Search

भारत में सरकारी अधिकारियों का वेतन

भारत के राष्ट्रपति देश के पहले नागरिक हैं, इसीलिए उन्हें देश में सबसे ज्यादा वेतन मिलता है। भारत के राष्ट्रपति को मूल वेतन के रूप में Rs. 500,000 और अन्य भत्ते मिलते हैं. भारत के उपराष्ट्रपति को देश में राष्ट्रपति के बाद सबसे अधिक वेतन (रु. 4 लाख) मिलता है. आइये इस लेख में जानते हैं कि देश में किस बड़े पदाधिकारी को कितना वेतन मिलता है.
Sep 20, 2019 18:29 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon
National Emblem of India
National Emblem of India

भारत का संविधान देश के विभिन्न कार्यालयों को चलाने के लिए कुछ महत्वपूर्ण पदों पर नियुक्ति करता है. विभिन्न कार्यों के लिए जिम्मेदार अधिकारियों को उनके काम के लिए भुगतान किया जाता है.
इस लेख में हमने भारत के राष्ट्रपति के वेतन, सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के वेतन और एक राज्य के राज्यपाल के वेतन आदि का उल्लेख किया है.

वरीयता क्रम

पद

मूल वेतन + अन्य भत्ते

1

 राष्ट्रपति

रु. 500,000 (US $ 7,200) + भारत के राष्ट्रपति के लिए निर्धारित अन्य भत्ते 

2

उप राष्ट्रपति

 रुपये400,000  (US$5,800) + भारत के उपराष्ट्रपति को अन्य भत्ते निर्धारित

3

प्रधानमन्त्री

रुपये 160,000 (यूएस $ 2,300) (संसद सदस्य के रूप में प्राप्त वेतन) + संसद सदस्य के रूप में भत्ते + भारत के प्रधानमंत्री के लिए अन्य भत्ते

4

राज्य के राज्यपाल

रु. 3,50,000 + राज्यों के राज्यपालों के लिए निर्धारित अन्य भत्ते

6

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश

रुपये 280,000 + भारत के मुख्य न्यायाधीश के लिए निर्धारित अन्य भत्ते

9

सुप्रीम कोर्ट के अन्य न्यायाधीश

रुपये.250,000 + SC के जजों के लिए तय अन्य भत्ते

9A

भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त

रुपये 250,000 + अन्य भत्ते 

9A

भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक

रुपये 250,000 + अन्य भत्ते 

9A

संघ लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष

रुपये 250,000 + अन्य भत्ते 

11

भारत के कैबिनेट सचिव, भारत सरकार में वरिष्ठतम सिविल सेवक

रुपये 250,000 + अन्य भत्ते 

11

केंद्र शासित प्रदेशों के उपराज्यपाल

रुपये 110,000 + केंद्र सरकार द्वारा तय अन्य भत्ते

12

चीफ ऑफ स्टाफ (आर्मी, नेवी, एयर) भारतीय सशस्त्र बलों में जनरल और समकक्ष रैंक के अधिकारी 

रुपये. 250,000 + अन्य भत्ते

14

उच्च न्यायालयों के मुख्य न्यायाधीश

न्यायाधीशों के लिए निर्धारित रु. 250,000 + अन्य भत्ते .

16

उच्च न्यायालयों के न्यायाधीश

रु. 225,000 + न्यायाधीशों के लिए तय अन्य भत्ते

21

भारत की संसद के सदस्य 

निर्वाचन क्षेत्र के लिए भत्ते रु. 45,000 + संसद कार्यालय भत्ता रु. 45,000 + संसद सत्र भत्ता रु. 2,00,000 / दिन

23

लेफ्टिनेंट जनरल के रैंक में वाइस चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ / कमांडर्स और भारतीय सशस्त्र बलों में समकक्ष रैंक

Rs. 225,000 + अन्य भत्ते 

23

 राज्य सरकारों के मुख्य सचिव, राज्य सरकारों के अतिरिक्त मुख्य / विशेष सचिव, राज्य सरकारों में वरिष्ठ आई.ए.एस.

Rs. 225,000 + अन्य भत्ते 

25

भारत सरकार के अतिरिक्त सचिव

Rs.182,200 (न्यूनतम वेतन) से रु. 224,100 (अधिकतम वेतन) + अन्य भत्ते

25

राज्य सरकारों के प्रधान सचिव

रुपये 144,200 (न्यूनतम वेतन) से रु. 224,100 (अधिकतम वेतन) + अन्य भत्ते

26

 भारत सरकार के संयुक्त सचिव, मेजर जनरल और भारतीय सशस्त्र बलों में समकक्ष रैंक

रुपये 144,200 (न्यूनतम वेतन) से रु. 218,200 (अधिकतम वेतन) + अन्य भत्ते

26

राज्य सरकारों के सचिव

रुपये 144,200 (न्यूनतम वेतन) से रु. 218,200 (अधिकतम वेतन) + अन्य भत्ते

भारत में होने वाली विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए भारतीय अधिकारियों की उपरोक्त सूची बहुत महत्वपूर्ण है. इसलिए छात्रों को इसे अत्यधिक ध्यान से याद करने की आवश्यकता है.

भारत में राज्यों के मुख्यमंत्रियों को कितनी सैलरी मिलती है?

जानें भारतीय राष्ट्रपति को सैलरी के साथ क्या सुविधाएँ मिलती हैं?