Search

भारत में सभी सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के बैंकों की सूची 2020

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने 30 अगस्त 2019 को 10 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों (Public Sector Banks का 4 बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में विलय कर दिया था. वर्तमान में भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की संख्या घटकर 12 रह गई है जो कि 2017 में 27 थी. आइये इस लेख में जानते हैं कि भारत में कौन कौन से सार्वजानिक बैंक हैं?
Feb 26, 2020 13:08 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon
Public and Private Banks in India
Public and Private Banks in India

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI), भारत में सर्वोच्च बैंकिंग नियामक अथॉरिटी है. यह भारतीय रिजर्व बैंक अधिनियम, 1934 द्वारा स्थापित किया गया था. RBI, देश में बैंकिंग व्यवस्था के लिए नियम बनाता है और देश की मौद्रिक नीति के बारे में निर्णय लेता है.

भारत के बैंकिंग क्षेत्र को मुख्य रूप से दो प्रमुख वर्गों में बांटा गया है पहला है; अनुसूचित बैंक और  गैर-अनुसूचित बैंक. अनुसूचित बैंक उन बैंकों को कहा जाता है जिनको आरबीआई अधिनियम,1934 की द्वितीय अनुसूची में शामिल किया गया है.

स्वामित्व के आधार पर; वाणिज्यिक बैंकों को तीन समूहों में विभाजित किया जाता है अर्थात् निजी क्षेत्र के बैंक, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक और विदेशी बैंक.

भारत में वाणिज्यिक बैंकों के प्रकार (Types of Commercial Banks in India)

1. प्राइवेट क्षेत्र के बैंक (Private Sector Banks): - जिन बैंकों में निजी व्यक्तियों का स्वामित्व होता है, उन्हें प्राइवेट बैंक कहा जाता है. प्राइवेट बैंकों के उदाहरण हैं; एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और एक्सिस बैंक आदि.

banking-structure-india

2. सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक (Public Sector Banks): - जिन बैंकों में मेजोरिटी हिस्सेदारी (51%) सरकार के पास होती है, उन्हें सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक कहा जाता है. सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के उदाहरण हैं; पंजाब नेशनल बैंक, भारतीय स्टेट बैंक और सेंट्रल बैंक ऑफ़ इंडिया आदि.

क्या भारत सरकार नए नोट छापकर विदेशी कर्ज चुका सकती है?

3. विदेशी बैंक (Foreign Banks):- एक विदेशी बैंक को मेहमान देश और मेजवान देश दोनों के नियमों को मानना पड़ता है. भारत के लिए विदेशी बैंक दो प्रकार के हो सकते हैं. एक वे बैंक जो भारत में अपनी ब्रांच खोलते हैं और दूसरे वे बैंक जो भारत में अपनी प्रतिनिधि शाखा के माध्यम से बिज़नेस करते हैं. भारत में विदेशी बैंकों के उदहारण हैं;स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक, अमेरिकन एक्सप्रेस और सिटी बैंक आदि.

भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की सूची 2020 (List of Public Sector Banks in India 2020)

बैंक का नाम

स्थापना

मुख्यालय

1. बैंक ऑफ बड़ौदा

1908

वडोदरा, गुजरात

2.बैंक ऑफ इंडिया

1906

मुंबई, महाराष्ट्र

3.बैंक ऑफ महाराष्ट्र

1935

पुणे, महाराष्ट्र

4. केनरा बैंक

1906

बेंगलुरु, कर्नाटक

5. सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया

1911

मुंबई, महाराष्ट्र

5. इंडियन बैंक

1907

चेन्नई, तमिलनाडु

7. इंडियन ओवरसीज बैंक

1937

चेन्नई, तमिलनाडु

8. पंजाब और सिंध बैंक

1908

नई दिल्ली, दिल्ली

9.पंजाब नेशनल बैंक

1894

नई दिल्ली, दिल्ली

10. स्टेट बैंक ऑफ इंडिया

1955

मुंबई, महाराष्ट्र

11. यूको बैंक

1943

कोलकाता, पश्चिम बंगाल

12.यूनियन बैंक ऑफ इंडिया

1919

मुंबई, महाराष्ट्र

निजी क्षेत्र के बैंकों की सूची 2020 (List of Private Sector Banks 2020)

