Search
  1. Home
  2. Careers

केमिकल इंजीनियरिंग में करियर

केमिकल इंजीनियरिंग एक ऐसी फील्ड है जो रॉ मेटीरियल्स को उपयोगी प्रोडक्ट्स में बदलने के लिए केमिकल प्रोसेसेज का विकास करने के साथ ही केमिकल प्लांट्स की डिजाइनिंग और मेंटेनेंस के कार्य करती है.

इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग में करियर

बैचलर ऑफ़ टेक्नोलॉजी या इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग में बीटेक एक 4 वर्ष का अंडरग्रेजुएट लेवल कोर्स है. जैसेकि इसके नाम से पता चलता है, इस कोर्स में इंजीनियरिंग की दो बेसिक फ़ील्ड्स –

इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग में करियर

इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग (ईईई) की फील्ड इलेक्ट्रिसिटी, इलेक्ट्रॉनिक्स और इलेक्ट्रोमैग्नेटिज्म के एप्लीकेशन्स से संबद्ध है. इसके कोर्सवर्क में छात्रों को इलेक्ट्रिकल इक्विपमेंट्स को डिज़ाइन करने, विकसित करने और टेस्ट करने के लिये प्रैक्टिकल ट्रेनिंग देना शामिल है.

कक्षा10वीं के बाद करियर विकल्प

‘दसवीं क्लास की परीक्षा के बाद क्या करें, किस स्ट्रीम का चुनाव करें, क्या मुझे किसी प्रोफेशनल कोर्स का चयन करना चाहिए या फिर ट्रेडिशनल विकल्पों की तरफ ही अपने आप को केन्द्रित करना चाहिए आदि कुछ ऐसे सवाल हैं

जन-संचार में करियर

विश्व ने हाल के वर्षों में संचार तकनीक एवं माध्यमों में अद्भुत व अभूतपूर्व परिवर्तन देखे हैं I आज तकनीक ने भौतिक सीमाओं को तोड़कर संपूर्ण विश्व को एक-सूत्र में पिरो दिया है I

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग में करियर

कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग या सीएसई देश में इंजीनियरिंग कोर्सेज करने के इच्छुक कैंडिडेट्स के बीच एक सबसे लोकप्रिय कोर्स है. इस कोर्स के तहत कंप्यूटर प्रोग्रामिंग और नेटवर्किंग के बेसिक एलिमेंट्स पर फोकस किया जाता है.

शिक्षण में करियर

पेशेवर तौर पर शिक्षण लाभदायक होने के साथ-साथ आनंददायक भी है

जन-संपर्क में करियर

आजकल करियर की दृष्टि से सार्वजनिक संबंध काफी मांग में और लोकप्रिय है.

पोषण एवं आहारिकी (न्यूट्रीशन एंड डायटेटिक्स) में करियर

पोषण और आहार-विज्ञान अब सिर्फ महिलाओं का विशिष्ट क्षेत्र नहीं रहा. रोजगार-परक होने के कारण पुरुष भी इस क्षेत्र से जुड़ रहे हैं.

केपीओ / बीपीओ में करियर

प्रतिभाशाली और महत्वकांक्षी लोगों के लिए उपयुक्त करियर. कॉर्पोरेट जगत में मिले अवसर और आगे बढ़ते जाने का नाम है व्यवसाय प्रबंधन.

बीमा में करियर

अर्थव्यवस्था में सेवा क्षेत्र का बढ़ता महत्व और लोगों का बीमा खरीद के प्रति रुझान, इस क्षेत्र में व्यापक करियर संभावनाओं को दर्शाता है.

इन्फ्रास्ट्रक्चर एवं रियल-एस्टेट में करियर

अवसंरचना की गुणवत्ता एक देश की विकास दर निर्धारित करता है. इसलिए रियल इस्टेट क्षेत्र में अपना योगदान देने वालों के लिए यह क्षेत्र एक तरह का धन कुबेर माना जा सकता है.

होटल मैनेजमेंट में करियर

हॉस्पिटालिटी फील्ड के अंतर्गत विभिन्न वर्टिकल शामिल हैं. किसी भी टूरिस्ट को पूरे वर्ल्ड को घूमने, जानने, देखने, समझने में सहयोग करने में होटल इंडस्ट्री अपनी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. यह इंडस्ट्री प्रोडक्ट और सर्विस दोनों का बिलकुल सही अनुपात में उपयोग लोगों को सुविधा मुहैया कराकर करती है.

रीटेल मैनेजमेंट में करियर

प्रबंधन अध्ययन की नई शाखा है, खुदरा प्रबंधन. भारत जैसे विकासशील बाजार में इसकी संभावनाएं और जरूरत काफी ज्यादा है. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी खुदरा प्रबंधकों को मोटी तनख्वाह दी जाती है.

व्यापार प्रबंधन (एमबीए) में करियर

प्रतिभाशाली और महत्वकांक्षी लोगों के लिए उपयुक्त करियर. कॉर्पोरेट जगत में मिले अवसर और आगे बढ़ते जाने का नाम है व्यवसाय प्रबंधन.

नर्सिंग (परिचर्या) में करियर

इस तरह देखा जाए तो एक बेहतरीन करियर के साथ समाजसेवा की इच्छा रखने वालों के लिए नर्सिंग एक अच्छा विकल्प है. इस क्षेत्र में जॉब के अवसर भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी उपलब्ध हैं. जॉब सिक्यूरिटी के साथ-साथ अच्छी सेलरी इस व्यसाय का आकर्षण है.

