Search

US Presidential Election 2020: जानिए अंतरिक्ष यात्री स्पेस से अपना वोट कैसे डालते हैं?

3 नवंबर 2020 को अमेरिका में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव में अंतरिक्ष यात्री केट रूबिंस अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर अंतरिक्ष से वोट डालेंगी। इस लेख से आप इस प्रक्रिया से जुड़े कानून और मतदान प्रक्रिया के बारे में जान पाएंगे।
Sep 28, 2020 13:13 IST
facebook Iconfacebook Iconfacebook Icon
Kate Rubins
Kate Rubins

कोविड-19 महामारी के बीच अमेरिका में 3 नवंबर 2020 को राष्ट्रपति चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में बाकी लोगों की तरह अंतरिक्ष यात्री केट रूबिंस भी अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगी। इसमें दिलचस्प बात यह है कि केट अपना वोट पृथ्वी से नहीं बल्कि अंतरिक्ष से डालेंगी। अब आपके मन में कई सवाल उठ रहे होंगे कि कोई अंतरिक्ष से कैसे वोट डाल सकता है और क्या सरकार इसकी अनुमति देती है? ऐसे ही कई सवालों के जवाब हम आपको इस लेख के माध्यम से देने की कोशिश करेंगे। 

एसोसिएटेड प्रेस के अनुसार, नासा की अंतरिक्ष यात्री केट रूबिंस अंतरिक्ष से वोट देंगी क्योंकि चुनाव के दिन वह अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (आईएसएस) में सवार होंगी। इस मिशन की अगले 6 महीने तक चलने की संभावना है। ऐसे में अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री एक विशेष अनुपस्थित मतदान प्रणाली के माध्यम से अपना वोट डाल सकते हैं। 

रूबिंस के अनुसार, वह पृथ्वी से करीब 200 मील दूर अंतरिक्ष से अपना वोट डालने की कोशिश करेंगी। उनका मानना है कि वोट देना हर किसी के लिए बेहद ज़रूरी है। आपको बता दें कि आईएसएस 200 मील दूर स्थित है और एक घंटे में 17,000 मील की दूरी पर पृथ्वी की परिक्रमा करता है। 

क्या सरकार अंतरिक्ष से वोट देने की अनुमति देती है?

साल 1997 में टेक्सास के विधायकों द्वारा एक विधेयक पारित किया गया और अंतरिक्ष यात्रियों के लिए तकनीकी मतदान प्रक्रिया की स्थापना की गई। ये प्रक्रिया टेक्सास के सभी निवासियों के लिए है। 

अंतरिक्ष से सबसे पहली बार कब वोट डाला गया?

इस विधेयक का इस्तेमाल सबसे पहले साल 1997 में नासा के अंतरिक्ष यात्री डेविड वुल्फ ने किया था। डेविड चुनाव वाले दिन रूसी अंतरिक्ष स्टेशन मीर पर सवार थे। 

साल 2016 के राष्ट्रपति चुनावों में अंतरिक्ष यात्री एडवर्ड माइकल फिनके और ग्रेग चैमिटॉफ ने भी सुरक्षित गुप्त मतदान का उपयोग करके अपना वोट डाला था। चुनाव वाले दिन दोनों यात्री आईएसएस पर सवार थे।  

कैसे काम करता है ये तंत्र?

एक व्यक्ति जो शुरुआती मतदान की अवधि के दौरान या चुनाव के दिन अंतरिक्ष उड़ान पर है, इस पद्धति से मतदान कर सकता है बशर्ते कि वे फेडरल पोस्टकार्ड एप्लीकेशन (एफपीसीए) द्वारा आवेदन करे। नियम के अनुसार,  नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (नासा) राज्य सचिव को लिखित रूप में अंतरिक्ष उड़ान पर गए व्यक्तियों के लिए एक गुप्त मतदान को प्रसारित और प्राप्त करने की विधि निर्वाचन अवधि के दौरान प्रस्तुत करता है।

नासा द्वारा प्रकाशित एक ब्लॉग पोस्ट के अनुसार, मतदान की प्रक्रिया शुरू होने से एक साल पहले अंतरिक्ष यात्रियों को उन चुनावों (स्थानीय / राज्य / संघीय) का चयन करना होता है जिसमें वे अंतरिक्ष में रहते हुए भाग लेना चाहते हैं। इसके बाद चुनावों से छह महीने पहले अंतरिक्ष यात्रियों को एक प्रपत्र प्रदान किया जाता है। इसे "मतदाता पंजीकरण और अनुपस्थित मतदान अनुरोध - संघीय पोस्ट कार्ड एप्लीकेशन" कहा जाता है।

चुनाव से एक दिन पहले एक एन्क्रिप्टेड इलेक्ट्रॉनिक बैलट अंतरिक्ष यात्रियों को दिया जाता है। इसके साथ ई-मेल द्वारा सभी को विशिष्ट क्रेडेंशियल्स भेजे जाते हैं, जिसका उन्हें उपयोग करना होता है। इस तरह अंतरिक्ष से यात्री अपना वोट डालते हैं और उसे वापस काउंटी क्लर्क के कार्यालय में पृथ्वी पर भेज देते हैं।

Related Categories