शेयर बाजार में सेबी के मुख्य कार्य क्या हैं?

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) भारत में प्रतिभूति और वित्त का नियामक बोर्ड है। इसकी स्थापना 12 अप्रैल 1988 में हुई थीl इसका मुख्यालय मुंबई में हैl सेबी को सांविधिक निकाय का दर्जा 1992 में दिया गया थाl भारत में शेयर बाजार इसी संस्था के दिशा निर्देशों पर चलता हैl सेबी के वर्तमान चेयरमैन अजय त्यागी हैं l
Created On: Mar 17, 2017 17:20 IST

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) भारत में प्रतिभूति और वित्त का नियामक बोर्ड है। इसकी स्थापना 12 अप्रैल 1988 में हुई थीl इसका मुख्यालय मुंबई में हैl सेबी को सांविधिक निकाय का दर्जा 1992 में दिया गया थाl भारत में शेयर बाजार इसी संस्था के दिशा निर्देशों पर चलता हैl सेबी के वर्तमान चेयरमैन अजय त्यागी हैं l

SEBI-GUIDANCE

Image source:Magicbricks.com

सेबी के मुख्य कार्य इस प्रकार हैं: 

1. निवेशकों के हितों की रक्षा करना और उपयुक्त नियम बनाकर पूँजी बाजार को चलानाl

2. शेयर बाजारों और अन्य प्रतिभूति बाजारों के कारोबार को विनियमित करना l

3. शेयर दलालों, उप दलालों, शेयर ट्रांसफर एजेंट, मर्चेंट दलालों, अंडरराइटर्स, पोर्टफोलियो मैनेजर्स के कामकाज को विनियमित करना l

 share-brokers

Image source:Business Today

4. प्रतिभूति बाजार में लगे हुए लोगों को जालसाजी से रोकने के लिए ट्रेनिंग देना और बाजार में स्वस्थ प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देना l

सूचकांकों के प्रकार

5. प्रतिभूति बाजार में भ्रष्टाचार को खत्म करना

6. म्यूचुअल फंड कंपनियों की सामूहिक निवेश योजनाओं को पंजीकृत और और इनकी व्यापारिक गतिविधियों पर कड़ी नजर रखनाl

 mutual-fund

Image source:Business Today 

7. नये निवेशकों के लिए ट्रेनिंग की व्यवस्था करना (ट्रेनिंग बुकलेट छापना)

8. आंतरिक व्यापार (insider trading) को ख़त्म करना l

 insider-trading

Image source:Business Today

9. प्रतिभूति बाजार में संलग्न सभी संस्थाओं की गतिविधियों पर नजर रखना और स्वस्थ व्यापार गतिविधियों को बढ़ावा देना l

10. उपर्युक्त उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए अनुसंधान और जांच को प्रोत्साहित करना l

सारांश रूप में यह कहा जा सकता है कि भारत के शेयर बाजार में सेबी की भूमिका एक ऐसे सतर्क प्रहरी की है जो कि निवेशकों के हितों की रक्षा के लिए हर समय तैयार बैठा हैl

भारत में विनिमय दर प्रबंधन: इतिहास और प्रकार

भारत में मुद्रा और वित्त बाजार के साधन

Comment (0)

Post Comment

9 + 3 =
Post
Disclaimer: Comments will be moderated by Jagranjosh editorial team. Comments that are abusive, personal, incendiary or irrelevant will not be published. Please use a genuine email ID and provide your name, to avoid rejection.