जानें ऑस्ट्रेलिया ने अपने राष्ट्र गान में बदलाव क्यों किया?

हाल ही में ऑस्ट्रेलियाई सरकार ने अपने राष्ट्र गान “Advance Australia Fair” में कुछ बदलावों की घोषणा की है. आइये इसके बारे में विस्तार से अध्ययन करते हैं.
Created On: Jan 5, 2021 13:41 IST
Modified On: Jan 5, 2021 13:50 IST
Australia changes its National Anthem
Australia changes its National Anthem

नए साल की पूर्व संध्या पर प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन (Scott Morrison) ने घोषणा की कि राष्ट्र गान की दूसरी पंक्ति, एडवांस ऑस्ट्रेलिया फेयर (Advance Australia Fair) को "हम युवा हैं और स्वतंत्र हैं" (“For we are young and free”) से "हम एक हैं और स्वतंत्र हैं" (“For we are one and free”) में बदल दिया गया है. परिवर्तन 1 जनवरी को प्रभावी हुआ. आइये जानते हैं कि आखिर ऐसा क्यों किया गया है? क्या कारण है इसके पीछे?

स्कॉट मॉरिसन ने कहा, "यह सुनिश्चित करने का समय है कि यह महान एकता हमारे राष्ट्रगान में पूरी तरह से परिलक्षित होती है," उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया पृथ्वी पर "सबसे सफल बहुसांस्कृतिक राष्ट्र" था. "जबकि एक आधुनिक राष्ट्र के रूप में ऑस्ट्रेलिया अपेक्षाकृत युवा राष्ट्र हो सकता है, हमारे देश की कहानी प्राचीन है, जैसा कि कई प्रथम राष्ट्रों के लोगों की कहानियाँ हैं जिनके परिचारक का पद (stewardship) को हम सही रूप में स्वीकार करते हैं और सम्मान करते हैं".
यह कदम ऑस्ट्रेलिया के सबसे अधिक आबादी वाले राज्य, न्यू साउथ वेल्स के नेता, ग्लेडिस बेरेजिकेलियन (Gladys Berejiklian) के हफ्तों बाद आया, जिन्होंने देश से अपने राष्ट्र गान 'Advance Australia Fair’, विशेष रूप से “For we are young and free” लाइन को बदलने के लिए आग्रह किया था, और कहा था कि सदियों पुराने स्वदेशी इतिहास को अब खारिज कर दिया जाए.

किन देशों में भारतीय करेंसी मान्य है और क्यों?

आखिर ऑस्ट्रेलिया के राष्ट्र गान में क्या समस्या थी? क्यों बदलाव किया गया है? आइये जानते हैं. 

1878 में 'Advance Australia Fair’ पहली बार प्रदर्शन (Performed) किया गया था और 1984 में राष्ट्र गान के रूप में अपनाया गया था. आलोचकों का कहना है कि दूसरी पंक्ति में शब्द "For we are young and free”, शब्द आते हैं  और यह ऑस्ट्रेलिया के 50,000 वर्षों से ज्यादा के इतिहास को नष्ट कर देते हैं. 

आलोचकों के अनुसार राष्ट्रगान में "युवा" शब्द का अर्थ है ऑस्ट्रेलिया का इतिहास केवल उपनिवेशवाद से शुरू हुआ था. साथ ही यह माना जाता है कि यह राष्ट्रगान ब्रिटिश उपनिवेशवाद का जश्न मनाता है.

ऑस्ट्रेलिया दिवस कब मनाया जाता है?

ऑस्ट्रेलिया दिवस 26 जनवरी को मनाया जाता है. यह तारीख को इस रूप में चिह्नित किया जाता है जब  “First Fleet” 1788 में सिडनी हार्बर में आई थी, जिसमें ज्यादातर अपराधी और ब्रिटेन के सैनिक थे. लेकिन देश में कई स्वदेशी लोग ऑस्ट्रेलिया दिवस को "आक्रमण दिवस" (“Invasion Day”) कहते हैं.

बदलाव के बाद अब ऑस्ट्रेलिया के राष्ट्र गान को कैसे पढ़ा जाएगा?

1 जनवरी से प्रभावी होने वाला परिवर्तन 1984 के बाद से ‘Advance Australia Fair’ के लिए पहला संशोधन है. अब ऑस्ट्रेलिया के राष्ट्र गान को पढ़ा जाएगा:“Australians all let us rejoice/ For we are one and free”.

ऑस्ट्रेलिया के राष्ट्र गान में बदलाव को लेकर विभिन्न प्रकार की प्रतिक्रियां 

संघीय संसद के निचले सदन के लिए चुने गए पहले स्वदेशी ऑस्ट्रेलियाई श्री व्याट (Mr. Wyatt) के अनुसार, एक-शब्द परिवर्तन "प्रकृति में छोटा लेकिन उद्देश्य में महत्वपूर्ण था." "यह एक मान्यता है कि आदिवासी और टोरेस स्ट्रेट आइलैंडर संस्कृतियां (Torres Strait Islander cultures) लगभग 65,000 साल पहले की हैं," उन्होंने कहा.

