Search

आयुष्मान भारत योजना के मुख्य बिंदु

आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत अब तक 12.45 करोड़ e-कार्ड जारी किये जा चुके हैं और 10 लाख लोगों का इलाज किया जा चुका है. आइये इस लेख में इस योजना के बारे में और जानते हैं.
Apr 30, 2020 10:42 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon
PM-JAY or Ayushman yojna
PM-JAY or Ayushman yojna

कब शुरू हुई: 23 सितंबर 2018

कहाँ: रांची,  झारखण्ड

किसने शुरू की: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

मुख्य लक्ष्य: 50 करोड़ लोगों को 5 लाख रुपये का हर वर्ष स्वास्थ्य बीमा

योजना में उन्नति: 12.45 करोड़ e-कार्ड जारी

यह एक बहुत चिंता का विषय है कि भारत की जनसँख्या का लगभग 63% भाग अभी भी स्वास्थ्य और अस्पताल में भर्ती होने वाले खर्च को स्वयं भुगतान करता है.  ऐसा देखा गया है कि लोग किसी गंभीर बीमारी का इलाज कराने के लिए अपनी बचत, अचल संपत्ति, लोगों और रिश्तेदारों से उधार जैसे साधन अपनाते हैं इस कारण लगभग 4.6% लोग गरीबी रेखा के नीचे चले जाते हैं. इस प्रकार की समस्या का समाधान करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 23 सितंबर 2018 को महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत योजना लॉन्च की थी.

ayushman-bharat

भारत निर्माण योजना की क्या विशेषताएं हैं?

1. ग्रामीण इलाके के लिए आयुष्मान भारत योजना की शर्तें; (Eligibility for Ayushman Bharat Scheme)

a. जिसके पास ग्रामीण इलाके में कच्चा मकान हो,

b. परिवार में कोई व्यस्क (16-59 साल) का ना हो,

c. परिवार की मुखिया महिला हो,

d. परिवार में कोई दिव्यांग हो,

e. अनुसूचित जाति/जनजाति समुदाय से हों और

f. लाभार्थी भूमिहीन व्यक्ति/दिहाड़ी मजदूर हो

2. निम्न व्यक्ति आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी हो सकते हैं; (Who can avail Benefits of Ayushman Bharat)

भीख मांगने वाले, कूड़ा बीनने वाले, घरेलू कामकाज करने वाले, रेहड़ी-पटरी दुकानदार, मोची, फेरी वाले, सड़क पर कामकाज करने वाले अन्य व्यक्ति, रिक्शा चालक, सिक्योरिटी गार्ड, कंस्ट्रक्शन साईट पर काम करने वाले मजदूर, टेलर, ड्राईवर, दुकान पर काम करने वाले लोग,  प्लंबर, स्वीपर, सफाई कर्मी, घरेलू काम करने वाले, हेंडीक्राफ्ट का काम करने वाले लोग(बढई)राजमिस्त्री, मजदूर, पेंटर, वेल्डर, कुली और भार ढोने वाले अन्य कामकाजी व्यक्ति, आदि.

3. आयुष्मान भारत योजना को स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के द्वारा चलाया जा रहा है.

4. इस योजना में स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र और राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना को शामिल किया गया गया है.

6. आयुष्मान भारत योजना से करीब 50 करोड़ भारतीय लाभान्वित होंगे. योजना का लाभ मिलेगा 29 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के 445 जिले के लोगों को  मिलेगा.

7. आयुष्मान भारत योजना के तहत प्रत्येक परिवार को हर वर्ष इलाज के लिए 5 लाख रुपए तक का बीमा कवर मिलेगा.

8. आयुष्मान भारत योजना लगभग सभी माध्यमिक देखभाल और तृतीयक देखभाल प्रक्रियाओं के लिए चिकित्सा और अस्पताल में भर्ती पर होने वाले खर्चों को उठाएगा.

9. इस योजना में लगभग 1350 बीमारियों का इलाज किया जायेगा. इसमें सर्जरी, चिकित्सा और देखभाल उपचारों सहित दवाओं, निदान और परिवहन में आने वाली लागत का खर्च सरकार के द्वारा वहन किया जायेगा.

10. आयुष्मान भारत योजना की मदद से सरकार यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज (UHC) और सतत विकास लक्ष्य-3 (SDG3) के लक्ष्यों को पूरा करना चाहती है.

11. इस योजना में हर किसी के शामिल करने का प्रयास किया गया है (विशेषकर बालिका, महिलाएं, बच्चे और बुजुर्ग) अर्थात इस योजना का लाभ हर आकार के परिवार और हर उम्र के व्यक्ति को दिया जायेगा.

12. योजना में रजिस्टर्ड किसी भी प्राइवेट या सरकारी अस्पताल में इलाज हो सकेगा साथ ही यह योजना पेपर रहित और कैश रहित भी होगी.

13. प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PM-JAY) का नाम ही आयुष्मान भारत योजना है क्योंकि इस योजना के अनुसार लोगों का उपचार कराकर उनकी आयु को दीर्घकालीन बनाना है. इस योजना को "PM जय योजना" ,मोदीकेयर और राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना जैसे नामों से भी जाना जाता है.

सारांश के तौर यह कहा जा सकता है कि आयुष्मान भारत योजना भारत सरकार के द्वारा शुरू की गयी वह योजना है जो कि गरीब परिवार के व्यक्ति को इस बात का भरोसा देती है कि यदि कोई व्यक्ति किसी बड़ी बीमारी से ग्रसित है तो उसे अपना इलाज कराने के लिए अपना घर मकान या कोई और अचल संपत्ति बेचने की जरूरत नहीं है.

मेक इन इंडिया प्रोजेक्ट से भारत को क्या फायदे होंगे?

प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गयी कल्याणकारी योजनायें