बैंक का नाम

स्थापना

मुख्यालय

1. एक्सिस बैंक

1993

मुंबई, महाराष्ट्र

2. बंधन बैंक

2015

कोलकाता, पश्चिम बंगाल

3. CSB बैंक

1920

त्रिशूर, केरल

4. सिटी यूनियन बैंक

1904

तंजावुर, तमिलनाडु

5. DCB बैंक

1930

मुंबई, महाराष्ट्र

6. धनलक्ष्मी बैंक

1927

त्रिशूर, केरल

7. फेडरल बैंक

1931

अलुवा, केरल

8. एचडीएफसी बैंक

1994

मुंबई, महाराष्ट्र

9. आईसीआईसीआई बैंक

1994

मुंबई, महाराष्ट्र

10. इंडसइंड बैंक

1964

मुंबई, महाराष्ट्र

11. IDFC फर्स्ट बैंक

2015

मुंबई, महाराष्ट्र

12. जम्मू और कश्मीर बैंक

1938

श्रीनगर, जम्मू और कश्मीर

13. कर्नाटक बैंक

1924

मंगलुरु, कर्नाटक

14. करूर वैश्य बैंक

1916

करूर, तमिलनाडु

15. कोटक महिंद्रा बैंक

2003

मुंबई, महाराष्ट्र

16. लक्ष्मी विलास बैंक

1926

चेन्नई, तमिलनाडु

17. नैनीताल बैंक

1922

नैनीताल, उत्तराखंड

18. RBL बैंक

1943

मुंबई, महाराष्ट्र

19. साउथ इंडियन बैंक

1929

त्रिशूर, केरल

20. तमिलनाड मर्केंटाइल बैंक

1921

थूथुकुडी, तमिलनाडु

21. YES बैंक

2004

मुंबई, महाराष्ट्र

22. IDBI बैंक

1964

मुंबई, महाराष्ट्र

राजस्व के मामले में, एचडीएफसी बैंक भारत में निजी क्षेत्र का सबसे बड़ा बैंक है. इसका कुल राजस्व रु. 816.02 बिलियन (US $ 11 बिलियन) है. राजस्व के मामले में ICICI बैंक दूसरे स्थान पर है इसका राजस्व रु. 736.60 बिलियन (यूएस $ 10 बिलियन) है.

यदि सरकारी बैंकों के बारे में बात की जाये तो राजस्व के हिसाब से सबसे बड़ा बैंक भारतीय स्टेट बैंक है.इसका कुल राजस्व 52,050 बिलियन रुपये (US$730 बिलियन अमेरिकी डॉलर) है. वर्तमान में इस बैंक में भारत सरकार की हिस्सेदारी 61% है.

वर्तमान में भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के कितने बैंक हैं (How many Public Sector Banks are there in India in 2020)

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने 30 अगस्त 2019 को 10 सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का 4 बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में विलय कर दिया था. इस विलय के कारण वर्तमान में भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की संख्या घटकर 12 हो गई है जो कि पहले 27 थी. ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया का विलय पंजाब नेशनल बैंक में किया गया है. 

इस विलय के बाद पंजाब नेशनल बैंक शाखा नेटवर्क के मामले में भारतीय स्टेट बैंक के बाद भारत का दूसरा सबसे बड़ा सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक होगा.

निजी क्षेत्र के बैंकों और सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की उपर्युक्त सूची समय-समय पर बदलती रहती है. इसलिए छात्रों को समाचार पत्रों और अन्य स्रोतों के माध्यम से लेटेस्ट जानकारी प्राप्त करने की आवश्यकता है.

Monetary Policy Committee (MPC): संरचना और उद्देश्य

पेमेंट बैंक किसे कहते हैं और इसकी क्या विशेषताएं है?