 रन, 344 वनडे में 12 शतक की मदद से 10889 रन और एकमात्र टी20 मैच में 31 रन बनाए थे. सचिन ने 200 टेस्‍ट में 51 शतक की सहायता से 15,921 रन बनाए हैं जबकि वनडे क्रिकेट में उन्होंने 463 मैचों में 49 शतक लगाते हुए 18,426 रन बनाये हैं.

आंकड़ों के हिसाब से सचिन का रिकॉर्ड द्रविड़ से बेहतर है लेकिन फिर भी द्रविड़ को इस लिस्ट में पहले क्यों शामिल कर लिया गया है? आइये जानते हैं.

आईसीसी के नियम के मुताबिक, आईसीसी “हॉल ऑफ फेम" की लिस्ट में उन्हीं महान क्रिकेट हस्तियों को शामिल किया जाता है जिन्हें इंटरनेशनल मैच खेले कम से कम 5 वर्ष हो गये होते हैं या लिस्ट में शामिल होने से कम से कम 5 वर्ष पहले इंटरनेशनल क्रिकेट से सन्यास ले लिया हो.

ज्ञातव्य है कि सचिन ने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच नवंबर 2013 में वेस्टइंडीज़ के खिलाफ मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेला था. इसलिए नियम की बंदिश के कारण ही सचिन के नाम को इस लिस्ट में शामिल नहीं किया गया है. लेकिन अब सचिन अब को रिटायर्ड हुए 5 वर्ष का समय हो चुका है. इसलिए यह उम्मीद की जाती है कि वर्ष 2019 में सचिन का नाम आईसीसी “हॉल ऑफ फेम" की लिस्ट में 6 वें भारतीय के रूप में अवश्य ही शामिल हो जायेगा.

ICC किस आधार पर खिलाडियों की रैंकिंग जारी करता है?
भारतीय क्रिकेट खिलाडियों की टी-शर्ट का नम्बर कैसे तय होता है?

Related Categories

Popular

View More