बायोटेक्नोलॉजी में करियर

बायोटेक्नोलॉजी को आमतौर पर ‘बायोटेक’ के नाम से जाना जाता है और यह इंजीनियरिंग करने के इच्छुक उम्मीदवारों के बीच सबसे ज्यादा पसंदीदा कोर्सेज में से एक कोर्स है. बायोटेक्नोलॉजी साइंस की वह ब्रांच है जिसमें बायोलॉजी और टेक्नोलॉजी के आश्चर्यजनक मेल से रॉ मेटीरियल्स को आश्चर्यजनक इनोवेशन्स, डिस्कवरीज और प्रोडक्ट्स में बदला जाता है.

पुरातत्त्व विज्ञान में करियर

करियर के तौर पर पुरातत्व विज्ञान धरती के गर्भ में झांकने, बीते कल को बेहतर समझने और अपने पूर्वजों तथा मानवों के विकास को जानने का रोमांच व उत्साह देता है.

इवेंट मैनेजमेंट में करियर

इवेंट मैनेजमेंट में स्पेशलाइजेशन के साथ एमबीए 2 साल का पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम तथा डिग्री है.ऐसे पेशेवर जिनके पास घटनाओं का प्रबंधन करने के लिए आवश्यक कौशल और क्षमताएं हों

हॉस्पिटल मैनेजमेंट और एडमिनिस्ट्रेशन में करियर

हॉस्पिटल्स, क्लिनिक्स, पुनर्वास केंद्र और अन्य मेडिकल एस्टेब्लिश्मेंट्स को बीमार और पीड़ित लोग बड़ी उम्मीद भरी नजरों से देखते हैं. किसी भी अन्य बिजनेस की तरह ही मेडिकल एस्टेब्लिश्मेंट्स संगठित इंस्टीट्यूशन्स होते हैं. ये इंस्टीट्यूशन्स अपने रोज़मर्रा के कामकाज के लिए काफी जटिल प्रोसेसेज फॉलो करते हैं जिसके लिए इन्हें कुशल मैनपावर की हमेशा जरूरत रहती है.

इन्फ्रास्ट्रक्चर और रियल एस्टेट में करियर

इंफ्रास्ट्रक्चर और रियल एस्टेट एक ऐसा क्षेत्र है जिसमें देश के चेहरे को बदलने और किसी व्यक्ति के उत्कृष्ट करियर को बनाने की क्षमता है. हालांकि चुनौतियों से भरा यह क्षेत्र बेहद फायदेमंद है. इस फील्ड में आप अपने लिए बहुत अधिक धन उत्पन्न कर सकते हैं और उसी दौरान आप देश के लिए कुछ करने की संतुष्टि का भाव भी प्राप्त कर सकते हैं.

बिजनेस मैनेजमेंट

बिजनेस मैनेजमेंट स्पेशलाइजेशन का उद्देश्य किसी एंटरप्राइज या बिजनेस को चलाने के लिए आवश्यक मैनेजमेंट स्किल्स के बारे में संपूर्ण जानकारी और दृष्टिकोण उपलब्ध करवाना है. प्लानिंग, ऑर्गनाइजिंग, एग्जीक्यूशन, डायरेक्शन से लेकर इम्प्लीमेंटेशन तक सभी प्रयासों का फोकस स्टूडेंट्स/ कैंडिडेट्स की एनालिटिकल और लॉजिकल थिंकिंग स्किल्स को निखारना है.

इंश्योरेंस में करियर

इंश्योरेंस या बीमा इंश्योरर और इंश्योर्ड व्यक्ति के बीच एक करार या समझौता होता है जिसके तहत इंश्योर्ड व्यक्ति मासिक या वार्षिक आधार पर प्रीमियम के तौर पर एक निश्चित राशि अदा करता है. बदले में इंश्योरर वादा करता है कि किसी मुसीबत के मामले में काफी ज्यादा राशि इंश्योर्ड व्यक्ति को अदा की जायेगी.

मैकेनिकल इंजीनियरिंग में करियर

मैकेनिकल इंजीनियरिंग सबसे पुराने और व्यापक विषयों में से एक इंजीनियरिंग विषय है. यह मशीन्स और टूल्स की डिजाइनिंग, प्रोडक्शन और ऑपरेशन के लिए हीट और मैकेनिकल पॉवर के उत्पादन और इस्तेमाल से संबद्ध है. इस फील्ड में करियर शुरू करने वाले छात्रों के लिये यह बहुत जरुरी है कि उन्हें कोर कन्सेप्ट्स जैसेकि, मैकेनिक्स, कीनेमेटीक्स, थर्मोडायनामिक्स, मेटीरियल साइंस, स्ट्रक्चरल एनालिसिस आदि की अच्छी समझ होनी चाहिए.

रिटेल मैनेजमेंट में करियर

आज की बेहद कठिन व प्रतिस्पर्धी होती व्यवसायिक परिस्थितियों में सुपरमार्केट या हाइपरमार्केट का मैनेजमेंट ही खुदरा प्रबंधन (रिटेल मैनेजमेंट) कहलाता है.  पिछले दशक में इस इंडस्ट्री ने भारत में काफी विकास किया है. नयी मार्केटिंग नीति बनाने से लेकर बिजनेस को विभिन्न क्षेत्रों में फ़ैलाने तक कम्पनियां ग्राहकों को लुभाने के सभी हथकंडे आजमा चुकी हैं.

विज्ञापन में करियर

भारतीय विज्ञापन उद्योग आज प्रगति के उस पथ पर अग्रसर है जहां यह आने वाले कुछ वर्षों में हज़ारों युवाओं को रोज़गार प्रदान करेगा