जानिए कोविड-19 टीकाकरण (COVID-19 Vaccination) से पहले और बाद में क्या करें और क्या न करें?

COVID-19 महामारी से निपटने में टीकाकरण बेहद महत्वपूर्ण है। इसी कड़ी में भारत सरकार ने देशभर में चल रहे टीकाकरण अभियान से जुड़े कुछ दिशानिर्देश जारी किए हैं। आइए इस लेख में जानते हैं कोविड-19 टीकाकरण से जुड़े प्रावधानों के बारे में।
Created On: May 25, 2021 16:28 IST
Modified On: May 25, 2021 17:09 IST
 Do's and Dont's during COVID-19 vaccination in India
Do's and Dont's during COVID-19 vaccination in India

COVID-19 महामारी से निपटने में टीकाकरण बेहद महत्वपूर्ण है। भारत इस वक्त अपने टीकाकरण अभियान के तीसरे चरण में है। इस चरण में 18 से 44 वर्ष की आयु के लोग भी टीका लगवा सकते हैं। इसी कड़ी में भारत सरकार ने देशभर में चल रहे टीकाकरण अभियान से जुड़े कुछ दिशानिर्देश जारी किए हैं। आइए इस लेख में जानते हैं कोविड-19 टीकाकरण से जुड़े प्रावधानों के बारे में। 

कोविड -19 टीकाकरण के दौरान प्रावधान

क्या करें

1- को-विन (Co-WIN), आरोग्य सेतु (Arogya Setu) या उमंग (UAMNG) प्लेटफॉर्म के माध्यम से ऑनलाइन पंजीकरण करें।

2- एक व्यक्ति केवल एक फोन नंबर और आईडी प्रूफ का इस्तेमाल कर पंजीकरण करें।

3- कोरोना टीकाकरण के लिए जाते समय आईडी प्रूफ साथ रखें।

4- निकटतम टीकाकरण केंद्र ऑनलाइन खोजें और टीकाकरण के लिए सुविधाजनक केंद्र का चयन करें।

5- टीकाकरण के पंजीकरण के भाग के रूप में स्वास्थ्य पहचान पत्र (Health ID) प्राप्त करने के लिए अपनी सहमति दें।

6- निर्धारित तिथि एवं समय पर ही टीकाकरण केंद्र पर पहुंचें।

7- टीकाकरण के बाद टीकाकरण केंद्र पर 30 मिनट तक प्रतीक्षा करें। यदि इन 30 मिनट में कोई भी दुष्प्रभाव अनुभव हो तो अंदर बैठी टीम को तुरंत सूचित करें।

8- टीकाकरण केंद्र छोड़ने के बाद किसी भी तरह के दुष्प्रभाव अनुभव होने पर हेल्पलाइन नंबर को सूचित करें: +91 11 23978046 (टोल-फ्री- 1075)।

9- सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनने जैसी सावधानियां जारी रखें।

Medical Oxygen: क्या है मेडिकल ऑक्सीजन, कैसे बनती है और कोविड-19 महामारी के दौर में इसकी किल्लत क्यों हो रही है?

क्या न करें

1- बिना अपॉइंटमेंट के टीकाकरण केंद्र पर न जाएं।

2- एक व्यक्ति एक से अधिक प्लेटफार्म पर पंजीकरण न करें।

3- पंजीकरण करने हेतु एक व्यक्ति एक से अधिक फोन नंबर और आईडी प्रूफ का उपयोग न करे।

4- टीकाकरण के दिन शराब या अन्य नशीले पदार्थों का सेवन न करें।

5- वैक्सीन से किसी तरह का दुष्प्रभाव अनुभव होने पर घबराएं नहीं।

6- वैक्सीन की दूसरी खुराक के लिए फिर से पंजीकरण न करें।

किन लोगों को कोरोना टीकाकरण टाल देना चाहिए?

1- जो लोग हाल ही में कोरोनावायरस के संक्रमण से उबरे हों, जिनका इलाज प्लाज्मा थेरेपी से हुआ हो, या फिर वे लोग जो वैक्सीन की पहली खुराक के बाद संक्रमित हो गए हों, ऐसे लोगों को अपना टीकाकरण कराने के लिए तीन महीने का इंतजार करना चाहिए। 

2- जो लोग किसी अन्य बीमारी की वजह से अस्पताल में भर्ती हुए हों, उन्हें ठीक होने के चार से आठ सप्ताह के बाद ही वैक्सीन लगवानी चाहिए। 

कोविशील्ड की दूसरी खुराक के लिए नए नियम

कोविशील्ड की दूसरी खुराक के लिए भी भारत सरकार ने नियम बदल दिए हैं। अब दूसरी खुराक पहली खुराक के 12 से 16 सप्ताह के बाद ली जा सकती है। हालांकि, जिन लोगों ने पहले ही अपॉइंटमेंट बुक करा लिया था, वे चाहें तो निर्धारित तिथि पर अपनी दूसरी खुराक ले सकते हैं या फिर 84 दिनों के अंतराल की नई गाइडलाइन को पूरा करने के लिए दूसरा अपॉइंटमेंट बुक करा सकते हैं।

एन 95 मास्क, फेस शील्ड, सर्जिकल या कपड़े का मास्क: कोरोनावयरस महामारी से बचने के लिए कौन-सा मास्क ज़्यादा प्रभावी है?

Comment ()

Post Comment

2 + 7 =
Post

Comments