हालांकि कुछ स्वदेशी आस्ट्रेलियाई, विशेष रूप से राजनीतिक नेताओं ने इस बदलाव का स्वागत किया है, परन्तु ऐसे कुछ लोग भी हैं जिन्होंने आलोचना भी की है कि अनिवार्य रूप से एक प्रतीकात्मक कदम क्या है.

मूलवासी और 'IndigenousX' नाम की वेबसाइट के संपादक ल्यूक पियरसन (Luke Pearson) ने कहा कि यह प्रतीकात्मक कदम असहमति की आवाजों को चुप कराने के लिए उठाया गया है. इसमें असहमति के मूल स्वरूप की नासमझी दिखती है. उन्होंने कहा कि सत्ताधारी पार्टी हर साल (ब्रिटिश) आक्रमण दिवस पर उत्सव का आयोजन करती है. उसकी तरफ से लाया गया बदलाव निरर्थक है.

कुछ कंजरवेटिव नेताओं की तरफ से इस बदलाव का भी विरोध किया गया है. पूर्व मंत्री और सीनेटर मैथ्यू कानावान ने अपने ट्विटर हैंडल पर कहा कि ऑस्ट्रेलिया एक युवा देश है. यह कुछ पुरानी संस्कृतियों के बोझ से दबा हुआ नहीं है. उन्होंने कहा कि विदेशों से लोग यहां इसीलिए आना चाहते हैं, क्योंकि वे यहां नई और युवा शुरुआत करना चाहते हैं.

राष्ट्रगान के आलोचकों ने कहा है कि यह केवल एक ही पंक्ति नहीं है जो समस्याग्रस्त है, बल्कि अधिकांश ही है. 2019 में, ऑस्ट्रेलियाई समाचार Satire Series 'The Weekly with Charlie Pickering’, पर एक सेगमेंट में, स्वदेशी रैपर ब्रिग्स (Briggs) ने राष्ट्र गान की प्रत्येक पंक्ति को यह दिखाने के लिए तोड़ दिया था कि यह केवल एक या दो वाक्यांशों या वाक्यों को बदले जाने की ज़रूरत नहीं है.

ऑस्ट्रेलिया के डेली टेलीग्राफ के साथ एक इंटरव्यू में, ब्रिग्स ने "Wealth" शब्द को शामिल करने की भी आलोचना की थी. उन्होंने कहा कि "हम धन का ज्यादा हिस्सा नहीं देख पाते हैं. ब्रिग्स ने समाचार प्रकाशन से कहा, "हम में से 10 में से केवल एक ही आर्थिक रूप से सुरक्षित है."

यानी ऐसा कहना गलत नहीं होगा कि देशभर में बदलाव की प्रतिक्रियाएं मिली-जुली हैं. 

अंत में आपको बता दें कि घोषणा के बाद, मॉरिसन ने कहा था कि "यह सभी ऑस्ट्रेलियाई लोगों के लिए एक बदलाव है, और मुझे पहले से ही देश भर में ऑस्ट्रेलियाई लोगों की मजबूत प्रतिक्रिया ने प्रोत्साहित किया है चाहे स्वदेशी, गैर-स्वदेशी, सभी अलग-अलग पृष्ठभूमि के लोग,या सभी अलग-अलग लोगों का राजनीतिक दृष्टिकोण.

साथ ही आपको बता दें कि 'Advance Australia Fair' पीटर डोड्स मैककॉर्मिक (Peter Dodds McCormick) द्वारा रचा गया था और 1878 में पहली बार प्रदर्शन किया गया था. इसे 1984 में राष्ट्रगान के रूप में अपनाया गया था. ऐसा कहा जा रहा है कि ऑस्ट्रेलिया ने अपने स्वदेशी इतिहास का सम्मान करने के लिए राष्ट्रीय गान में बदलाव किए हैं. ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन (Scott Morrison) ने देश के राष्ट्रगान के शब्दांकन में बदलाव की घोषणा की. ऐसा अपने स्वदेशी इतिहास को पहचानने की कोशिश में किया गया है.

Source: Indian Express, The Hindu

भारत और पाकिस्तान के बीच 'बासमती चावल' को लेकर क्या विवाद है?

FAQ

ऑस्ट्रेलिया दिवस क्या है?

ऑस्ट्रेलिया दिवस (26 जनवरी) की तारीख चिह्नित करती है, जब 1788 में “फर्स्ट फ्लीट” सिडनी में आई थी. इसमें ब्रिटेन से सेना आई थी.

ऑस्ट्रेलिया का राष्ट्र गान आधिकारिक कब बना था?

ऑस्ट्रेलियाई राष्ट्रगान “Advance Australia Fair” 1984 में आधिकारिक राष्ट्र गान बना था.

ऑस्ट्रेलियाई राष्ट्रगान की रचना किसने की थी?

ऑस्ट्रेलिया का राष्ट्र गान पीटर डोड्स मैकॉर्मिक (Peter Dodds McCormick) द्वारा रचा गया था और पहली बार 1878 में परफॉर्म किया गया था.