Search

भारत के सीमेंट उद्योग का भौगोलिक वितरण

सीमेंट उद्योग कच्चा माल आधारित उद्योग है। चीन के बाद भारत दुनिया के सबसे बड़े सीमेंट उत्पादकों में से एक है। पहला सीमेंट संयंत्र 1904 में पोरबंदर, गुजरात में स्थापित किया गया था, जबकि सीमेंट का उत्पादन 1904 में मद्रास (अब चेन्नई) में शुरू किया गया था। विश्व में सबसे पहले आधुनिक ढंग की सीमेंट का निर्माण 1824 में ब्रिटेन के 'पोर्टलैण्ड' नामक स्थान पर किया गया था। इस लेख में हमने भारत के सीमेंट उद्योग का भौगोलिक वितरण के बारे में बताया है जो UPSC, SSC, State Services, NDA, CDS और Railways जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए बहुत ही उपयोगी है।
Feb 8, 2019 17:10 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon
Geographical Distribution of Cement Industry in India HN
Geographical Distribution of Cement Industry in India HN

सीमेंट उद्योग कच्चा माल आधारित उद्योग है। सीमेंट को भवन निर्माण की प्रमुख सामग्री के रूप में मान्यता प्राप्त है। उत्पादन एवं वितरण प्रतिरूप की दृष्टि से भारत का मध्य प्रदेश राज्य सर्वाधिक सीमेंट उत्पादक राज्य है। सीमेंट के निर्माण के लिए भारी मात्रा में कच्चे माल का प्रयोग किया जाता है, जिसमें चूना, पत्थर, जिप्सम तथा कोयला प्रमुख है। इनकी ढुलाई पर आने वाले अधिक खर्च को बचाने के लिए सीमेंट कारखाने प्रायः कच्चे माल के क्षेत्रों के समीप ही स्थापित किये जाते हैं।

चीन के बाद भारत दुनिया के सबसे बड़े सीमेंट उत्पादकों में से एक है। पहला सीमेंट संयंत्र 1904 में पोरबंदर, गुजरात में स्थापित किया गया था, जबकि सीमेंट का उत्पादन 1904 में मद्रास (अब चेन्नई) में शुरू किया गया था। विश्व में सबसे पहले आधुनिक ढंग की सीमेंट का निर्माण 1824 में ब्रिटेन के 'पोर्टलैण्ड' नामक स्थान पर किया गया था। जिसके नाम पर आज भी इसें 'पोर्टलैण्ड सीमेंट' कहा जाता है। सीमेंट उद्योग जो कच्चे माल के रूप में समुद्र के गोले का उपयोग करते हैं, द्वारका (गुजरात), तिरुअनंतपुरम (केरल), और चेन्नई (तमिलनाडु) में स्थापित किए गए हैं।

भारत के सीमेंट उद्योग का भौगोलिक वितरण

1. मध्य प्रदेश

प्रमुख केंद्र: कैमूर, कटनी, सतना, नियोर, ग्वालियर, जबलपुर, मंधार, दमोह, इटारसी दुर्ग, मैहर, नीमच

2. आंध्र प्रदेश

प्रमुख केंद्र: करीमनगर, सीमेंटनगर, आदिलाबाद, गुंटूर, कुर्नूल, मंगलागिरि, माछरेला, बसन्त नगर, मांचेरियल, पनियाम, कृष्णा तथा विजयवाड़ा

3. राजस्थान

प्रमुख केंद्र: होपुर, चित्तौड़गढ़, उदयपुर, लखेरी, सवाई माधोपुर, चुरू, निम्बाहेड़ा, व्यावर, मेड़क

भारत के रेशम उद्योग का भौगोलिक वितरण

4. कर्नाटक

प्रमुख केंद्र: बंगलोर, शाहाबाद, भद्रावती, बागलकोट, कुरकुन्ता तथा बीजापुर

5. गुजरात

प्रमुख केंद्र: पोरबंदर, सिक्का (जामनगर), अहमदाबाद, द्वारिका, सिवालिया, रानाबाव, ओखामण्डल

6. झारखंड

प्रमुख केंद्र: सिन्दरी, बन्जारी, जौबास, खिलारी, जापला, तथा कल्याणपुर

7. उत्तर प्रदेश

प्रमुख केंद्र: चुर्क, चोपन, कानपुर तथा डाला

भारत के चीनी उद्योग का भौगोलिक वितरण

8. पंजाब

प्रमुख केंद्र: भूपेंद्रनगर

9. महाराष्ट्र

प्रमुख केंद्र: चंद्रपुर

10. पश्चिम बंगाल

प्रमुख केंद्र: दुर्गापुर

भारत के सूती वस्त्र उद्योग का भौगोलिक वितरण

11. तमिलनाडू

प्रमुख केंद्र: तलैयूथ, तिरुनलवैली, अलंगुलम, तिरुनेल्वेलि, तुलुकापट्टी, राजमलायम, शंकरीदुर्ग, पुलायुर, मधुक्करी

12. बिहार

प्रमुख केंद्र: डालमिया नगर

13. छत्तीसगढ़

प्रमुख केंद्र: दुर्ग, बनमोर, रायपुर

भारत में, केवल बीस (20) कंपनियां सीमेंट उद्योग पर हावी हैं, जो भारत में कुल सीमेंट उत्पादन का लगभग 70% हिस्सा हैं। भारत सरकार आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के लिए बुनियादी ढांचे के विकास पर दृढ़ता से केंद्रित है और 100 स्मार्ट शहरों के लिए काम कर रही है जो रेलवे की क्षमता का विस्तार करने और सीमेंट के परिवहन को कम करने और परिवहन लागत को कम करने के लिए भंडारण और भंडारण की सुविधाओं का विस्तार करना चाहते हैं। इन उपायों से निर्माण गतिविधि बढ़ेगी जिससे सीमेंट की मांग बढ़ेगी।

विश्व की प्रमुख फसलें और उनके लिए आवश्यक भू-जलवायु स्थिति